जानिए ISSF इवेंट रद्द होने के बाद भारतीय शूटर अंजुम मोदगिल क्या कर रहीं हैं ?

चंडीगढ़ की 26 वर्षीय राइफल शूटर को पिछले साल अर्जुन अवार्ड से नवाज़ा गया था।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

कोरोना वायरस (COVID-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं, इस वायरस के बढ़ते प्रकोप के नई दिल्ली में मार्च के महीने में होने वाले आईएसएसएफ वर्ल्ड कप (ISSF World Cup) को रद्द कर दिया गया। जिससे भारतीय निशानोबाज़ों में काफी निराशा देखने को मिली। वहीं, इसी को लेकर अर्जुन अवार्ड से सम्मानित भारतीय शूटर ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत की और इवेंट से लेकर ट्रेनिंग तक कई पहलुओं को साझा किया।

भारतीय शूटर अंजुम मोदगिल (Anjum Moudgil) ने बताया कि प्रतियोगिता रद्द होने के बाद कैंप में सभी शूटर इवेंट को लेकर भ्रमित थे। यहां तक कि सभी शूटर किसी चीज की परवाह किए बिना अपनी ट्रेनिंग पर ध्यान केंद्रित कर रहे थे।     

अंजुम ने हिंदुस्तान टाइम्स (HT) से बात करते हुए कहा, "कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर में कई अन्य खेल प्रतियोगिताएं भी प्रभावित हुईं हैं। इसलिए हम जानते थे कि कुछ भी भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है। हालांकि हम इस प्रतियोगिता के रद्द होने की खबर की पुष्टि का इंतजार कर रहे थे। हम सभी अपनी ट्रेनिंग पर ध्यान केंद्रित कर रहे थे और इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था कि आगे क्या होगा।"

चंडीगढ़ की 26 वर्षीय अंजुम मोदगिल को 2019 में अर्जुन अवार्ड से नवाज़ा गया था।

भारत को अपने निशानेबाज़ी दल से हैं बड़ी उम्मीदें

भारत को ओलंपिक में अपने निशानेबाज़ी दल से बड़ी उम्मीदें हैं, क्योंकि अब तक 15 भारतीय निशानेबाज़ों ने 2020 ओलंपिक के लिए अपने-अपने इवेंट में कोटा हासिल कर लिया है। जिसमें अंजुम मोदगिल पहली शूटर थीं, जिन्होंने टोक्यो 2020 में कोटा हासिल करने में सफलता हासिल की।

अंजुम ने सितंबर 2018 में दक्षिण कोरिया के चांगओन में आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप (ISSF World Championship)  में 10 मीटर एयर राइफल में सिल्वर पदक हासिल किया था। इसके साथ ही अंजुम मोदगिल ने 2018 कॉमनवेल्थ गेम (Commonwealth Games) में 50 मीटर राइफल स्पर्धा में भी रजत पदक पर कब्ज़ा जमाया था।

अंजुम मोदगिल 2018 में विश्व में महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल की ISSF रैकिंग में दूसरे नंबर पर रहीं और इसके साथ ही वह 2019 में महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन इवेंट में पहले स्थान पर काबिज रहीं। बताते चलें कि अंजुम मोदगिल को अर्जुन अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है।

फिलहाल अब अंजुम मोदगिल कोरोना वायरस के प्रकोप को लेकर ट्रेनिंग छोड़ खुद को आइसोलेट कर चुकी हैं। वहीं, इस पर आगे अंजुम मोदगिल ने कहा, "हां इस समय ट्रेनिंग और प्रतिस्पर्धी माहौल को दूर रखना काफी मुश्किल है। खासकर जब ओलंपिक सिर्फ कुछ महीने ही दूर है, लेकिन यह एक अंतरराष्ट्रीय मुद्दा है और सभी को इसके लिए जिम्मेदारी लेना चाहिए।"