इंडियन ग्रां प्री के पहले दो राउंड में नहीं होंगे दर्शक मौजूद

प्रतियोगिता का दूसरा राउंड संगरूर की जगह पटियाला में खेला जाएगा

एथलेटिक्स फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडिया (AFI) ने आख़िरकार इस बात का फ़ैसला कर लिया कि इंडियन ग्रां प्री का आयोजन किया जाएगा। लेकिन इस प्रतियोगिता के पहले दो राउंड में दर्शकों की उपस्थिति नहीं रहेगी।

साथ ही साथ इस प्रतियोगिता का दूसरा दौर NIS पटियाला में आयोजित होगा, जहां पहले दौर के भी मुक़ाबले खेले जाएंगे, हालांकि इससे पहले संगरूर में दूसरे दौर के मुक़ाबले प्रस्तावित थे।

AFI की ओर से जारी प्रेस रिलीज़ में कहा गया है, ‘’इंडियन ग्रां प्री-1 20 मार्च 2020 को आयोजित होंगे, जबकि IGP-2 25 मार्च को होगा। इन दोनों ही राउंड की मेज़बानी अब स्पोर्ट्स ऑथिरिटी ऑफ़ इंडिया (SAI) के NS-NIS पटियाला को करनी है।‘’

स्टार धावक दुती चंद पर रहेगी इंडियन ग्रां प्री में सभी की नज़र, 100 मीटर और 200 मीटर में ओलंपिक कट-ऑफ़ टाइम कर सकती हैं हासिल
स्टार धावक दुती चंद पर रहेगी इंडियन ग्रां प्री में सभी की नज़र, 100 मीटर और 200 मीटर में ओलंपिक कट-ऑफ़ टाइम कर सकती हैं हासिलस्टार धावक दुती चंद पर रहेगी इंडियन ग्रां प्री में सभी की नज़र, 100 मीटर और 200 मीटर में ओलंपिक कट-ऑफ़ टाइम कर सकती हैं हासिल

मौजूदा स्थिति को देखते हुए कुछ और कड़े नियम लागू किए गए हैं, ताकि ये पूरी प्रतियोगिता सुरक्षित तरीक़े से कराई जा सके।

सावधानी ज़रूरी है

शनिवार को AFI ने इस प्रतियोगिता को लेकर बैठक की थी और उसके बाद ही इस फ़ैसले पर पहुंचा जा सका है, भारत सरकार भी कोरोना वायरस ने निपटने के लिए अभियान शुरू कर चुकी है। जिसमें यात्राओं से बचने और भीड़ लगाने जैसे किसी इवेंट के लिए भी मना किया गया है।

इसी के मद्देनज़र AFI ने भी इस बात पर ज़ोर दिया है किसी भी व्यक्तिगत कोच, सपोर्ट स्टाफ, परिवार के सदस्य या एथलीटों के दोस्त जो राष्ट्रीय कोचिंग शिविर का हिस्सा नहीं हैं, उन्हें कार्यक्रम स्थल में प्रवेश करने की इजाज़त नहीं है।

यहां तक की एथलीटों के लिए भी, गैर-शिविरार्थियों को SAI NS-NIS गेट पर AFI / SAI (भारतीय खेल प्राधिकरण) की मेडिकल टीम द्वारा मेडिकल जांच के बाद ही परिसर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।

हर गतिविधियों पर पैनी नज़र

AFI की प्रेस रिलीज़ में यह भी कहा गया है कि "सभी एथलीटों को एक मान्यता कार्ड प्रदान किया जाएगा और उन्हें अपने कार्यक्रम के पूरा होने के तुरंत बाद स्थल छोड़ना होगा, न कि किसी और इवेंट या प्रतिस्पर्धा को वह देख सकेंगे।"

NS-NIS एंट्री गेट से एथलेटिक्स ट्रैक के बीच प्रतिस्पर्धियों के आने जाने की इजाज़त नहीं रहेगी, और जो नेशनल कोचिंग कैंप का हिस्सा नहीं हैं उनके आवासीय कोचिंग हॉस्टल और गेस्टहाउस में आने पर प्रतिबंध रहेगा।

पहले इवेंट में संशोधन:

मेंस- 200 मीटर, 400 मीटर, 800 मीटर, 5000 मीटर, 400 मीटर हर्डल्स, लॉन्ग जंप, ट्रिपल जंप, शॉट पुट और जेवलिन थ्रो; वुमेंस- 100 मीटर, 200 मीटर, 400 मीटर, 800 मीटर, 5000 मीटर, लॉन्ग जंप, ट्रिपल जंप, शॉट पुट और जेवलिन थ्रो।

दूसरे इवेंट में संशोधन:

मेंस – 200 मीटर, 400 मीटर, 1500 मीटर, 5000 मीटर, 400 मीटर हर्डल्स, लॉन्ग जंप, ट्रिपल जंप, शॉट पुट और जेवलिन थ्रो। वुमेंस- 100 मीटर, 400 मीटर, 800 मीटर, 5000 मीटर, लॉन्ग जंप, ट्रिपल जंप, शॉट पुट और जेवलिन थ्रो।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!