मनदीप सिंह को टोक्यो 2020 में पदक की उम्मीद

भारतीय हॉकी टीम रैंकिंग में अपना सर्वश्रेष्ठ स्थान हासिल करने के बाद अपनी मेहनत के दम पर ओलंपिक में मेडल जीतना चाहती है।

भारतीय मेंस हॉकी टीम के स्ट्राइकर मनदीप सिंह (Mandeep Singh) ने अपनी टीम के सामने एक कठिन लक्ष्य रखाा है।  इस खिलाड़ी ने दावा किया है कि ओलंपिक 2020 में वह पदक जीतने की कोशिश करेंगे। भारत ने हॉकी में  40 साल से ओलंपिक पदक नहीं जीता है। अब मनदीप जल्द से जल्द इस इंतजार को खत्म करना चाहते हैं।

मनदीप ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) से बातचीत में बताया कि “ये ओलंपिक साल है और इसमें क्वालिफाई करने के लिए काफी मेहनत की है। हम जीत के मकसद से मैदान में उतरेंगे और टोक्यो में तिरंगा फहराने की कोशिश करेंगे”।

मनदीप की इस बात से युवा मिडफील्डर विवेक सागर प्रसाद (Vivek Sagar Prasad) भी इत्तेफाक रखते हैं। इस खिलाड़ी के अनुसार टोक्यो में भारतीय टीम के पास मेडल जीतने का सर्वश्रेष्ठ मौका है।

मनदीप सिंह को हॉकी इंडिया द्वारा 2019 में धनराज पिल्लै फॉरवर्ड ऑफ दी ईयर (Dhanraj Pillay Forward of the Year) से सम्मानित किया गया। इस खिलाड़ी ने ये सम्मान धनराज पिल्लै (Dhanraj Pillay) के हाथों ही हासिल किया।

मनदीप सिंह ने बताया कि “इससे पहले मैंने हॉकी इंडिया वार्षिक अवॉर्ड कभी नहीं जीता था, हां मैं ये चाहता जरूर था। धनराज पिल्ले मेरे आदर्श हैं और उनके हाथों ये अवॉर्ड माना काफी सम्मानजनक है

मनदीप सिंह भारतीय हॉकी टीम के एक बेहतरीन स्ट्राइकर हैं। तस्वीर साभार: हॉकी इंडिया
मनदीप सिंह भारतीय हॉकी टीम के एक बेहतरीन स्ट्राइकर हैं। तस्वीर साभार: हॉकी इंडियामनदीप सिंह भारतीय हॉकी टीम के एक बेहतरीन स्ट्राइकर हैं। तस्वीर साभार: हॉकी इंडिया

भारतीय हॉकी के लिए यादगार साल 

पिछला साल भारतीय मेंस और वुमेंस हॉकी टीम के लिए शानदार रहा है और दोनों ही टीमें ओलंपिक 2020 में क्वालिफाई करने में सफल रही।

ओलंपिक साल की शुरुआत भारतीय मेंस टीम के लिए शानदार रही। एफआईएच प्रो लीग (FIH Pro League) के अपने पहले ही सीजन में शानदार प्रदर्शन और वह अभी नीदरलैंड(Netherlands), बेल्जियम (Belgium) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बाद  10 अंक के साथ चौथे स्थान पर काबिज है।

FIH हॉकी प्रो लीग के आगामी मैचों को लेकर विवेक सागर ने कहा कि “हम अपना प्रदर्शन सुधारने के लिए ट्रेनिंग कर रहे हैं और आने वाले मैचों के लिए पूरी तरह से तैयार है। हम उसी तरह ट्रेनिंग कर रहै हैं, जैसे की साई (बेंगलुरु) में करते हैं। हमारी पूरा ध्यान फिटनेस पर है”।

भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए एफआईएच वर्ल्ड रैंकिंग में अपनी सर्वश्रेष्ठ चौथी रैंकिंग हासिल की। इसी को देखते हुए पूरा देश ओलंपिक 2020 में इस टीम से मेडल की उम्मीद कर रहै है।

भारतीय मेंस हॉकी टीम ने अब तक ओलंपिक में 8 गोल्ड मेडल जीते हैं लेकिन आखिरी मेडल काफी साल पहले 1980 में हुए मास्को गेम्स जीता था।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!