ओलंपिक गेम्स के स्थगित होने की वजह से अतिरिक्त समय मिलने पर इरफ़ान हुए खुश 

टोक्यो गेम्स के लिए क्वालिफाई करने वाले रेसवॉकर केटी इरफ़ान अपनी तकनीक को और ज़्यादा मज़बूत करना चाहते हैं।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

केटी इरफ़ान, (KT Irfan) भारत के लिए ट्रैक एंड फील्ड में टोक्यो गेम्स में क्वालिफाई करने वाले पहले एथलीट बनें हैं। लॉकडाउन के इस मुश्किल दौर में उन्होंने अपने फोकस को डगमगाने नहीं दिया और मेहनत कर अपनी क्वालिफिकेशन को सिद्ध कर रहे हैं।

प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए इरफ़ान ने बताया कि “टोक्यो गेम्स का आगे बढ़ना अच्छा है क्योंकि इससे खिलाड़ियों को मेडल जीतने वाली मेहनत करने का अतिरिक्त समय मिल गया है। रेसवॉकिंग एक तकनीकी खेल है और ऐसे में मैं उसी तकनीकों पर फोकस कर उन्हें और पुख्ता करने की कोशिश कर रहा हूं।”

लंदन गेम्स में 1 घंटे 10 मिनट और 21 सेकंड की टाइमिंग को अपना निजी सर्वश्रेष्ठ बनाने वाला ये खिलाड़ी टोक्यो गेम्स में मेडल पर नज़र रख कर अपने कारवां को आगे बढ़ाएगा।

गोल्ड कोस्ट 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में मेंस 20 किमी रेसवॉक के दौरान भारतीय रेसवॉकर केटी इरफ़ान 

टोक्यो में होंगी मेडल पर निगाहें

इरफ़ान ने आगे बताया कि, “मेरा मकसद मेडल जीतना ही है। लंदन गेम्स के दौरान भी मेरे पास मेडल जीतने का एक सुनहरा मौका था लेकिन मैं उसे पूरी तरह से भुना नहीं पाया। अगर मैं ज़्यादा मेहनत करुंगा और मानसिक तौर पर खुद को मज़बूत रखूंगा तो इस बार मेडल जीतने की उम्मीद बढ़ जाएगी।

कोरोनावायरस की वजह से खेल जगत की ट्रेनिंग, प्रतियोगिताएं और सभी कुछ रुक चुका है और ऐसे में केटी इरफ़ान को भी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ रहा है।

बेंगलुरु के SAI कैंप में सेल्फ-आइसोलेशन के हालातों को बेहतर समझाते हुए इरफ़ान ने कहा “कैंपस के बाहर दौड़ने के लिए अच्छी जगह है लेकिन इस समय हमे बाहर जाने की अनुमति नहीं है। हमे ग्रुप की बजाय अलग अलग ट्रेनिंग करने को बोला गया है। हम कमरे में ही स्किपिंग और छोटी छोटी चीज़ें कर लेते हैं और कभी कभी बाहर जाकर वॉक का अभ्यास करते हैं। अभी के लिए हम इतना कुछ ही कर पा रहे हैं।

एशियन गेम्स के दौरान चौथे स्थान पर प्रतियोगिता को ख़त्म करने वाले रेसवॉकर केटी इरफ़ान ने टोक्यो गेम्स के लिए क्वालिफाई कर लिया है। उन्होंने इस उपलब्धि को 1 घंटे 20 मिनट और 57 सेकंड की बेहतरीन टाइमिंग की बदौलत हासिल किया और यह टाइमिंग क्वालिफाई करने के लिए पर्याप्त थी।