ISL 2020-21 से पहले 6 फुटबॉल खिलाड़ी पाए गए कोरोना पॉज़िटिव

कोरोना पॉज़िटिव हुए खिलाड़ियों के नाम तो नहीं बताए गए हैं लेकिन जानकारी यह मिली है कि वह एटीके मोहन बागान, एफ़सी गोवा और हैदराबाद एफ़सी की ओर से खेलते हैं।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

अब जब इंडियन सुपर लीग (Indian Super League - ISL)  सीज़न 202021 की शुरुआत में दो महीने रह गए हैं तो ऐसे में उनके खेमे से कोरोना वायरस (COVID-19) की ख़बरें निकल कर आ रही हैं। ISL की तीन टीमों के 6 खिलाड़ियों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है।

ग़ौरतलब है कि दो खिलाड़ी इस बीमारी से ठीक हो गए हैं और बाकी 4 खिलाड़ियों को उनके घर पर क्वारंटाइन करने के लिए कहा गया है। भारतीय फुटबॉल खिलाड़ियों के नामों की तो घोषणा नहीं की गई है लेकिन टाइम्स ऑफ़ इंडिया की मानें तो वह खिलाड़ी एटीके मोहन बागान, एफ़सी गोवा और हैदराबाद एफ़सी के हैं।

नवंबर से शुरू हो रही इस फुटबॉल लीग की टीमों के लिए यह अच्छी खबर नहीं है। हर बड़ी प्रतियोगिता से पहले, टीमों को उसकी तैयारी में देखा जाता है और ऐसे हालातों में इन 3 टीमों को कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

ISL 2020-21 सीज़न के मुकाबले बिना दर्शकों के गोवा के तीन स्टेडियम में खेले जाएंगे। इंडियन सुपर लीग की शुरुआत साल 2014 में हुई थी और यह भारत की प्रतिष्ठित फुटबॉल लीग में आती है।

फातोर्डा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम उन तीन स्टेडियम में से एक है जहां ISL 2020-21 का सीज़न खेला जाना है। तस्वीर साभार: AIFF

टीमों में कोरोना का खतरा तब दिखा जब ISL दिशा निर्देशों के तहत टीमों ने टेस्ट करने शुरू किए। इन्हीं टेस्ट की बदौलत एक खिलाड़ी गोवा में बायो सिक्योर बबल में जा सकता है और सुरक्षा के साथ खेल सकता है।

ISL के लिए अच्छी ख़बर यह है कि 2018-19 के विजेता बेंगलुरु एफसी और दो बार फाइनल का हिस्सा रह चुकी केरला ब्लास्टर्स के सभी खिलाड़ी कोरोना नेगेटिव निकले हैं और वह कुछ दिनों में ही गोवा के लिए रवाना हो जाएंगे।

जमशेदपुर एफ़सी, चेन्नईयिन एफ़सी, मुंबई एफ़सी, ओड़िशा एफ़सी, नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफ़सी जैसे ISL क्लबों ने अभी टेस्ट नहीं कराएं हैं।

ISL के लिए कोरोना के दिशा नोर्देश

ISL के दिशा निर्देशों की बात करें तो सभी खिलाड़ी, कोच और सपोर्ट स्टाफ को गोवा जाने से 48 घंटे पहले कोरोना नेगेटिव होना पड़ेगा। आगमन के समय उनका दोबारा टेस्ट किया जाएगा और साथ ही उन्हें कुछ समय के लिए सेल्फ-आइसोलेशन में भी रखा जाएगा।

अगर कोई भी खिलाड़ी पॉज़िटिव निकलता है तो उसे 14 दिन के आइसोलेशन में रखा जाएगा और सरकार द्वारा निर्देशों का पालन करना होगा।

आइसोलेशन के दौरान तीन RT-PCR टेस्ट किए जाएंगे और इन्हें 10वें, 12वें और 14वें दिन अंजाम दिया जाएगा। सिर्फ नेगेटिव परिणाम वाला खिलाड़ी ही प्रतियोगिता के लिए गोवा के लिए रवाना हो सकता है।