जूडो ग्रैंड स्लैम हंगरी के पहले ही दौर से बाहर हुए भारतीय जूडोका

बुडापेस्ट में चल रहे जूडो टूर्नामेंट के शुरुआती दौर में ही शुशीला देवी, विजय यादव और जसलीन सैनी हार गए।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारतीय जूडो के लिए आज का दिन निराशाजनक रहा, क्योंकि लिकमाबम शुशीला देवी (Likmabam Shushila Devi), विजय कुमार यादव (Vijay Kumar Yadav) और जसलीन सिंह सैनी (Jasleen Singh Saini) शुक्रवार को बुडापेस्ट के ग्रैंड स्लैम हंगरी में पहले दौर में ही बाहर हो गए।

अगले साल टोक्यो में अपने पहले ओलंपिक का लक्ष्य रखने वाले युवाओं के लिए यह एक बड़ा झटका हो सकता है, क्योंकि अंतरराष्ट्रीय जूडो फेडरेशन (IJF) के वर्ल्ड टूर इवेंट से रैंकिंग अंक पेश किए गए, जिन्हें ओलंपिक क्वालिफिकेशन में गिना जाएगा।

48 किग्रा वर्ग में दुनिया की 41वें नंबर की 25 वर्षीय शुशीला देवी स्थानीय खिलाड़ी इवा सेस्नोवेरोस्की से हार गईं। शुशीला पर जूडो बाउट की सबसे बड़ी पेनाल्टी हंसोकुमाके लगाई गई, जिससे सेस्नोवेरोस्की को इप्पॉन (प्रतिद्वंद्वी को अयोग्य करार दिए जाने से मिली जीत) मिला और हंगरी की यह खिलाड़ी जीत गई।

पुरुषों के 60 किलोग्राम श्रेणी में विजय कुमार यादव लंबी बाउट के बाद अज़रबैजान के दावूद ममाडिसॉय से हार गए, जो मुक़ाबला एक अलग ही मोड़ पर जा पहुंचा था।

दोनों जुडोका को दो-दो शिदो से दंडित किया गया, जो कि मामूली उल्लंघन के लिए सबसे कम सजा मानी जाती है और तीसरी बार इस गलती को करने की वजह से परिणाम हंसोकुमेके हो जाता है, जिससे दूसरा खिलाड़ी जीत जाता है।

मुक़ाबले में आगे हुआ भी ठीक वैसे ही, विजय यादव को ममाडिसॉय की पकड़ से बचने के लिए तीसरी बार शिदो से दंडित किया गया।

उच्च श्रेणी के 22 वर्षीय जसलीन सिंह सैनी से उम्मीदें बहुत अधिक थीं, जो सबसे अच्छे भारतीय जूडोका (56वें पायदान पर काबिज़) हैं, लेकिन वह भी कुछ खास नहीं कर सके। सैनी पुरुषों के 66 किग्रा वर्ग में रूस के अब्दुला अब्दुलझीलोव से हार गए।

विजय यादव की तरह ही सैनी को भी अपने प्रतिद्वंद्वी से भिड़ते हुए तीन शिदो से दंडित किया गया, जिसके चलते अब्दुलझीलोव आसानी से जीत गए।

अन्य भारतीय जूडोका

COVID-19 महामारी के चलते मार्च में कैलेंडर पर निर्धारित की गई प्रतियोगिताओं पर विराम लग गया था, उसके बाद से जूडो बुडापेस्ट ग्रैंड स्लैम पहला इवेंट है। बायो-बबल में प्रतिस्पर्धा करने के लिए 75 देशों के 500 से अधिक जूडोका शामिल हुए हैं। इस प्रतियोगिता में अभी दो अन्य भारतीय भी एक्शन में नज़र आएंगे।

रियो 2016 के ओलंपियन अवतार सिंह पुरुषों के 100 किग्रा में इज़राइली पीटर पाल्चिक के खिलाफ मुक़ाबला करेंगे और तूलिका मान महिलाओं के 78 किग्रा में यूक्रेन की येल्ज़ेवेट्टा कलिना से भिड़ेंगी। ये दोनों मुक़ाबले रविवार को होंगे।

भारत में ग्रैंड स्लैम हंगरी जूडो को कहां लाइव देखें

ग्रैंड स्लैम हंगरी जूडो इवेंट को आधिकारिक IJF वेबसाइट और उनके YouTube चैनल पर लाइव स्ट्रीमिंग के ज़रिए देखा जा सकता है।