ISSF विश्व कप में भारतीय शूटर नहीं होंगे शामिल

अंजुम मौदगिल, अभिषेक वर्मा जैसे भारतीय शूटर भी ISSF में भाग नहीं ले रहे हैं और अब वो नेशनल में स्पर्धा करते हुए नज़र आ सकते हैं।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भारतीय शूटर इंटरनेशनल शूटिंग फेडरेशन वर्ल्ड कप, चांगवान, साउथ कोरिया का हिस्सा नहीं होंगे। नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया ने सोमवार को इस खबर पर मुहर लगाई है।

चांगवान में आईएसएसएफ वर्ल्ड कप 16 से 27 अप्रैल तक खेला जाएगा और यह माना जा रहा था कि भारतीय शूटर इसमें भाग लेकर अपने कौशल को और भी मांझने का काम करेंगे जिसके फायदा उन्हें टोक्यो ओलंपिक गेम्स में मिलेगा।

साउथ कोरिया और जापांका समय लगभग एक ही है तो ऐसे में वहां की परिथितियों का भी अंदाजा लगाया जा सकता है।

साउथ कोरिया के नियमों को देखें तो हर खिलाड़ी को 14 दिन तक क्वारंटाइन करना ही होगा और NRAI इस बात से ज़्यादा खुश नहीं लग रही। उनका मानना है कि लंबा क्वारंटाइन का समय खिलाड़ियों के लिए नुकसानदायी हो सकता है।

चांगवान इवेंट पिस्टल, शॉटगन और राइफल का कंबाइंड इवेंट है और नई दिल्ली में होने वाला ISSF वर्ल्ड कप भी इसी प्रकार से खेला जाएगा। ISSF वर्ल्ड कप 18 से 29 मार्च के बीच खेला जाएगा।

भारतीय शूटरों को व्यस्त रखने के लिए NRAI उसी समय नेशनल का आयोजन करेगी। 64वें नेशनल को 10 से 20 अप्रैल के बीच आयोजित किया जाएगा। वहीं शॉटगन इवेंट को 10 से 24 अप्रैल तक डॉ करणी सिंह शूटिंग रेंज में खेला जाएगा। पिस्टल ईंट भी 11 से 29 अप्रैल के बीच होगा।

वहीं राइफल इवेंट को भोपाल ले जाया जाएगा और इसका आयोजन 14 से 29 अप्रैल के बीच होगा। प्रतियोगिता को संपन्न करने के लिए आयोजकों को कम से कम दो वेन्यू का प्रयोग करना ही होगा। यह नियम कोरोना वायरस (COVID-19) से सुरक्षा के लिए बनाए गए हैं।

अब जब ISSF वर्ल्ड कप में भारतीय शूटर हिस्सा नहीं ले रहे तो ऐसे में नेशनल के मायने और भी बढ़ जाते हैं और इसमें प्रतिभागियों की ज़्यादा देखने को मिल सकती है। ऐसे में 15 ओलंपिक कोटा विजेताओं को भी एक बार एक छत के नीचे देखा जा सकता है।