लेडीज़ ओपन डि फ़्रांस गोल्फ़ में दूसरे स्थान पर पहुंची त्वेसा मलिक

भारतीय गोल्फर ने बोर्डिऑक्स में दूसरे राउंड की समाप्ति के साथ ही शानदार चार-अंडर 138 का स्कोर हासिल किया और वह लीडरबोर्ड पर शीर्ष पर काबिज़ गोल्फर से चार स्ट्रोक पीछे रहीं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारतीय गोल्फर त्वेसा मलिक (Tvesa Malik) ने शुक्रवार को लैकोस्ट लेडीज़ ओपन डि फ्रांस (Lacoste Ladies Open De France) में लीडरबोर्ड पर दूसरे स्थान पर पहुंचने के लिए कुछ बेहतरीन स्ट्रोक लगाए। 24 वर्षीय गोल्फर ने पहले राउंड के शानदार प्रदर्शन के बाद दूसरे राउंड में तीन-अंडर 68 के स्कोर के साथ कुल चार-अंडर 138 (70+68) का स्कोर हासिल किया।

त्वेसा मलिक स्वीडन की जूलिया एंगस्ट्रॉम (Engstrom) से चार स्ट्रोक पीछे रहते हुए लीडरबोर्ड पर दूसरे स्थान पर काबिज़ हैं। ऐसे में उम्मीद है कि वह बोर्डिऑक्स के चैटॉक्स कोर्स में अपना पहला लेडीज़ यूरोपियन टूर खिताब जीतने के लिए शानदार प्रदर्शन जारी रखना चाहेंगी।

हालांकि, दीक्षा डागर के लिए चीज़ें संतोषजनक नहीं रहीं, क्योंकि वह गोल्फ के एक और खराब प्रदर्शन वाले राउंड की वजह से फिर एक बार कट हासिल करने से चूक गईं। उन्होंने कुल 32-ओवर 174 (89+85) का स्कोर हासिल किया।

त्वेसा मलिक भारत के बाहर अपने पहले टॉप-10 के गोल्फ प्रदर्शन के अंत पर नज़रें गड़ाए हुए हैं। फोटो साभार: LET

कोरोना वायरस (COVID-19) के विराम के बाद शूरू हुए यूरोपीय दौरे पर उतार-चढ़ाव वाले अपने प्रदर्शनों को ध्यान में रखते हुए त्वेसा मलिक अपने खेल को इस सीज़न में उच्च स्तर तक ले जाने के लिए उत्सुक थीं।

शानदार प्रदर्शन

बोर्डिऑक्स इवेंट में त्वेसा मलिक ने सुनिश्चित किया कि वह अपनी शानदार फॉर्म को बरकरार रखेंगी और इसी के चलते उन्होंने दूसरे राउंड के पहले होल पर एक बर्डी के साथ शुरुआत की और फिर छठे होल पर एक और बर्डी लगाकर आगे बढ़ने का कारवां जारी रखा।

हालांकि भारतीय गोल्फर ने सातवें होल पर एक बोगी लगाया, लेकिन मलिक ने फिर से नौवें होल पर एक और बर्डी लगाते हुए अपने फ्रंट नाइन के शानदार प्रदर्शन को समाप्त किया।

इसके बाद भी उनका शानदार प्रदर्शन जारी रहा और क्लब हाउस में वापस पहुंचने के बाद भी उन्होंने अपना शानदार खेल जारी रखा।

उन्होंने 11 वें होल पर एक बर्डी के बाद 16 वें होल पर बोगी लगाई, लेकिन त्वेसा मलिक ने राउंड को बेहतरीन अंदाज़ में खत्म करने के लिए अंतिम होल पर चौथी बर्डी लगाई।

मलिक ने एलईटी को बताया, “मैंने भारत से एक तरफ के लिए ही टिकट बुक किया है, इसलिए मुझे खुशी है कि मैं यहां बहुत ज्यादा गोल्फ खेलने में सक्षम रही हूं और फ्रांस वास्तव में मज़ेदार रहा है। मैं प्रतिस्पर्धा के इस अवसर के लिए आभारी हूं; कोर्स का इंतज़ाम काफी अच्छा है।”

इस बीच एंगस्ट्रॉम ने शानदार सात-अंडर का प्रदर्शन किया। जिसके चलते वह मार्च में महिला एनएसडब्ल्यू ओपन के बाद दौरे पर अपना दूसरा खिताब जीतने के काफी करीब पहुंच गई हैं।

19 वर्षीय ने अपने दूसरे दौर के बाद कहा, “ऑस्ट्रेलिया में जीत मेरे लिए बड़ी थी क्योंकि अब मुझे पता है कि मैं टूर पर जीत सकती हूं और कल की इस स्थिति पर पहुंचकर मैं खुश हूं। कई स्वीडिश लड़कियों के साथ यहां आना अच्छा लगता है और टूर इतना अनुकूल है कि मुझे वास्तव में सहज महसूस कराता है।”

लैकॉस्ट लेडीज ओपन डि फ्रांस के लिए कट दो-ओवर का सुनिश्चित किया गया था, जिसके तहत 37 गोल्फर वीकेंड के दौरान एक्शन में नज़र आएंगी।