ISSF वर्ल्ड कप शॉटगन: फिनलैंड में भारतीय निशानेबाज़ों का सफर मुश्किल

फिनलैंड में बुधवार से शुरू हो रहा आईएसएसएफ वर्ल्ड कप शॉटगन भारतीय निशानेबाज़ों के लिए बेहद खास है। ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिए यह आखिरी मौका होगा।

लेखक रितेश जायसवाल ·

फिनलैंड के लहाटी में इस सप्ताह 15 अगस्त से आईएसएसएफ विश्व कप शॉटगन शुरू हो रहा है। इस प्रतियोगिता में दुनियाभर के सर्वश्रेष्ठ निशानेबाज़ पदक हासिल करने की दौड़ में शामिल होंगे। इसमें अच्छा प्रदर्शन करने वाले शीर्ष के दो खिलाड़ियों को कोटा स्थान के तहत टोक्यो 2020 में खेलने का मौका प्राप्त हो सकता है।

भारतीय निशानेबाज़ों को इसके अलावा एक बार और एशियाई शूटिंग चैंपियनशिप में भी ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मौका मिलेगा। यह प्रतियोगिता इसी वर्ष नवंबर में दोहा में शुरू होगी।

हालांकि मनु भाकर, सौरभ चौधरी और राही सरनोबत जैसे देश के कई प्रमुख निशानेबाजों ने ओलंपिक कोटा पहले ही प्राप्त कर लिया है। लेकिन भारत को शॉटगन में अभी भी कोटा हासिल करना बाकी है। ऐसे में लाहटी में होने वाली प्रतियोगिता में खिलाड़ियों पर कोटा स्थान हासिल करने का काफी दबाव रहेगा।

भारत की शीर्ष रैंक मार्क्सवूमेन में से एक हैं शगुन चौधरी

भारत की उम्मीदों के सितारे

भारतीय खिलाड़ियों की वर्तमान लय को देखा जाए तो टोक्यो 2020 के लिए क्वालीफाई करने का सफर खासा मुश्किल नज़र आ रहा है। क्योंकि इस साल हुए किसी भी आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में कोई भी भारतीय खिलाड़ी टॉप 5 में अपनी जगह बनाने में नाकाम रहा है। 

हालांकि, कायनन चेनाई और मानवजीत सिंह सांधू जैसे देश के कई प्रतिभाशाली शॉटगन खिलाड़ियों ने अतीत में हुई कुछ बड़ी प्रतियोगिताओं में काफी बेहतर प्रदर्शन किया है। 

महिला खिलाड़ियों की बात करें तो सीमा तोमर और शगुन चौधरी को देश की शीर्ष उम्मीदवार के तौर पर देखा जा रहा है। लेकिन इन्हें शीर्ष स्थान प्राप्त पेरीली एलेसांड्रा और कॉज़ी मेलानी जैसी खिलाड़ियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना होगा। ये दोनों खिलाड़ी भी ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में अपनी जगह पक्की करने के इरादे से इस प्रतियोगिता में उतरेंगी।

पिछले वर्ष की बात करें तो भारत के अधिकांश शॉटगन निशानेबाज़ अपनी लय और निरंतरता को हासिल करने में संघर्ष करते हुए दिखाई दिए थे। ऐसे में आगामी विश्व कप इन खिलाड़ियों के लिए एक कठिन चुनौती होगी।

आपको बता दें, लाहटी में भारत की ओर 12 खिलाड़ी भाग लेने जा रहे हैं। लेकिन खराब फॉर्म में चल रहे देश के निशानबाज़ों के लिए इस उच्च स्तरीय प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करना काफी मुश्किल भरा काम हो सकता है।

प्रतियोगिता में शामिल होने वाले भारतीय खिलाड़ी

अंगद वीर सिंह बाजवा - मेन्स स्कीत

मेराज खान - मेन्स स्कीत

अनंत सिंह नरुका - मेन्स स्कीत

मानवजीत सिंह सांधू - मेन्स ट्रैप

कायनन चेनाई - मेन्स ट्रैप, मिक्स्ड टीम ट्रैप

पृथ्वीराज टोंडाईमान - मेन्स ट्रैप, मिक्सड टीम ट्रैप

अरीबा खान - वूमेन्स स्कीत

कार्तिकी शक्तावत - वूमेन्स स्कीत

सनिया शेख - वूमेन्स स्कीत

मनीषा कीर - वूमेन्स ट्रैप

सीमा तोमर - वूमेन्स ट्रैप, मिक्स्ड टीम ट्रैप

शगुन चौधरी - वूमेन्स ट्रैप, मिक्सड टीम ट्रैप