भारतीय निशानेबाज़ों ने बेडरूम और बेसमेंट को बनाया शूटिंग रेंज, मनु भाकर और अमनप्रीत का दिखा जलवा

भारत के टॉप रैंक 10मी एयर राइफल शूटर दिव्यांश सिंह पनवार चौथे स्थान पर रहे।

भारतीय निशानेबाज़ मनु भाकर (Manu Bhaker) और अमनप्रीत सिंह (Amanpreet Singh) ने अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन शूटिंग चैंपियनशिप (International Online Shooting Championship) में अपने शूटिंग कौशल से सभी को प्रभावित किया है। अपने-अपने घरों में निर्धारित किए गए इलेक्ट्रॉनिक लक्ष्यों के साथ, सात देशों के कुल 50 निशानेबाज़ों ने बुधवार को इस प्रतियोगिता में भाग लिया।

निशानेबाज़ अपने कैमरे को एक निश्चित दिशा में करते हैं, जिससे उनको निशाना लगाते हुए और निशाना लगाने वाले लक्ष्य को आसानी से देखा जा सकता है। इसके बाद निशानेबाज़ निशाना लगाते हुए देखे जाते हैं।

हालांकि, इस नए इतिहास का हिस्सा बनना निशानेबाज़ों के लिए आसान नहीं था। क्योंकि ऑनलाइन प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए निशानेबाज़ों को 10मी दूरी से शूटिंग करने के लिए अपने बेडरूम, बालकनी और बेसमेंट में काफी बदलाव करने पड़े।

576 अंक के साथ अमनप्रीत सिंह 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में शीर्ष पर रहे, वहीं आशीष डब्बास (Ashish Dabbas) 575 अंकों के साथ दूसरे और मनु भाकर 572 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

ऑनलाइन शूटिंग के इस सत्र के समाप्त होने के बाद मनु भाकर ने कहा, “टारगेट सिस्टम में कुछ तकनीकी ख़राबी ज़रूर थी, लेकिन मुझे लगता है कि यह एक शानदार पहल है। हम सभी एक साथ हैं, शूटिंग की इस प्रतियोगिता का एक हिस्सा बनकर बहुत अच्छा लगा।”

10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में आस्ट्रिया के मार्टिन स्ट्रेम्पफ्ले (Martin Strempfl) ने 632.5 के स्कोर के साथ शीर्ष पर रहे और भारत की मेघना सज्जनर (Meghana Sajjanar) 630.5 अंकों के स्कोर के साथ दूसरे स्थान पर रहीं, जबकि फ्रांस के एटिएन जर्मोंड (Etienne Germond) 629.4 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

डगमगाया प्रदर्शन

भारत के वर्ल्ड नम्बर-1, 10 मीटर एयर राइफल शूटर दिव्यांश सिंह पनवार (Divyansh Singh Panwar) 627.8 अंकों के स्कोर के साथ चौथे स्थान पर रहे। उन्होंने अपने बेडरूम से निशाना लगाने के लिए रेंज तैयार की। उसके लिए उन्होंने अपने कमरे के दरवाजे को खोलकर घर के गलियारे में कपड़े के शेल्फ पर अपना लक्ष्य बनाया।

दिव्यांश सिंह पनवार 627.8 के स्कोर के साथ ऑनलाइन शूटिंग चैंपियनशिप में चौथे स्थान पर रहे।
दिव्यांश सिंह पनवार 627.8 के स्कोर के साथ ऑनलाइन शूटिंग चैंपियनशिप में चौथे स्थान पर रहे।दिव्यांश सिंह पनवार 627.8 के स्कोर के साथ ऑनलाइन शूटिंग चैंपियनशिप में चौथे स्थान पर रहे।

संजीव राजपूत अपने बेसमेंट से शूटिंग कर रहे थे। उन्हें बीच में महसूस हुआ कि उनका रिमोट काम नहीं कर रहा है, इसलिए उन्होंने फिर से निशाने लगाना शुरू किया।

जबकि अधिकांश निशानेबाज़ो ने इस दूरी को हासिल करने में आसानी से कामयाबी हासिल कर ली। जैसे कि जर्मोंड एटिने ने बाद में स्वीकार किया कि वह केवल अपने और लक्ष्य के बीच सात मीटर की दूरी बना सकती हैं।

मनु भाकर ने प्रतियोगिता के बीच ईएसपीएन को बताया, “यह एक ही लेन में शूटिंग करने जैसा है। यह बहुत धीमी प्रक्रिया है। मैं इसमें उतनी जल्दी शूट नहीं कर सकती, जितना मैं कैंप में कर लेती हूं। इसमें आपको मैन्युअल रूप से टारगेट लोड करना पड़ता है, जिसमें काफी समय लगता है, लेकिन यह ठीक है।"

एक बेहतर विकल्प

इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (ISSF) इस साल के सभी इवेंट्स को रद्द कर रहा है। देशभर में लागू लॉकडाउन के चलते शूटर्स अभ्यास रेंज से दूर अपने घरों तक सीमित हैं। ऐसे में ऑनलाइन शूटिंग चैंपियनशिप एकमात्र मंच है, जिसके ज़रिए शीर्ष निशानेबाज़ शूटिंग का आनन्द ले सकते हैं।

हालांकि ऑनलाइन टूर्नामेंट के बहुत से पहलुओं को साइमन शरीफ को दुरुस्त करने की ज़रूरत है। यह वो शख़्स हैं, जिन्होंने इस टूर्नामेंट का आयोजन किया। उनका मानना है कि ऑनलाइन प्रारूप आने वाले दिनों में काफी प्रचलित होगा।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!