शुभंकर शर्मा ने आइरिश ओपन गोल्फ़ में हासिल किया कट, गगनजीत भुल्लर हुए बाहर

आइरिश ओपन के दूसरे राउंड में चार-ओवर के स्कोर के साथ भारत के शुभंकर शर्मा 47वें स्थान पर रहे।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारतीय गोल्फर शुभंकर शर्मा (Shubhankar Sharma) ने विपरीत परिस्थितियों का डट कर सामना किया और दूसरे राउंड में तीन बोगी करने के बावजूद आइरिश ओपन के वीकेंड में जगह बनाने में सफल रहे। वहीं उनके हमवतन गगनजीत भुल्लर (Gaganjeet Bhullar) कट हासिल करने से चूक गए।

शनिवार को ठंडे मौसम की वजह से दूसरे दौर की शुरुआत देर से हुई। 52वें स्थान पर काबिज़ शर्मा ने मौसम की खराबी के बावजूद चार बर्डी और तीन बोगी लगाकर शालीनता से अच्छा प्रदर्शन किया।

हालांकि, उत्तरी आयरलैंड के बैलीमेना में गालगोर्मा स्पा एंड गोल्फ रिज़ॉर्ट में पार-फोर आठवें होल पर ट्रिपल बोगी की वजह से भारतीय के लिए दूसरा दिन बहुत अच्छा साबित नहीं हुआ, क्योंकि शुभंकर शर्मा ने पार-70 के कोर्स को दो-ओवर के स्कोर के साथ समाप्त किया।

पहले राउंड में तेज़ हवाओं के दौरान खेलते हुए शुभंकर शर्मा ने फ्रंट नाइन के खेल में अच्छी तरह से अपनी पकड़ को बनाए रखते हुए तीन बर्डी और दो बोगी के साथ एक-अंडर का प्रदर्शन किया।

हालांकि, बैक नाइन का खेल दो बार के यूरोपीय टूर विजेता के लिए थोड़ा मुश्किल साबित हुआ, क्योंकि उन्होंने चार होल में अपने शॉट लगाते हुए दो-ओवर 72 के स्कोर के साथ अपने शुरुआती दिन को समाप्त किया।

लेकिन बाकी कोर्स में उन्हें खराब स्थितियों का भी सामना करना पड़ा। हालांकि शुभंकर शर्मा कुल चार-ओवर 144 के स्कोर के साथ 47 वें स्थान पर रहते हुए कट हासिल करने में कामयाब रहे, जिसे पांच-ओवर के स्कोर पर निश्चित किया गया था।

गगनजीत भुल्लर ने वापसी के लिए किया संघर्ष

भारतीय गोल्फर शर्मा के हमवतन साथी गगनजीत भुल्लर आइरिश ओपन के वीकेंड राउंड में जगह नहीं बना सके, क्योंकि वह महज़ 13-ओवर 153 का स्कोर ही हासिल कर सके।

 मार्च के बाद से आइरिश ओपन भारतीय गोल्फर गगनजीत भुल्लर का पहला टूर्नामेंट था।

गगनजीत भुल्लर छह महीने में अपने पहले टूर्नामेंट में खेल रहे थे, वह काफी उतावले थे और शुरुआती दिन को उन्होंने पांच-ओवर के स्कोर के साथ समाप्त किया। पहले राउंड में उन्होंने दो डबल बोगी, दो बोगी और सिर्फ एक बर्डी लगाया था।

इसी वजह से दूसरे दौर में 32 वर्षीय भुल्लर के लिए आगे का सफर मुश्किल हो गया और वह छह बोगी के साथ सिर्फ एक ही बर्डी लगा सके और नौवें होल पर एक ट्रिपल बोगी की वजह से उन्होंने आठ-ओवर के स्कोर के साथ इस राउंड को समाप्त किया।

एशियाई दौरे पर नौ बार के विजेता और एक बार के यूरोपीय टूर विजेता गगनजीत भुल्लर ने कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से लागू हुए लॉकडाउन से पहले आखिरी बार मार्च में मलेशिया ओपन में खेला था।

ब्रिटिश गोल्फर आरोन राय, जो भारतीय मूल के हैं, वह आइरिश ओपन के तीसरे राउंड में पहुंचने से पहले पांच-अंडर के स्कोर के साथ लीडरबोर्ड पर शीर्ष पर बने हैं।