भारतीय निशानेबाजों को घर पर रहने में मदद के लिए दिया जाएगा सिमुलेटर

कोरोना वायरस (COVID-19) के प्रकोप के कारण वो घर पर रहने के लिए मजबूर हैं, अब भारतीय निशानेबाज़ अपनी सहायता के लिए एक नया उपकरण प्राप्त करेंगे।

घर पर रह रहे भारतीय निशानेबाजों का अभ्यास आने वाले समय में एक अनोखे बदलाव से गुजरने वाला है, क्योंकि उन्हें अपना ध्यान बनाए रखने में मदद करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक शूटिंग रेंज सिमुलेटर प्रदान किया जाएगा।

SIUS एस्कॉर एक स्विस कंपनी है, जो अंतरराष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन (ISSF) की इलेक्ट्रॉनिक स्कोरिंग प्रणाली का निर्माण करती है, वो आने वाले दिनों में अपनी शूटिंग रेंज टोरगेट सिस्टम भारतीय निशानेबाजों तक पहुंचाएगी।

पूर्व भारतीय शूटर और वर्तमान राष्ट्रीय पिस्टल कोच, जसपाल राणा ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) को बताया कि “हम पहले से ही इसे प्राप्त करने के लिए काम कर रहे हैं, लेकिन अभी भी एक महीने का समय लग सकता है। SIUS एस्कॉर की रेंज शूटरों को कम से कम घर के अंदर अभ्यास करने में मदद करेगी।”

मनु भाकर के लिए 2019 एक शानदार साल था, जहां उन्होंने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में ओलंपिक कोटा हासिल किया और पांच विश्व कप स्वर्ण पदक के साथ घर लौटीं। फोटो: ISSF
मनु भाकर के लिए 2019 एक शानदार साल था, जहां उन्होंने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में ओलंपिक कोटा हासिल किया और पांच विश्व कप स्वर्ण पदक के साथ घर लौटीं। फोटो: ISSFमनु भाकर के लिए 2019 एक शानदार साल था, जहां उन्होंने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में ओलंपिक कोटा हासिल किया और पांच विश्व कप स्वर्ण पदक के साथ घर लौटीं। फोटो: ISSF

जसपाल राणा ओलंपिक के लिए आश्वस्त हैं

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) द्वारा टोक्यो ओलंपिक को एक साल के लिए स्थगित करने के फैसले का भारतीय एथलीटों ने स्वागत किया और जसपाल राणा ने भी इस फैसले का समर्थन किया।

कई बार एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले जसपाल राणा ने कहा “सुनिश्चित तौर पर ये एक बड़ा बदलाव होने जा रहा है। खेलों के सबसे बड़े इवेंट में प्रदर्शन करने के लिए एथलीट पिछले तीन वर्षों से अपने खेल पर अथक प्रयास कर रहे हैं।”

"लेकिन, कहा जाता है कि, जब हम अपने जीवन में किसी ऐसी चीज का सामना करते हैं जिसका हमने कभी अनुभव या कल्पना भी नहीं की हो तो हम उसके लिए शिकायत नहीं कर सकते हैं। मैं खेलों को स्थगित करने के IOC के फैसले का समर्थन करता हूं। जारी निर्देशों का पालन करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं है।”

इस बार टोक्यो ओलंपिक में जाने के लिए भारतीय निशानेबाजों की सबसे बड़ी टीम शामिल है, जिसमें पहले से सुरक्षित 15 कोटा स्थान हैं और इसमें अगर बढ़ोतरी होती है तो भारत का फायदा ही है।

मनु भाकर (Manu Bhaker), अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma) और चिंकी यादव ( Chinki Yadav) से पदक की उम्मीद करने वाले कोच जसपाल राणा ने खुलासा किया कि वो लगातार अपने प्रोटेगेस के संपर्क में हैं और COVID-19 महामारी द्वारा आवश्यक लॉकडाउन के के पहले वो आउटडोर ट्रेनिंग से पहले ही एक ओलंपिक ट्रायल से गुजर चुके हैं। वो अच्छे फॉर्म में हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!