भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह समेत चार खिलाड़ी कोरोना वायरस से संक्रमित

घर पर ब्रेक लेने के बाद राष्ट्रीय हॉकी शिविर पहुंचे भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह समेत चार खिलाड़ियों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है और अब सभी क्वारंटाइन हैं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारतीय हॉकी पुरुष टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh), गोलकीपर कृष्ण पाठक (Krishan Pathak), मिडफील्डर जसकरन सिंह (Jaskaran Singh), और डिफेंडर सुरेंद्र कुमार (Surender Kumar) और वरुण कुमार (Varun Kumar) को बेंगलुरु में भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के राष्ट्रीय हॉकी शिविर में रिपोर्ट करने के बाद शुक्रवार को कोरोना वायरस (COVID-19) जांच में पॉजिटिव पाया गया।

पॉजिटिव पाए गए ये सभी खिलाड़ी एक महीने के लंबे ब्रेक के बाद घर से साई के नेशनल सेंटर फॉर एक्सीलेंस पहुंचे थे और इन सभी ने बेंगलुरु के लिए एक साथ ही यात्रा की थी।

शिविर पर पहुंचने पर किए गए रैपिड परीक्षण में सभी को नेगेटिव पाया गया था। हालांकि, कप्तान मनप्रीत सिंह और डिफेंडर सुरेंद्र कुमार ने कुछ COVID-19 लक्षणों का अनुभव किया।

जिसके बाद उनके साथ यात्रा करने वाले दस अन्य सदस्यों का गुरुवार को एक और टेस्ट किया गया, जिसमें पांच खिलाड़ियों को पॉजिटिव पाया गया। कुछ अन्य टेस्ट का रिजल्ट आना अभी भी बाकी है।

कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा, "मैं साई के शिविर में सेल्फ-क्वारंटाइन हूं। मैं अभी ठीक हूं और बहुत जल्द ठीक होने की उम्मीद कर रहा हूं।"

“मुझे खुशी है कि साई ने एथलीटों के परीक्षण को अनिवार्य किया। सक्रिय कदम उठाए जाने की वजह से ही हमें समय पर इस समस्या के बारे पता चल सका।”

आपको बता दें, स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए राष्ट्रीय शिविर में पहुंचने पर सभी भारतीय हॉकी खिलाड़ियों को क्वारंटाइन कर दिया गया था और इसलिए प्रभावित हुए टीम के पांच खिलाड़ी अन्य सदस्यों के संपर्क में नहीं आ पाए।

मनप्रीत सिंह उन 6 हॉकी खिलाड़ियों में शुमार थे जो कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। तस्वीर साभार: हॉकी इंडिया 

राष्ट्रीय शिविर की स्थिति पर अभी कोई घोषणा नहीं

पुरुष और महिला दोनों भारतीय हॉकी टीमों ने भारत में लागू किए सख्त लॉकडाउन के दौरान साई के परिसर में दो महीने से भी अधिक समय बिताया था। इसके बाद यात्रा प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के बाद टीमों को जून में छुट्टी के लिए घर जाने की अनुमति दी गई थी।

भारतीय हॉकी टीमों ने टोक्यो ओलंपिक को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय शिविर के ज़रिए फिर से प्रशिक्षण को शुरू करने की योजना बनाई थी। हालांकि, इस घटना के बाद अभी तक राष्ट्रीय शिविर की स्थिति पर कोई घोषणा नहीं की गई है।