खेल रत्न के लिए NRAI ने की अंजुम मोदगिल की सिफ़ारिश तो अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा मनु भाकर का नाम

अंजुम मोदगिल और मनु भाकर दोनों ही खिलाड़ी टोक्यो ओलंपिक 2021 के लिए क्वालिफ़ाई कर चुकी हैं।

नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) ने भारतीय राइफल शूटर और पूर्व विश्व नंबर 1 अंजुम मोदगिल (Anjum Moudgil) का नाम देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए भेजा है।

26 साल की इस शूटर ने 2018 ISSF विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था।।

महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन और 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में प्रतिस्पर्धा करने वाली अंजुम मोदगिल ने 2019 में 63वें नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप का खिताब जीता और पिछले साल विश्व कप में 10 मीटर एयर राइफल मिक्स इवेंट का गोल्ड अपने नाम किया। जो कि पिछले साल म्यूनिख और बीजिंग में खेला गया था।

पिछले साल महिलाओं की 50 मीटर 3 पोजिशन रैंकिंग में वर्ल्ड नंबर वन होने के साथ साथ अंजुम 10 मीटर एयर राइफल रैंकिंग में दूसरे स्थान पर रहीं

अंजुम मोदगिल ने राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट होने के बाद टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान कहा कि “यह मेरे लिए आश्चर्यजनक है, मैं और मेरे परिवार वाले गर्व महसूस कर रहे हैं।” यह अवॉर्ड जीतने पर खिलाड़ी को पदक, एक प्रमाण पत्र और एक नकद पुरस्कार प्रदान किया जाता है।

अंजुम मोदगिल के अलावा नेशनल शूटिंग फेडरेशन ने लगातार दूसरी बार जसपाल राणा (Jaspal Rana) का नाम द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए भेजा है

एशियन गेम्स में 4 बार गोल्ड मेडल पर निशाना लगाने वाले जसपाल राणा ने कोच के रूप में मनु भाकर (Manu Bhaker), सौरभ चौधरी (Saurabh Chaudhary), अनीश भानवाला (Anish Bhanwala) और कई शूटर्स को विश्व स्तर पर पहचान दिलाने में अहम भूमिका निभाई है।

एथलीटों को सफलतापूर्वक प्रशिक्षण देने वाले कोचों को सम्मान के रूप में द्रोणाचार्य पुरस्कार दिया जाता है। इस पुरस्कार में नकद राशि भी शामिल होती है।

अर्जुन अवार्ड के लिए मनु भाकर, सौरभ चौधरी के नाम की सिफ़ारिश

अंजुम मोदगिल के अलावा NRAI ने सौरभ चौधरी, अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma), मनु भाकर और एलावेनिल वलारिवन (Elavenil Valarivan) का नाम अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा गया है।

अपने यूथ ओलंपिक के दिनों से 18 साल की मनु भाकर भारत की उभरती स्टार है। ये खिलाड़ी अब तक छह आईएसएसएफ विश्व कप स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमा चुकी है।

ISSF म्यूनिख विश्व कप में अपने 10 मीटर एयर पिस्टल प्रदर्शन के माध्यम से भारत का सातवां शूटिंग ओलंपिक कोटा हासिल करने वाली हरियाणा की ये शूटर टोक्यो ओलंपिक में भारत की बड़ी उम्मीद है। उनके हमवतन सौरभ चौधरी और अभिषेक वर्मा ने भी देश के लिए ओलंपिक कोटा हासिल किया है।

जहां एक तरफ सौरभ चौधरी ने दिल्ली में हुए आईएसएसएफ वर्ल्डकप में वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ते हुए गोल्ड मेडल जीता और ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया तो दूसरी तरफ अभिषेक वर्मा ने आईएसएसएफ बीजिंग वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

10 मीटर एयर राइफल आईएसएसएफ रैंकिंग में नंबर एक पर काबिज एलावेनिल वलारिवन भी लगातार सुर्खियां बटोर रही हैं।

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता गगन नारंग (Gagan Narang) से प्रशिक्षण ले रही 20 साल की इस खिलाड़ी ने पिछले साल आईएसएसएफ वर्ल्डकप फाइनल में गोल्ड पर निशाना लगाया था।

एक से बढ़कर एक खिलाड़ी

अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में भारत 15 शूटर्स भेजेगा, यह किसी भी ओलंपिक खेलों में भारत की तरफ से शूटिंग में सबसे बड़ा दल होगा।

एनआरएआई (NRAI) के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने खुलासा किया कि नामों का चयन करते समय काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। उन्होंने बताया कि “हमारे निशानेबाजों का पिछले सीज़न में शानदार प्रदर्शन रहा था इसलिए नामों का चयन करने में काफी मुश्किल आई”।

इसके अलावा रनिंदर सिंह ने कहा कि "मेरा मानना है कि सभी समान रूप से प्रतिभाशाली हैं और निश्चित रूप से अगर वह ऐसे ही प्रदर्शन करते रहे तो समृद्ध पुरस्कारों को प्राप्त करेंगे।"

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!