पोलैंड में टेबल टेनिस में जीत के साथ साथियान गणानाशेखरन ने की वापसी

पोलिश सुपरलीगा में साथियान ने अपनी टीम सोकोलो जारोस्लाव को जीत दिलाने में मदद की, जहां उन्होंने पांच गेम तक चले मुक़ाबले में जीत हासिल की।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

पोलिश सुपरलीगा में शुक्रवार को भारत के साथियान गणानाशेखरन (Sathiyan Gnanasekaran) ने संघर्षपूर्ण मुक़ाबले में जीत हासिल की। इस तरह उन्होंने जीत के साथ प्रतिस्पर्धी टेबल टेनिस में अपनी वापसी की।

अपने क्लब सोकोलो एसए जारोस्लाव के लिए खेलते हुए गणानाशेखरन ने पांच मैचों में एज़िस अव्फीस बाल्टा के ज़ीमोन मालिकी (Szymon Malicki) को 11-3, 5-11, 11-8, 12-14, 11-5 से हराया।

इस मुक़ाबले में सोकोलो एसए जारोस्लाव ने एज़िस एफ़िस बाल्टा को 3-1 से हराया।

ये गणानाशेखरन के लिए एक विशेष जीत थी, जिन्होंने आखिरी बार मार्च में प्रतिस्पर्धी टेबल टेनिस खेला था। यात्रा प्रतिबंधों के कारण गणानाशेखरन मैच से कुछ घंटे पहले ही अपनी पोलिश टीम में शामिल हुए थे।

साथियान गणानाशेखरन ने स्पोर्टस्टार को बताया, "अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर नहीं होने के बावजूद जीत के साथ शुरुआत करना एक बेहतरीन अहसास है। मैं काफी अच्छा था और मेरा खेल सही दिशा में था।"

“शुक्र है, मैंने आखिरी गेम में अच्छी लय पकड़ी और अपनी फॉर्म हासिल की। मैं बेहतर तरीके से आगे बढ़ने में सक्षम था और अधिक आत्मविश्वास के साथ खेला। उम्मीद है, मैं इस लय को आगे आने वाले मैचों में भी जारी रखूं।”

पोलिश सुपरलीगा टेबल टेनिस में साथियान गणानाशेखरन ने जीत के साथ की वापसी।

साथियान को मिला कम अभ्यास का मौका

भले ही पोलिश सुपरलिगा में जीत के साथ शुरुआत करना एक अच्छा अहसास हो, लेकिन उनके लिए परिस्थितियां कुछ ठीक नहीं थीं। साथियान गुरुवार देर रात पोलैंड के जीदांस्क में उतरे और मैच से पहले उन्हें केवल एक घंटे का अभ्यास सत्र मिला।

इसके अलावा, मौसम की ठंड वाली स्थिति ने उसके उनकी स्थिति को और अधिक कठिन बना दिया।

गर्म और आर्द्र जलवायु के लिए जाने जाने वाले चेन्नई के निवासी गणानाशेखरन ने कहा, “ठंड के मौसम के साथ मुकाबला करना आसान नहीं रहा है। इस हॉल के अंदर बहुत ठंड थी, जिससे अपनी लय में खेलना मुश्किल हो गया।”

 “चूंकि मैं लंबे समय से कोई मुक़ाबला नहीं खेल रहा था, इसलिए मुझे रैलियों को जारी रखने में मुश्किल हुई। मेरे पैर सही दिशा में जल्दी नहीं जा रहे थे और खेल के दौरान रणनीति का पता लगाना सबसे बड़ी चुनौती साबित हुई।

भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी ने कहा, "हालांकि, मैंने उस समय गति पकड़ ली जब मैं इस परिस्थिति में ढ़ल गया था।"

साथियान गणानाशेखरन और उनकी टीम सोकोलो एसए जारोस्लाव रविवार को एएसटीएस ओलम्पिया-उनिया ग्रुड्ज़ैडज़ के खिलाफ अपना अगला पोलिश सुपरलिगा मुकाबला खेलेगी।