भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने हासिल की अब तक की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग

FIH प्रो लीग में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय हॉकी टीम ताज़ा जारी एफआईएच रैंकिंग में चौथे स्थान पर पहुंची।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

एफआईएच प्रो लीग (FIH Pro Leauge) में अपने शुरुआती अभियान में बेहतरीन प्रदर्शन कर भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एफआईएच रैंकिंग में अपनी सर्वश्रेष्ठ रैंक हासिल कर ली है।

सोमवार को जारी ताज़ा रैंकिंग में ग्राहम रीड (Graham Reid) की कोचिंग वाली भारतीय हॉकी टीम को एफआईएच रैंकिंग (FIH Rankings) में चौथे स्थान पर रखा गया है। शीर्ष तीन में बेल्जियम के साथ ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।

भारतीय टीम ने चौथे स्थान पर से ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना को हटाकर खुद चौथा स्थान हासिल कर लिया है।

चार बार की ओलंपिक चैंपियन जर्मनी छठे जबकि अपने एफआईएच प्रो लीग सीज़न में मिली-जुली शुरुआत के बावजूद इंग्लैंड सातवें स्थान पर बनी हुई है। जहां उन्होंने अब तक के चार मैच खेले हैं, जिसमें एक जीत, एक हार और दो ड्रॉ शामिल हैं।

भारतीय हॉकी टीम ने एफआईएच प्रो लीग में उच्च रैंक वाली टीमों के खिलाफ आसानी से जीत दर्ज करते हुए अब तक के ओलंपिक वर्ष में शानदार फॉर्म दिखाया है। 

जब उन्होंने नीदरलैंड पर 5-2 की जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की, जिसके बाद भारतीय टीम ने अगले कुछ मैचों में अपना रक्षात्मक खेल भी दिखाया, जहां उन्होंने बेल्जियम और आस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ शानदार प्रदर्शन के साथ मैच पर कब्जा किया था।

भारतीय हॉकी टीम की रणनीति में बदलाव

जहां पिछले कुछ वर्षों से भारतीय टीम हमलावर रवैये से आगे बढ़ना चाह रही थी, तो वहीं ग्राहम रीड ने रक्षात्मक खेल पर काम किया है, और यही वजह है जिससे टीम को अब तक मैचों में कामयाब होने में मदद मिली है।

एक और चौंकाने वाला बदलाव जिसने विरोधियों को आश्चर्यचकित कर दिया है, वो है भारतीय हॉकी टीम की अपनी पारंपरिक मैन-टू-मैन मार्किंग से जोनल सिस्टम में बदलाव।

भारतीय स्ट्राइकर गुरजंत सिंह ने कुछ दिनों पहले ओलंपिक चैनल से बात करते हुए कहा कि “मैन-टू-मैन से ज़ोनल (मार्किंग सिस्टम) में बदलाव को भी और सुधारा जा रहा है। टीम पर हर खेल के साथ नई परिस्थितियों का असर हो रहा है,

“ज़ोनल प्रणाली का मतलब है, हमें उतना भागना नहीं है जितना हम भागते थे। हम अपनी ऊर्जा का संरक्षण कर रहे हैं और इससे हमें अधिक समय तक खेल में पूरी तरह बने रहने में मदद मिल रही है और अंतिम क्वार्टर में भी प्रभावी साबित हो रहे हैं।”

भारतीय महिला हॉकी टीम 9वें स्थान पर पहुंची

दूसरी ओर न्यूजीलैंड अपने पिछले तीन एफआईएच प्रो लीग मुकाबलों में दो जीत दर्ज करने के बावजूद आठवें स्थान पर कायम है। भारतीय महिला हॉकी टीम नौवें स्थान पर है जबकि नीदरलैंड शीर्ष स्थान पर काबिज है।