मनु भाकर इस अंदाज़ में कर रही हैं ओलंपिक की तैयारी

भारतीय पिस्टल शूटर योग, मेडिटेशन और उन चीजों में व्यस्त है जो उन्हें टोक्यो 2020 के लिए तैयार होने के साथ-साथ 'शांत और संयत' रहने में मदद कर सकते हैं।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के कारण दुनिया भर में व्याप्त अनिश्चितताओं से प्रभावित, भारत की दिग्गज़ पिस्टल शूटर मनु भाकर (Manu Bhaker) ने आश्वासन दिया है कि आगामी ओलंपिक के लिए उनकी तैयारी योजना के अनुसार चल रही है।

उन्होंने कहा, 'जब भी ओलंपिक होता है, वो बहुत बड़ा इवेंट होता है, इसलिए हमें तैयार रहने की जरूरत है। मैं ओलंपिक की योजना के अनुसार तैयारी कर रहा हूं, '' उन्होंने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) को दिए एक इंटरव्यूव में बताया कि "शूटिंग में अब प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है, विशेष रूप से 2019 और उसके बाद, और इसके स्कोर से ये साफ हो जाता है कि किस कदर इस खेल में प्रतिस्पर्धा बढ़ी है।"

हरियाणा के झज्जर ज़िला की रहने वाली 18 वर्षीय शूटर के लिए साल 2019 एक सफल वर्ष था। मनु भाकर ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में ओलंपिक कोटा हासिल किया है और पिछले साल व्यक्तिगत और टीम स्पर्धाओं में पांच विश्व कप स्वर्ण पदक के साथ घर लौटी थीं। लेकिन अगर इस पर गौर करें तो तस्वीर थोड़ी अलग ही दिखाई देगी।

मनु भाकर भी इंटरनेशनल ऑनलाइन शूटिंग चैंपियनशिप में लेंगी हिस्सा। तस्वीर साभार: ISSF

नई दिल्ली, बीजिंग, म्यूनिख और रियो डी जनेरियो में स्वर्ण पदक जीतने के लिए अपने जोड़ीदार 18 वर्षीय सौरभ चौधरी के साथ साझेदारी करने वाली मनु भाकर ने मिश्रित इवेंट में अपनी प्रतिभा का सबसे अच्छा इस्तेमाल किया, लेकिन उनके जोड़ीदार के व्यक्तिगत प्रदर्शन में गिरावट देखने को मिली है।

जहां पिछले साल नई दिल्ली विश्व कप में 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में भारतीय जोड़ी फाइनल में जगह बनाने में असफल रही, वहीं 25 मीटर स्पोर्ट्स पिस्टल में, मनु भाकर अपने घरेलू दर्शकों के सामने प्रदर्शन करने के बावजूद पांचवें स्थान पर रही। बीजिंग में हालात और खराब हो गई और इसलिए वो अपनी दोनों पिस्टल स्पर्धाओं में फाइनल में जगह बनाने में असमर्थ रहीं।

हालांकि म्यूनिख में उनकी किस्मत ने मोड़ लिया और प्रदर्शन में सुधार देखने को मिला। उपकरण की खराबी की वजह से मनु भाकर को 25 मीटर स्पोर्ट्स पिस्टल के पोल पोजीशन में तीन सीरीज़ के पहले ही बाहर होना पड़ा। लेकिन खराब किस्मत भी मनु भाकर को रोक नहीं पाई और उन्होंने अगले ही दिन 10 मीटर एयर पिस्टल में एक ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया।

2019 रहा मनु भाकर के लिए शानदार साल

बाद में भारतीय शूटर ने अपने पहले विश्व कप फाइनल में 10 मीटर एयर पिस्टल में प्रथम स्थान हासिल कर गोल्ड अपने नाम कर लिया। शायद यही कारण है कि मनु भाकर अपने उतार-चढ़ाव भरे फॉर्म को लेकर चिंतित नहीं हैं।

मनु भाकर ने कहा कि “मैं घर पर आराम कर रही हूं। वर्तमान स्थिति मेरी तैयारी और मानसिकता को प्रभावित नहीं कर रही। मैं अपने योग सेसन, मेडिटेशन और उन चीजों को जारी रख रही हूं, जो मुझे शांत और संयमित रहने में मदद कर रही हैं।”

शांत और संयमित स्थिति इस अनिश्चित समय में उनकी मदद कर रही है, ये आश्चर्य की बात नहीं होगी, कि जब शूटिंग फिर से शुरू हो जाए तो मनु भाकर अपने खेल में शीर्ष स्थान हासिल कर लेंगी।