क्यों भारतीय दिग्गज बलबीर सिंह सीनियर को पसंद थी ‘अशुभ’ 13 नंबर की जर्सी !

भारतीय पुरुष हॉकी के दिग्गज बलबीर सिंह ने यह सुनिश्चित किया कि उनकी गाड़ियों के नंबर प्लेट का टोटल भी 13 बने।

चाहे खेल जगत हो या आम ज़िंदगी, नंबर 13 या उससे जुड़ी गतिविधियों को बदकिस्मती या अशुभ माना जाता है लेकिन भारतीय हॉकी के दिग्गज स्वर्गीय बलबीर सिंह दोसांज (Balbir Singh Dosanjh) का इस नंबर से था अलग ही कनेक्शन। 1977 में लिखी गई आत्मकथा ‘गोल्डन हैट्रिक’ में बलबीर सिंह ने हेल्सिंकी गेम्स 1952 से पहले हुई घटना के बारे में बताया था जब उन्होंने नंबर 13 की जर्सी पहनी थी।

उस दौरान जब भारतीय मेंस हॉकी टीम फिनलैंड पहुंची तो उन्हें कोपेनहेगन ले जाया गया ताकि वे वहां के मौसम में रम सके और साथ ही खेल की स्थितियों से भी रू-ब-रू हो सकें। उस टूर के समय एक युवा लड़की ने बलबीर सिंह को 13 नंबर की जर्सी पहनने से मना किया था। अपनी आत्मकथा में इस वाक्य का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा “13 को नॉर्थ इंडिया की भाषा में ‘तेहरा’ भी बोला जाता है जिसे हम भगवान को याद करना कहते हैं। मैंने उस लड़की को कहा था कि यह नंबर मेरे लिए लकी है और मैं अपने सभी प्रदर्शनों का श्रेय ऊपर वाले को देता हूं।”

संजोग कुछ ऐसा बना कि 1952 ओलंपिक गेम्स के दौरान भारतीय हॉकी टीम को जब पहले मुकाबले के लिए लेकर जाया जा रहा था तो उनकी वैन का नंबर भी 13 था। इतना ही नहीं गोल्ड जीतने वाली इस लड़ाई में भारतीय टीम ने कुल 13 गोल दागे थे जिसमें से 9 बलबीर सिंह सीनियर की स्टिक से आए थे।

भारतीय हॉकी दिग्गज बलबीर सिंह का नंबर 13 के साथ अलग ही लगाव। फोटो क्रेडिट: बलबीर सिंह सीनियर/ट्विटर   
भारतीय हॉकी दिग्गज बलबीर सिंह का नंबर 13 के साथ अलग ही लगाव। फोटो क्रेडिट: बलबीर सिंह सीनियर/ट्विटर   भारतीय हॉकी दिग्गज बलबीर सिंह का नंबर 13 के साथ अलग ही लगाव। फोटो क्रेडिट: बलबीर सिंह सीनियर/ट्विटर   

बलबीर सिंह सीनियर और नंबर 13 का साथ सिर्फ यहीं तक नहीं था बल्कि हॉकी छोड़ने के बाद भी इन दोनों का आमना-सामना होता ही रहा। इस दिग्गज ने आगे लिखा कि मेरे घर का नंबर 1534, मेरे ऑफिस का नंबर 562, मेरी कार का नंबर 3163 और मेरी ऑफिस कार का नंबर 2902 है और अगर आप इन्हें जोड़ें तो इन सभी का योग 13 होता है।”

अपनी किताब में बलबीर सिंह दोसांज ने आगे लिखा “कोर्ट में सपोर्ट डिपार्टमेंट और मेरी वरिष्टता से जुड़ा केस चल रहा है और उस फाइल का नंबर भी 13 है। कौन कहता है नंबर 13 अशुभ है।”

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!