रानी रामपाल की बदौलत भारतीय महिला हॉकी टीम का अर्जेंटीना जूनियर्स के खिलाफ दूसरा मैच ड्रॉ

कप्तान रानी रामपाल के गोल की मदद से भारतीय टीम ने अर्जेंटीना जूनियर्स महिला टीम के खिलाफ लगातार दूसरा मैच ड्रॉ करवाया

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारतीय महिला हॉकी टीम ने मंगलवार को ब्यूनस आयर्स के सेनार्ड में अर्जेंटीना जूनियर्स टीम के खिलाफ लगातार दूसरा ड्रॉ मैच खेला।

भारतीय टीम की कप्तान रानी रामपाल (Rani Rampal) के पेनल्टी गोल द्वारा किए गोल के कारण भारत अर्जेंटीना जूनियर्स महिला टीम की बराबरी कर पाया, मेजबान टीम ने 13वें मिनट में ही गोल कर भारतीय टीम को दबाव में ला दिया था।

भारत को इस मैच के पहले ही मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला था लेकिन पेनल्टी कॉर्नर स्पेशलिस्ट गुरजीत कौर (Gurjit Kaur) का शॉट गोल पोस्ट से काफी दूर गया, पिछले मैच में डिफेंडर दीप ग्रेस एक्का (Deep Grace Ekka) ने 5वें मिनट भी ऐसा ही मौका गंवाया था। हालांकि भारतीय टीम वह मैच भी 2-2 से ड्रॉ करवाने में सफल रही थी।

दूसरे मैच में मेजबान टीम ने भारतीय टीम पर शुरू से ही अटैक किया और इसका फायदा भी उन्हें जल्दी ही मिल गया, जब उन्होंने 13वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर की बदौलत मैच का पहला गोल किया।

पिछले एक साल में केवल दूसरा प्रतिस्पर्धी मैच खेल रही टीम इंडिया इस मैच में लय में नहीं दिखी, भारतीय खिलाड़ियों को गोल करने के कई मौके मिले लेकिन वह उन्हें भुनाने में असफल रहीं।

भारतीय टीम को पहली सफलता मैच खत्म होने से 12 मिनट पहले मिली, जब नवनीत कौर (Navneet Kaur) की वजह से भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला और टीम की कप्तान रानी रामपाल ने बिना कोई गलती किए गेंद को गोल पोस्ट में डाल दिया।

मुख्य कोच सोज़र्ड मारिजेन (Sjoerd Marijne) टीम में दिखे सुधार से प्रभावित हुए। मैच के बाद उन्होंने कहा "आज खेल की गुणवत्ता बेहतर थी और हर मैच में सुधार करने के लिए ही हम यहां हैं।“

इसके अलावा भारतीय टीम के मुख्य कोच ने कहा कि "आज खिलाड़ियों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का मौका मिला और ये ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें आमतौर पर 18 सदस्यीय टीम बनाने का मौका नहीं मिलता है इसलिए यह देख कर अच्छा लगा कि वे अंतरराष्ट्रीय लेवल पर अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम हैं।“

सोज़र्ड मारिजेन ने आगे कहा कि "यह कोर ग्रुप के लिए भी अच्छा है कि हम ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ियों को आजमाएं और देखें कि कैसे अलग-अलग संयोजन काम करते हैं। हमने अधिक स्कोर करने के लिए पर्याप्त अवसर बनाए और यह एक ऐसा क्षेत्र है जिस पर हमें काम करते रहने की आवश्यकता है।”

अब भारतीय टीम को प्रैक्टिस टूर के तहत शुक्रवार को अर्जेंटीना बी के खिलाफ मैच खेलना है।