टोक्यो ओलंपिक से ठीक पहले भारतीय हॉकी को बड़ा झटका, क्रिस सिरिएलो का इस्तीफ़ा

क्रिस सिरिएलो एनालिटिकल भारतीय हॉकी टीम के साथ 2018 में जुड़े थे, वह टीम के एसिस्टेंट कोच और टीम मैनेजर भी रह चुके हैं।

लेखक सैयद हुसैन ·

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी क्रिस सिरिएलो (Chris Ciriello) ने मंगलवार को भारतीय मेंस हॉकी टीम के एनालिटिकल कोच के पद से इस्तीफ़ा दे दिया।

सिरिएलो कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से लगे लॉकडाउन से पहले ही अपने वतन वापस चले गए थे। जहां पर्थ में उन्हें त्वचा संबंधी बीमारी का इलाज कराना था। उनके इस्तीफ़े के पीछे की वजह भी उनकी ये बीमारी ही है, क्योंकि हाल ही में उन्होंने नए अनुबंध पर भी क़रार किया था जिसके मुताबिक़ वह एक साल और भारतीय हॉकी के साथ जुड़े रहते।

सिरिएलो ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया, “मेरी हालत दिन ब दिन बेहतर होती जा रही है लेकिन मुझे हफ़्ते में तीन बार UV लाइट ट्रीटमेंट के लिए जाना पड़ता है। डॉक्टरों ने कहा है कि इसे ठीक होने में 6 से 8 सप्ताह का समय लग सकता है लेकिन ये पक्का नहीं है।“

“भारतीय हॉकी को इस समय वहां किसी की ज़रूरत है और मैं अभी वहां नहीं हो सकता। मैं चाहता हूं कि वापस आऊं, लेकिन साथ ही साथ मेरी वजह से इसका असर टीम पर पड़े, ये भी मैं नहीं कर सकता।“

हाल के महीनों में सिरिएलो तीसरे ऐसे सपोर्ट स्टाफ़ हैं जिन्होंने इस्तीफ़ा दिया है, इससे पहले हाई परफ़ॉर्मेंस डायरेक्टर डेविड जॉन (David John) और टीम फ़िज़ियो डेविड मैकडोनाल्ड (David McDonald) भी लौट चुके हैं

क्रिस सिरिएलो 2018 से भारतीय हॉकी टीम के एनालिटिकल कोच के पद पर कार्यरत थे। तस्वीर साभार: हॉकी इंडिया

एक साथ कई ज़िम्मेदारियां

34 वर्षीय क्रिस सिरिएलो लंदन 2012 ओलंपिक में उस ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा थे जिसने कांस्य पदक जीता था और साथ ही साथ वह 2014 वर्ल्ड कप विजेता टीम के भी सदस्य रहे हैं। इतना ही नहीं उस वर्ल्ड कप के फ़ाइनल में क्रिस ने हैट्रिक भी लगाई थी। उन्होंने 2017 में बतौर खिलाड़ी संन्यास ले लिया था और इसके बाद 2018 की शुरुआत में ही वह भारतीय हॉकी टीम के साथ जुड़ गए थे।

ये ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी वैसे तो आधिकारिक तौर पर टीम के एनालिटिकल कोच के पद पर थे लेकिन उन्होंने कई प्रतियोगिताओं में टीम की अलग अलग ज़िम्मेदारियां भी उठाईं थीं। वह असिसटेंट कोच की भी भूमिका में रहे हैं और ज़रूरत पड़ने पर वह टीम मैनेजर भी रहे थे।

अपने वक़्त के बेहतरीन ड्रैग-फ़्लिकर रहे सिरिएलो ने भारत के पेनल्टी कॉर्नर स्पेशलिस्ट रूपिंदर पाल सिंह (Rupinder Pal Singh) के करियर को भी नया आकार देने में अहम भूमिका निभाई है।

भारतीय हॉकी टीम के मौजूदा कोच ग्राहम रीड (Graham Reid) के भी काफ़ी क़रीब थे और दोनों ने मिलकर टीम इंडिया को एक नई दिशा दी थी। लिहाज़ा सिरिएलो का इस समय छोड़कर जाना टोक्यो ओलंपिक से पहले भारत के लिए एक बड़ा झटका है।

सिरिएलो को छोड़कर जाने का असर मैदान के बाहर भी भारतीय खिलाड़ियों पर पड़ेगा, क्योंकि उनकी पत्नी हाइदी (Heidi) और ग्राहम रीड की पत्नी जूलिया (Julia) साथ मिलकर खिलाड़ियों को अंग्रेज़ी सिखाती थीं।