टोक्यो ओलंपिक के लिए भारतीय नेशनल हॉकी कैंप पर लगी मुहर, 19 अगस्त से होगी शुरुआत

पहले से ही निर्धारित तारीख़ 19 अगस्त से ही कैंप होगा शुरू, कोरोना पॉज़िटिव सभी खिलाड़ी पूरी तरह ठीक होने के बाद कैंप का हिस्सा बनेंगे।

लेखक सैयद हुसैन ·

बुधवार को स्पोर्ट्स ऑथिरीटी ऑफ़ इंडिया (SAI) ने भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीम के लिए अच्छी ख़बर दी है, दोनों ही टीमों के लिए टोक्यो ओलंपिक की बेहतर तैयारियों के मद्देनज़र 19 अगस्त से राष्ट्रीय कैंप को शुरू करने का फ़ैसला किया गया है।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के 6 खिलाड़ी कोरोना वायरस (COVID-19) पॉज़िटिव पाए गए हैं जिसमें कप्तान मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) और स्ट्राइकर मंदीप सिंह (Mandeep Singh) भी शामिल हैं। जिसके बाद सभी को एहतियात के तौर पर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इन सभी के कोरोना पॉज़िटिव पाए जाने के बाद इस नेशनल कैंप पर ख़तरे के बादल मंडराने लगे थे।

हालांकि इसके बाद महिला और पुरुष दोनों ही टीमों के सभी अहम खिलाड़ियों और कोच के साथ बातचीत करने के बाद ये फ़ैसला लिया गया कि राष्ट्रीय कैंप निर्धारित 19 अगस्त से ही शुरू किए जाएंगे।

भारतीय महिला हॉकी टीम के कोच शोर्ड मरिन ने कहा, "मैं पूरे दल की तरफ़ से ये कह रहा हूं कि राष्ट्रीय कैंप की शुरुआत की ख़बर से हम सभी बेहद ख़ुश हैं। जब हमने इसपर खिलाड़ियों की राय जानना चाहा तो प्रत्येक सदस्यों ने पॉज़िटिव रेस्पॉन्स दिया।"

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड (Graham Reid) ने डचमैन शोर्ड मरिन (Sjoerd Marijne) की भावनाओं की क़द्र करते हुए अपनी सहमति जताई।

रीड ने कहा, "ये जानकर अच्छा लगा कि सभी को इसका इंतज़ार है हालांकि हमने उन्हें ये आश्वस्त किया है कि उनके स्वास्थ्य की देखभाल करना हमारी पहली प्राथमिकता है।"

"हम उन 6 खिलाड़ियों के साथ भी लगातार संपर्क में हैं जो कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं। वे सभी के सभी अच्छे हैं और तेज़ी से रिकवरी कर रहे हैं। जैसे ही वे सही हो जाते हैं और निर्धारित क्वरंटाइन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है तो वे सभी कैंप का हिस्सा होंगे।"

अगले हफ़्ते एक बार फिर दोनों ही भारतीय हॉकी टीम कैंप में नज़र आएंगी। तस्वीर साभार: हॉकी इंडिया

दोनों ही भारतीय हॉकी टीमें 4 अगस्त को एक महीने के विराम के बाद अपने घर पर छुट्टियां बिताने के बाद बेंगलुरु के SAI सेंटर में लौट आईं हैं।

फ़िलहाल सभी खिलाड़ी 14 दिनों के क्वरंटाइन पीरियड में ही हैं जो सरकार और SAI का स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (SOP) भी है।

टीमों के लिए ये एक नया अनुभव भी होने वाला है, क्योंकि वे अब नए नियमों और प्रोटोकॉल के साथ मैदान में वापसी करेंगी। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग और अभ्यास के दौरान एक दूसरे से स्पर्श नहीं करना शामिल होगा।