शुभंकर शर्मा ने घर पर प्रैक्टिस के लिए बनाए अपने ख़ास लक्ष्य

23 वर्षीय इस गोल्फ़र का मानना कि यह लॉकडाउन उनके लिए फ़ायदेमंद साबित हुआ है, क्योंकि इसने उन्हें अपने खेल को बेहतर करने में मदद की है।

भारतीय गोल्फर शुभंकर शर्मा (Shubhankar Sharma) के लिए सभी खेलों के स्थगन का फैसला बिल्कुल सही समय पर आया। ऐसा इसलिए, क्योंकि 23 साल के इस गोल्फर के लिए गोल्फ कोर्स पर शुरुआत बहुत अच्छी नहीं रही।

वह जनवरी में हुई अबू धाबी HSBC गोल्फ चैंपियनशिप में 59वें स्थान पर रहे और बाद में होने वाली चार प्रतियोगिताओं में अपनी जगह नहीं बना सके।

शुभंकर शर्मा ने इसके बाद कतर में होने वाली कॉमर्शियल बैंक क़तर मास्टर्स में हिस्सा लिया और उसके बाद मैजिकल केन्या ओपन के लिए केन्या जाने की योजना बनाई थी।

हालांकि, जब वह क़तर में थे तो उसी दौरान उन्हें बताया गया कि केन्या में होने वाला टूर्नामेंट महामारी की वजह से स्थगित कर दिया गया है, जिसके बाद वह वापस चंडीगढ़ लौट आए।

वह तब से वहीं हैं और ड्राइंग बोर्ड पर प्रैक्टिस कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, "कोराना वायरस (COVID-19) का यह संकट वास्तव में मेरे लिए ‘बुराई में अच्छाई’ जैसा रहा। क्योंकि इससे मुझे अपने खेल और मानसिक स्थिति को फिर से बेहतर करने का मौका मिला। यह सबसे लंबा समय है जब मैं खेल से दूर रहा हूं।’’

उन्होंने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) से बात करते हुए कहा, “मैंने अपने खेल के सभी पहलुओं में सुधार करने के लिए इस समय का पूरा लाभ उठाया है।"

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए देशभर में लागू किए गए लॉकडाउन ने जहां सभी एथलीटों को उनके घर तक ही सीमित करने का काम किया है, वहीं शुभंकर शर्मा ने इस दौरान अपने खेल में सुधार किया है।

2018 के एशियन टूर ऑर्डर ऑफ मेरिट के चैंपियन ने कहा, "मैंने अपनी चिपिंग का अभ्यास किया, जिसके लिए मैंने मैदान में एक छोटा सा छेद बनाया और जितना संभव हो सका उतना चिप्स को मारने की कोशिश की। यह मेरे लिए दिलचस्प था, इसे मैंने बहुत लंबे समय से नहीं किया था। यह मैं बचपन में किया करता था। इसलिए उन पलों को दोबारा जीना काफी मज़ेदार रहा।”

टूर्नामेंट के लिए वापसी की तैयारी

भारत सरकार के द्वारा लॉकडाउन के नियमों में छूट दिए जाने के साथ ही गोल्फ कोर्स के फिर से खोले जाने पर उनकी साथी गोल्फर आदिल बेदी, करनदीप कोचर और अजितेश संधू के साथ उन्होंने चंडीगढ़ गोल्फ कोर्स पर फिर से वापसी की है।

झांसी से ताल्लुक रखने वाले इस गोल्फर ने कहा, “गोल्फ कोर्स पर फिर से वापसी काफी मज़ेदार रहा। हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ा कि हमने कितना स्कोर किया, हम बस पूरी तरह से इस वापसी के मज़े लेना चाहते थे।”

"फिर यह धीरे-धीरे प्रतिस्पर्धी होने लगा। जो कि अच्छा है, क्योंकि हम सभी को फिर से प्रतियोगिताओं वाले दौर में वापस लौटने की जरूरत है।"

टेक्सास में चार्ल्स श्वाब चैलेंज के साथ अगले सप्ताह फिर से शुरू होने वाले PGA टूर के साथ शुभंकर शर्मा ने अनुमान लगाया कि गोल्फ खेलने की सामान्य स्थिति में वापसी करने में बहुत समय नहीं लगेगा और इसलिए सभी अपनी फॉर्म को बेहतर करने पर काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “मैं एशियन टूर पर वापसी और प्रतिस्पर्धा करना चाह रहा हूं, क्योंकि यह एक बेहतरीन टूर है और मेरे करियर में मुझे इससे बहुत सफलता मिली है। मुझे पता है कि प्रोफेशनल टूर्नामेंट में अपना पहला टी शॉट मारने से पहले मैं पूरी तरह से तैयार हो जाऊंगा।”

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!