यूरोपियन गोल्फ़ में पहली बार टॉप-10 में शामिल हुईं त्वेसा मलिक

लेडीज़ ओपन डि फ्रांस में त्वेसा मलिक दूसरे राउंड तक शानदार फॉर्म में नज़र आईं, लेकिन आखिरी और मुश्किल राउंड में बेहतर प्रदर्शन न कर पाने की वजह से वह बहुत अच्छा अंत नहीं कर सकीं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

एक दिन पहले अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर शीर्ष पर काबिज़ गोल्फर से चार शॉट पीछे रहते हुए दूसरे स्थान पर रहने वाली भारतीय गोल्फर त्वेसा मलिक (Tvesa Malik) लेडीज़ ओपन डि फ्रांस गोल्फ के आखिरी राउंड के बाद आखिरकार 10वें स्थान पर रहीं।

बोर्डिऑक्स में चैटॉक्स कोर्स में अपने प्रदर्शन के चलते त्वेसा भारत के बाहर लेडीज़ यूरोपियन टूर पर पहली बार शीर्ष-10 में पहुंचने में सफल रहीं।

इस बीच, स्वीडन की युवा सनसनी जूलिया एंगस्ट्रॉम (Julia Engstrom) ने फ्रांस के इस इवेंट में सीज़न का अपना दूसरा खिताब जीता, वह घरेलू पसंदीदा गोल्फर सेलिन हर्बिन (Celine Herbin) और अर्जेंटीना मैग्डेलेना सिम्मरमैचेराट (Argentine Magdalena Simmermacherat) से एक-एक शॉट आगे रहीं।

Tvesa Malik managed her first top-10 finish on the Ladies European Tour outside India. Photo: LET

चार-अंडर 138 के कुल स्कोर के साथ अंतिम राउंड की शुरुआत करते हुए त्वेसा मलिक ने शनिवार को पार से कम का स्कोर हासिल किया।

चार बोगी की वजह से वह अंतिम दिन चार-ओवर 75 का स्कोर ही हासिल कर सकीं। इसने उनके पहले दो राउंड के शानदार प्रदर्शन पर पानी फेरने का काम किया। 24 वर्षीय त्वेसा ने टूर्नामेंट में इवेन-पार 213 (70+68+75) का कुल स्कोर हासिल किया।

हरियाणा में जन्मी गोल्फर ने बैक नाइन के प्रदर्शन में अपनी स्थिति को बरकरार रखा, पार-फोर 17वें होल पर एक बोगी की वजह से त्वेसा ने अपनी बढ़त को खो दिया और उन्हें इवेन-पार के स्कोर से ही समझौता करना पड़ा।

इस बीच चैंपियन एंगस्ट्रॉम के लिए भी जीत का सफर कुछ ख़ास आसान नहीं रहा, क्योंकि उन्हें फ्रांसीसी स्टार सेलिन हेरबिन से कड़े मुक़ाबले में अपना पूरा ज़ोर लगाना पड़ा।

2018 रूकी ऑफ द ईयर एंगस्टॉम ने अपनी जीत के बाद LET से कहा, “आज वहां पर कड़ी टक्कर थी, सेलीन मुझे अपना पूरा ज़ोर लगाने को मजबूर कर रही थी और मैं उसे बर्डी लगाते हुए साफतौर पर देख रही थी, इसलिए मैंने अपने दिमाग को सिर्फ ठंडा रखने की कोशिश की। यह जीत अलग थी, बचाव करना काफी मुश्किल था। मैं लीड में थी और इससे पहले कि मैं हार जाती, इसलिए मेरे लिए लीड के साथ यह जीत हासिल करना मेरे आत्मविश्वास को बहुत बढ़ाता है।"

लेडीज़ यूरोपियन टूर पर आगे क्या है?

लेडीज यूरोपियन टूर एक महीने के विराम के बाद 4 नवंबर को दुबई मूनलाइट क्लासिक के साथ अपनी वापसी करेगा।