वर्ल्ड टीम चैंपियनशिप में भारतीय रेस वॉकरों के पास ग़लती की कोई गुंजाइश नहीं

2020 ओलंपिक में जगह बनाने के लिए भारतीय रेस वॉकरों के लिए क्वालिफाई करने का आखिरी मौका।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

टोक्यो 2020 यानि जापान में होने वाले ओलंपिक गेम्स में अब कुछ ही समय रह गया है लेकिन इसके रोमांच पर कोरोना वायरस ने अपना धावा बोलना शुरू कर दिया है। कुछ और खेलों के बाद अब कोरोना वायरस ने एशियन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप (Asian Race Walking Championships) को भी अपने शिकंजे में कस उसे रद्द करा दिया है। अब भारतीय रेस वॉकर के साथ अन्य सभी देश के खिलाड़ियों के पास IAAF वर्ल्ड रेस वॉकिंग टीम चैंपियनशिप (IAAF World Race Walking Team Championships) टोक्यो 2020 में क्वालिफाई करने का आखिरी मौका है।

यह प्रतियोगिता बेलारूस में 2 मई से शुरू होने वाली और भारतीय टीम के पास टोक्यो 2020 का टिकट लेने के लिए पर्याप्त दिन हैं।

गौरतलब है कि एशियन रेस वॉकिंग चैंपियनशिप भी मार्च में होने वाली थी लेकिन इसके रद्द हो जाने के बाद खिलाड़ियों के पास आईएएएफ वर्ल्ड रेस वॉकिंग टीम चैंपियनशिप के रूप में 2020 ओलंपिक गेम्स के लिए क्वालिफाई करने का आखिरी मौका है।

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (Athletics Federation of India) के हाई परफॉरमेंस डायरेक्टर वोल्कर हेरमै (Volker Herrmann) ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया “हम तीन से चार खिलाड़ियों के टोक्यो 2020 में क्वालिफाई करने को लेकर सकरात्मक सोच रहे हैं।”

उन्होंने आगे बताया प्रियांका गोस्वामी (Priyanka Goswami) रांची में हुए नेशनल में बहुत करीब आईं थीं। संदीप कुमार Sandeep Kumar) और अन्य दो लड़कों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया था। हमे और भी मौकों पर नज़र डाली है लेकिन अभी की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है।”

आपको बता दें कि प्रियांका गोस्वामी 7वें नेशनल रेस वॉकिंग चैंपियनशिप में अच्छी लय में दिख रही थी और उन्होंने 20 किमी रेस 1:31:36.00 की टाइमिंग की बदौलत दूसरे नंबर पर ख़त्म की। इस रेस में भावना जाट (Bhawna Jat) ने बाज़ी मारी और टोक्यो 2020 में अपना स्थान भी पुख्ता किया।

प्रतियोगिता बेलारूस में 2 मार्च से आरंभ की जाएगी। 

हेरमैन ने यह भी बतया कि इन सभी खिलाड़ियों वर्ल्ड टीम चैंपियनशिप के समय पर यूरोप में ट्रेनिंग कैंप का हिस्सा बनना था। इस ट्रेनिंग कैंप का मौका भी खिलाड़ियों के हाथों से जा चूका है क्योंकि इसे भी रद्द कर दिया गया है। हालांकि प्रतियोगिता के लिए कम से कम 3 खिलाड़ी भाग लेने जाएंगे और साथ ही 2 और खिलाड़ी बैक-अप के तौर पर दौरे का हिस्सा होंगे।

खेल के कोरोना वायरस के पकड़ में आ जाने के बाद भारतीय बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल (Saina Nehwal)  और पारूपल्ली कश्यप (Parupalli Kashyap) ने भी बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन से क्वालिफिकेशन की तारीख़ को आगे बढ़ाने की गुजारिश की है। आपको बता दें कि बैडमिंटन की कट ऑफ़ डेट 30 अप्रैल है और इन दोनों ही खिलाड़ियों ने इसलिए इसे आगे बढ़ाने की गुहार लगाई है क्योंकि इस तारीख से पहले कई बड़ी प्रतियोगितायों को रद्द कर दिया गया है।

रेस वॉकिंग की बात करें तो भारत की और से भावना जाट ने 2020 ओलंपिक गेम्स में स्थान हासिल कर लिया है। यह उपलब्धि उन्होंने 7वें नेशनल ओपन रेस वॉकिंग में नेशनल रिकॉर्ड तोड़ कर हासिल की है।