टोक्यो ओलंपिक को ध्यान में रखते हुए जी साथियान ने पोलैंड की सुपरलीगा टीम से किया करार

27 वर्षीय भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी 2020-21 सीज़न के लिए पोलैंड की सुपरलीगा टीम सोकोलोव एस.ए. जारोस्लॉ के लिए चार से पांच खेलेंगे।

भारतीय टेबल टेनिस स्टार और दुनिया के 32वें नंबर के खिलाड़ी साथियान गणानाशेखरन (Sathiyan Gnanasekaran) ने अगले साल टोक्यो ओलंपिक से पहले जरूरी अभ्यास करने के लिए पोलैंड की सुपरलीगा टीम सोकोलोव एस.ए. जारोस्लॉ के साथ 2020-21 सीज़न के लिए करार किया है।

पोलैंड की यह टेबल टेनिस लीग के इस साल सितंबर में शुरू होगी और जून 2021 तक चलेगी। जी साथियान ने मौजूदा चैंपियन के लिए चार से पांच मैच खेलने पर सहमति जताई है।

चेन्नई का यह टेबल टेनिस खिलाड़ी इससे पहले पोलैंड और जर्मनी में खेल चुका है और उनका जापानी टी-लीग की टीम ओकायामा रिवेट्स के साथ भी करार है। इस लीग में एशिया के कुछ सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी खेलते हुए नज़र आएंगे।

जी सथियान ने स्पोर्टस्टार को बताया, "यह मेरे लिए कुछ शानदार मैचों में अभ्यास करने का एक अच्छा मौका होगा। एशिया के कई शीर्ष खिलाड़ी इस लीग में खेलते हैं। मैंने बहुत अधिक मैचों के लिए करार नहीं किया है, क्योंकि साल 2021 एक ओलंपिक वर्ष है और मैं मुख्य तौर पर आईटीटीएफ प्रो टूर के साथ उसपर ध्यान केंद्रित करना चाहता हूं।”

उन्होंने आगे कहा, "मुझे इसके अनुसार चीज़ें चुनने की स्वतंत्रता है और मैं इसको लेकर काफी उत्सुक हूं।"

अंतिम-16 में भारत के साथियान गनासेकरन की जर्मनी के दिग्गज टिमो बॉल के हाथों 1-4 से हार
अंतिम-16 में भारत के साथियान गनासेकरन की जर्मनी के दिग्गज टिमो बॉल के हाथों 1-4 से हारअंतिम-16 में भारत के साथियान गनासेकरन की जर्मनी के दिग्गज टिमो बॉल के हाथों 1-4 से हार

टूर्नामेंट के राहत भरे शेड्यूल से मिलेगा लाभ

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से कुछ के खिलाफ अपनी बारीकियों का परीक्षण करने के मौके के अलावा जी सथियान का पोलैंड की सुपरलीगा टीम में शामिल होने का निर्णय इस टूर्नामेंट की फ्लेक्सिबल शेड्यूल पर भी टिका हुआ था।

13 टीमों के साथ पोलैंड की सुपरलीगा की प्रत्येक टीम घरेलू सरज़मी की बजाए विदेशी धरती पर मैच खेलेगी। और जापानी लीग की बात करें तो वहां साथियान का एक लंबा करार है। पोलैंड में उनके मुक़ाबले प्रो टूर के लिए उनकी फॉर्म को बेहतर करने का काम करेंगे।

जी सथियान ने आईएएनएस को बताया, "यूरोप में प्रो टूर के दौरान जापान की लीग का आयोजन नहीं होगा। जापान में भी मैं केवल 12 मैच ही खेलुंगा। इसलिए, मैंने सोचा कि जब मैं यूरोप में हूं और किसी भी तरह की अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन नहीं हो रहा है तो क्यों न इस समय अधिक से अधिक मैच प्रैक्टिस की जाए।

27 वर्षीय साथियान ने समझाते हुए कहा, “जापान मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। और जब मैं यूरोप में प्रो टूर के लिए जाऊंगा ही तो मैं अधिक यात्रा करने के बजाय यूरोप में ही रह सकता हूं और पोलैंड में भी मैच खेल सकता हूं।”

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!