भारत के लिए उनके मैदान में खेलना हमेशा से मुश्किल रहा है: मैक्स कैलदास

भारत 18 जनवरी को नीदरलैंड के खिलाफ अपने एफआईएच प्रो लीग अभियान की शुरुआत करेगा।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

डच कोच मैक्स कैलदास का मानना है कि अगले सप्ताह एफआईएच प्रो लीग में शुरूआती दौर में भारतीय हॉकी टीम के खिलाफ नीदरलैंड के साथ टक्कर हो सकती है।

आपको बता दें कि पिछली बार यानी 2018 वर्ल्डकप में जब भारत का सामना नीदरलैंड से घर पर हुआ था तो क्वार्टर फाइनल में उसे 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था। कैलदास के मुताबाकि ओपनिंग मैच में भारत के साथ मैच बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि अपने घरेलू मैदान में भारत के खिलाफ मैच खेलना काफी रोमांचक है। क्योंकि हम लोग भुवनेश्वर में खेलना पसंद करते हैं।

ऑस्ट्रेलियाई ग्राहम रीड वर्तमान में भारतीय हॉकी टीम के कोच हैं। ग्राहम रीड ने ऑस्ट्रेलिया की पुरुष टीम के कोच के रूप में और फिर मैक्स कैलदास के सहायक कोच के रूप में नीदरलैंड की टीम के साथ काम किया है। उन्होंने कहा कि अर्जेंटीना के रीड की कोचिंग क्षमताओं के लिए ओलंपियन आश्वस्त हैं।

ग्राहम रीड एक बहुत ही अनुभवी कोच हैं और वो हॉकी टीम के सभी प्रारुपों से अवगत हैं, साथ ही हॉकी टीम के खिलाड़ियों की उम्मीद पर खरे उतरते हैं। कैलदास ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि भारत हमेशा की तरह प्रतिस्पर्धी होगा और एक शानदार खेल खेलेगा।

एफआईएच प्रो लीग में भारत का रुख साफ

एफआईएच प्रो लीग में पुरुष और महिला वर्ग में नौ टीमें मैदान में उतरेंगी, जिनमें से राष्ट्र खेलों में दो साल की अवधि में घरेलू मैदान और विदेशी मैदानों पर मैच खेलेंगे। बता दें कि पुरुषों की श्रेणी में भारत के अलावा ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना, विश्व चैंपियन बेल्जियम, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, ग्रेट ब्रिटेन, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड और स्पेन की टीमें शामिल हैं।

मनप्रीत सिंह एंड कंपनी जनवरी और फरवरी में 6 मैच और मई में दो मैचों के साथ कुल आठ घरेलू खेल खेलेगी। 18 और 19 जनवरी को भारत नीदरलैंड के खिलाफ दोहरे शीर्षक्रम के बाद 22 और 23 फरवरी को ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगी, लेकिन उसके पहले भारत 8 और 9 फरवरी को बेल्जियम की मेज़बानी करेगा।

23 और 24 मई को न्यूजीलैंड में जाने से पहले भारतीय हॉकी पुरुष टीम 25 और 26 अप्रैल को जर्मनी में डबल-हेडर के लिए यात्रा करेगी। इसके बाद 2 और 3 मई को ग्रेट ब्रिटेन का दौरा करेगी। भारत अपने एफआईएच प्रो लीग दौरे का समापन 13 और 14 जून को स्पेन में करेगा।

एफआईएच प्रो लीग एक स्प्रिंगबोर्ड की तरह ओलंपिक में प्रस्तुत करेगा

24 जुलाई से 2020 ओलंपिक की शुरूआत हो रही है। जहां एफआईएच प्रो लीग चरण राष्ट्र के खेल के लिए अपने आपको परखने का एक सही मौका होगा। कैलदास के मुताबिक हम जिन खिलाड़ियों और संयोजनों का परीक्षण करना चाहते थे, उन्हें एफआईएच प्रो लीग के पिछले संस्करण के दौरान प्रयोग किया गया था। उन्होंने कहा कि इस बार हमें एक अलग तरीके से काम करना होगा ताकि हमारी टीम एक बेहतरीन टीम दिखे, जो टोक्यो में अच्छा प्रदर्शन कर सके।

कैलदास ने आगे कहा कि उन्हें अपने खिलाड़ियों को एफआईएच प्रो लीग में व्यापक तैयारी के साथ-साथ घरेलू लीग नीदरलैंड में वापसी के लिए ज्यादा सतर्क रहना होगा। कैलदास ने कहा कि यह हमारे लिए बहुत मुश्किल है क्योंकि हमें क्लब हॉकी की योजना बनाने की आवश्यकता होगी जो बहुत महत्वपूर्ण है।  उन्होंने आगे कहा हो सकता है कि कुछ खिलाड़ी उस दौरान हमारे साथ न हो।

आगे बात करते हुए कहा कि हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हम उनके साथ अपने समय का सही इस्तेमाल करें, लेकिन यह भी सुनिश्चित करें कि वे क्लब मैचों के लिए तरोताजा हों क्योंकि वहां मैच भी उच्चस्तरीय होंगे। इस मायने में  हम सावधानी से और खिलाड़ियों के भार का प्रबंधन करेंगे। हम खिलाड़ियों की शारीरिक और मानसिक रूप से सही तरीके से निगरानी करेंगे,  ताकि वे सही समय पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दे सके।