अर्जेंटीना दौरे से बिना जीत के वापस लौटेगी भारतीय महिला हॉकी टीम

दुनिया की नंबर 2 टीम के खिलाफ रानी रामपाल की अगुवाई वाली टीम ने एक गोल किया और अर्जेंटीना के खिलाफ रविवार को अपने अंतिम मुक़ाबले को ड्रा किया।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian Women’s Hpckey Team) ने रविवार को ब्यूनस आयर्स में मेजबान की सीनियर टीम के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ के साथ अर्जेंटीना के अपने दौरे को खत्म किया।

विश्व की नंबर 2 टीम के खिलाफ रानी रामपाल (Rani Rampal) की नेतृत्व वाली भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और 35वें मिनट में टीम को बढ़त दिला दी। हालांकि मेजबान टीम की एमिलिया फोरचेरियो (Emilia Forcherio) ने पांच मिनट बाद ही पेनल्टी स्ट्रोक को गोल में बदल स्कोर बराबर कर दिया।

अर्जेंटीना दौरे पर भारतीय टीम ने कुल सात मैच खेले। उन्होंने मेजबान जूनियर टीम के खिलाफ पहले दो मैच ड्रॉ किए, फिर अगले दो मैचों में अर्जेंटीना B के खिलाफ उन्हें हार मिली और फिर अर्जेंटीना की सीनियर टीम के खिलाफ दो मैच हारे। मौसम खराब होने के कारण पेनल्टीमेट मैच को रद्द करना पड़ा था।

पूरे दौरे पर जीत का स्वाद चखने में असफल रहने के बाद, भारतीय महिला हॉकी टीम अपने अंतिम मैच में बड़ी उम्मीद के साथ मैदान पर उतरी। लेकिन अर्जेंटीना के खिलाफ मुक़ाबला कभी भी आसान नहीं होता ये भारतीय टीम के अच्छे से पता था।

अर्जेंटीना ने शुरूआत से ही भारतीय बैकलाइन की परीक्षा लेनी शुरू कर दी और आक्रामक रवैया अपनाया। मेजबान टीम मैच पर पूरी तरह हावी नजर आ रही थी और उन्होंने कई कॉर्नर भी हासिल किए।

लेकिन अनुभवी सविता पूनिया (Savita Punia) के साथ भारतीय टीम ने गोलपोस्ट को बचाए रखा और टीम को कोई नुकसान नहीं होने दिया।

शुरुआती दो क्वार्टर में भारतीय टीम ने भी कई पेनल्टी कॉर्नर जीते। लेकिन रानी रामपाल गोल में नहीं बदल सकीं। दोनों टीमें हाफ टाइम तक बराबरी पर थीं।

भारतीय महिला हॉकी टीम ने दूसरे हाफ में अच्छी शुरुआत की और अर्जेंटीना के डिफेंस को कई बार भेदा। कप्तान रानी रामपाल इस क्वार्टर में कुछ अलग ही रंग में नज़र आ रही थीं।

वंदना कटारिया (Vandana Katariya) के साथ अच्छी तरह से मेलजोल बनाते हुए रानी ने सबको आश्चर्यचकित किया और गोलकीपर का छकाते हुए मैच का पहला गोल दिया।

भारत ने इस मैच के बचे हुए समय में मेजबान टीम पर दबाव बनाए रखा लेकिन फुल टाइम के हूटर बजने से पहले अर्जेंटीना ने गोल कर मैच को बराबरी पर ला दिया।

अर्जेंटीना की महिला टीम को पेनल्टी स्ट्रोक मिला जिसे एमिलिया फोरचेरियो ने गोल में बदलकर टीम को बराबरी पर ला दिया। इस तरह अर्जेंटीना ने भारत के साथ बिना किसी हार के अपनी द्विपक्षीय सीरीज को समाप्त किया।

भारतीय मुख्य कोच शॉर्ड मारिन ने मैच के बाद कहा, “1-0 की बढ़त के बाद, हमें धैर्य रखना पड़ा और साथ में अपने आक्रमण खेल को जारी रखना पड़ा। हमें और अच्छे से खेलना था, लेकिन ये एक ऐसी चीज है जिस पर हम काम कर सकते हैं।”