मनप्रीत सिंह और रानी रामपाल अपने-अपने ओलंपिक लक्ष्य के लिए प्रतिबद्ध हैं

भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और रानी रामपाल ने कहा, टीम के खिलाड़ी अपने खेल पर अपना ध्यान केंद्रित करने में लगे हैं और अपनी तैयारी के लिए अगली रणनीति पर फोकस कर रहें हैं।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

कोरोना वायरस (COVID-19) कई देशों में अपना पांव पसार चुका है। वहीं, इसकी वजह से टोक्यो 2020 स्थगित हो चुका है, जिसको लेकर भारतीय एथलीटों में थोड़ी निराशा देखने को मिली। हालांकि, इसके बावजूद भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी अपना ध्यान केंद्रित करने में लगे हैं और अपनी तैयारी के लिए अगली रणनीति पर फोकस कर रहें हैं।

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाक (Thomas Bach) ने ओलंपिक स्थगित होने को लेकर बयान जारी किया था। वहीं, भारतीय हॉकी पुरुष टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) ने कहा कि ओलंपिक खेल स्थगित होने पर थोड़ी निराशा जरूर है, लेकिन हमारे लिए जरुरी है कि हम सकारात्मक सोच बनाए रखें। हॉकी इंडिया की ओर से जारी बयान में मनप्रीत ने कहा, "हम 25 जुलाई 2020 को होने वाले अपने पहले मुकाबले के लिए मानसिक रूप से तैयार थे, लेकिन इस समय ओलंपिक स्थगित होने से निराशा जरूर है।"

वहीं आगे उन्होंने कहा, "कोरोना वायरस से दुनिया पर जो प्रभाव पड़ा है, उससे हमें लग रहा था कि ओलंपिक का स्थगित होना संभव है। हालांकि उसे देखते हुए हमने कभी भी अपने ट्रेनिंग या किसी भी सेशन को कुछ प्रभावित नहीं होने दिया।"

रानी रामपाल हॉकी को एक नए मुकाम तक ले जाना चाहती हैं

भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल (Rani Rampal) ने कहा कि ओलंपिक खेल स्थगित होने की खबर जब सामने आई तब कोच शोर्ड मरिने (Sjoerd Marijne) के साथ वह मीटिंग में थी। और इस खबर ने उन्हें अंदर तक झकझोर दिया। वह आगामी महीनों में टीम के खेल को एक अलग मुकाम तक ले जाना चाहती थी।

रानी रामपाल ने आगे कहा, "अगर आप पिछले दो वर्षों में हमारी टीम के प्रदर्शन पर गौर करें तो हम दुनिया की सभी बेहतरीन टीम को कड़ी टक्कर देते हुए आगे बढ़े हैं। फिलहाल ओलंपिक खेल स्थगित होने की खबर को हम सकारात्मक तरीके से लेकर आगे बढ़ रहें हैं ताकि हम कड़ी मेहनत से खेल को एक अलग मुकाम तक पहुंचा सकें।"

भारती पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत ने कहा, "पिछले दस महीनों में, हम एक बेहतरीन टीम के रूप में उभरकर सामने आएं हैं और मुझे विश्वास है कि हम अगले एक साल में अपने प्रदर्शन को शानदार तरीके से जारी रखेंगे।" "एक टीम के रूप में अपने लक्ष्य के लिए हमेशा प्रतिबद्ध रहेंगे और अपने देश भारत में हॉकी के लिए एक नया आयाम हासिल करेंगे।“

कोच जननेक शोपमैन से सीखने का बेहतरीन मौका- रानी रामपाल

वहीं, रानी रामपाल इस बात से खुश हैं कि उन्हें अब अपने विश्लेषणात्मक कोच जननेक शोपमैन (Janneke Schopman) के साथ अधिक वक्त व्यतीत करने का मौका मिलेगा। दरअसल, जननेक शोपमैन एक पूर्व ओलंपियन और विश्व चैंपियन खिलाड़ी रह चुकी हैं।

जननेक शोपमैन भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ बतौर ऐनालिटिकल कोच जुड़े हैं

रानी रामपाल ने कहा, "अब इससे हमें कोच जननेक शोपमैन के साथ अधिक समय बिताने का मौका मिलेगा और वह एक ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट हैं और उनका अनुभव हमारे लिए बहुत प्रेरणादायक के रूप में साबित होगा। शोर्ड और जननेक शोपमैन दोनों का समन्वय बहुत प्रभावी है और हम उनके मार्गदर्शन में आगे बढ़ने के लिए तत्पर हैं।

फिलहाल, ओलंपिक स्थगित होने की खबर पर एथलीटों में थोड़ी निराशा जरूर है, लेकिन वह अपने खेल में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए प्रतिबद्ध हैं और उसके लिए वो लगातार अपना ध्यान केंद्रित कर रहें हैं।