एलावेनिल वलारिवन ने बांग्लादेश में आयोजित इनविटेशनल शूटिंग मीट में जीता गोल्ड मेडल

विश्व में शीर्ष क्रम की राइफल निशानेबाज़ एलावेनिल वलारिवन ने ऑनलाइन प्रतियोगिता में 627.5 के स्कोर के साथ स्वर्ण पदक जीता। जबकि शाहू तुषार माने ने पुरुषों की स्पर्धा में रजत पदक जीता।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

10 मीटर एयर राइफल वुमेंस में दुनिया की नंबर-1 और भारत की सबसे युवा संभावनाओं में से एक इलावेनिल वलारिवन (Elavenil Valarivan) ने रविवार को शेख रसेल इंटरनेशनल एयर राइफल चैंपियनशिप (Sheikh Russel International Air Rifle Championship) में जीत के साथ अपने पोस्ट-लॉकडाउन सीज़न को फिर से शुरू किया।

ऑनलाइन इवेंट में प्रतिस्पर्धा करते हुए 21 वर्षीय एलावेनिल ने 627.5 का स्कोर हासिल किया और स्वर्ण पदक पदक पर कब्ज़ा किया। जापान की शियोरी हिरता (Shiori Hirata) ने 622.6 के स्कोर के साथ रजत पदक जीता जबकि इंडोनेशिया की विद्या तोयिबा (Vidya Toyyiba) ने 621.1 के साथ कांस्य पदक जीता।

पुरुष वर्ग में जापान के रियो ओलंपियन नाओया ओकाडा (Naoya Okada) ने 623.9 के स्कोर के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम किया। जबकि भारत के शाहू तुषार माने (Shahu Tushar Mane) ने 623.8 के स्कोर के साथ रजत पदक जीता। बांग्लादेश के बकी अब्दुल्ला हेल (Baki Abdullah Hel) ने 617.3 का स्कोर हासिल किया और उन्हें कांस्य पदक मिला।

एलावेनिल वलारिवन दुनिया की नंबर 1 एयर राइफल महिला निशानेबाज हैं। फोटो: ISSF

बांग्लादेश शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (BSSF) द्वारा आयोजित, 60-शॉट्स प्रतियोगिता की मेजबानी बांग्लादेश के संस्थापक फादर शेख मुजीबुर रहमान के सबसे छोटे बेटे और प्रधान मंत्री शेख हसीना के बेटे शेख रसेल की जयंती मनाने के लिए की गई थी।

इस आयोजन में छह देशों ने भाग लिया। मेजबान बांग्लादेश के अलावा जापान, कोरिया, इंडोनेशिया, भूटान और भारत शामिल थे। 

प्रत्येक देश में प्रतियोगिता का निरीक्षण करने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (ISSF) जूरी सदस्य भी था।

इस बीच, नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय शिविर में ओलंपिक कोर ग्रुप में शामिल हुए शूटर सात दिनों के अनिवार्य क्वारनटाइन अवधि को पूरा करने के बाद रेंज में उतरने के लिए तैयार हैं।

हालांकि, ओलंपिक कोर ग्रुप में शामिल एलावेनिल वलारिवन को अपनी शैक्षणिक प्रतिबद्धताओं के कारण राष्ट्रीय शिविर से बाहर रखा गया है। 2018 यूथ ओलंपिक में रजत पदक विजेता शाहू तुषार माने को ओलंपिक कोर ग्रुप में शामिल नहीं किया गया है।