टोक्यो में बेहतर प्रदर्शन के लिए भारतीय तैराक दुबई में करेंगे प्रशिक्षण

SAI ने तीन शीर्ष भारतीय तैराकों को 60 दिनों के लिए दुबई के एक्वा नेशन स्विमिंग अकादमी में ट्रेनिंग करने की व्यवस्था की है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) ने शनिवार को कहा कि भारत के तीन शीर्ष तैराक, विरधवाल खाडे (Virdhawal Khade), श्रीहरि नटराज (Srihari Nataraj) और कुशाग्र रावत (Kushagra Rawat) सितंबर से शुरू होने वाले दो महीने के प्रशिक्षण के लिए दुबई जाएंगे।

ओलंपिक के उम्मीदवार भारतीय तिकड़ी अगले साल टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने की अपनी संभावनाओं को मजबूत करने के लिए कोच एसी जयराज (AC Jairaj) की देखरेख में दुबई के एक्वा नेशन स्विमिंग अकादमी में प्रशिक्षण लेंगे।

इस निर्णय से भारतीय तैराकों को COVID-19 के कारण लंबे अंतराल के बाद प्रशिक्षण को फिर से शुरू करने में मदद मदद मिली है। एक तरह से ये एक बहुत जरूरी कदम उठाया गया। हालांकि अन्य खेलों के लिए प्रशिक्षण की सुविधा धीरे-धीरे लॉकडाउन के बाद खुलने लगी है, भारत में 31 अगस्त तक स्विमिंग पूल को प्रतिबंधित किया गया है।

भारतीय तैराक वीरधवल खाडे दुबई में प्रशिक्षण के लिए साथी ओलंपिक उम्मीदवारी श्रीहरि नटराज और कुशाग्र रावत के साथ जाएंगे

SAI ने कहा, "ये निर्णय मौजूदा स्थिति के बदले लिया गया था क्योंकि COVID-19 महामारी के कारण भारत में स्विमिंग पूल का उपयोग करना सही नहीं होता।"

भारतीय तैराकों के लिए ट्रेनिंग बहुत जरूरी

खाडे (50 मीटर फ़्रीस्टाइल), नटराज (100 मीटर बैकस्ट्रोक) और रावत (400 मीटर फ़्रीस्टाइल) छह भारतीय तैराकों में से तीन हैं, जिन्होंने आगामी ओलंपिक के लिए पहले ही लोवर B क्वालिफिकेशन मार्क या ओलंपिक सेलेक्शन टाइम (OST) हासिल कर लिया है।

A मार्क धारकों के विपरीत, B मार्क वाले तौराकों को सीधे क्वालिफिकेशन नहीं मिलेगी। लेकिन अगर A मार्क वाले तैराकों का कुल कोटा पूरा नहीं होता तो, इन तैराकों को मौका मिलेगा।

तीन अन्य तैराक साजन प्रकाश (Sajan Prakash) (200 मीटर बटरफ्लाई) और 800 मीटर फ्रीस्टाइल आर्यन मखीजा (Aryan Makhija) और अद्वैत पेज (Advait Page) की जोड़ी ने भी B मार्क हासिल किया है। प्रकाश ने थाईलैंड के फुकेट में पहले ही अपना प्रशिक्षण शुरू कर दिया है, जबकि मखीजा और पेज ने इस महीने की शुरुआत में अमेरिका में अपना अभ्यास शुरू किया था।

भारत से बाहर प्रशिक्षण का फिर से शुरू होना, खाडे, नटराज और रावत के लिए एक चुनौती बन गया था।

SAI का मानना ​​है कि दुबई में किया गए प्रशिक्षण एथलीटों को ओलंपिक क्वालीफिकेशन मार्क - A टाइम को प्रशिक्षित करने और उनके समय में सुधार करने में मदद करेगा।

नटराज ने इस कदम का स्वागत किया। "मैं SAI और तैराकी संघ को उनके समर्थन और मदद के लिए धन्यवाद देता हूं।" उन्होंने कहा। “मुझे खुशी है कि ऐसा हुआ।

“मैं बस यंगस्टर्स और अन्य तैराकों से उम्मीद करता हूं कि शुरू में संभावित सूची में भी पूल में वापस आने का मौका मिलेगा।

नटराज ने कहा, “मैं इतने लंबे समय के लिए पूल से बाहर कभी नहीं रहा। मुझे पता नहीं है कि पूल में घुसने के बाद मुझे कैसे लगेगा। लेकिन मुझे एक-डेढ़ महीने में वापस अपने लय में आ जाना चाहिए।”

19 वर्षीय नटराज ने पिछले साल 54.69 सेकंड के राष्ट्रीय रिकॉर्ड के साथ 100 मीटर बैकस्ट्रोक B क्वालिफिकेशन मार्क (55.47 सेकंड) को छूने में सफल रहे थे, लेकिन ए मार्क या ओलंपिक क्वालिफाइंग टाइम (OQT) को पूरा करने के लिए इसे 53.85 सेकंड तक करना होगा।