दिविज शरण और श्रीराम बालाजी की जोड़ी ने चेक ओपन के सेमीफ़ाइनल में बनाई जगह

भारतीय जोड़ी ने प्रोस्तेजोव में क्वार्टर फाइनल में आंद्रे गोरानसन और गोंकालो ओलिवेरा को सीधे सेटों में हराकर सेमीफाइनल में अपना स्थान पक्का किया।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

अनुभवी भारतीय खिलाड़ी दिविज शरण (Divij Sharan) और एन श्रीराम बालाजी (N Sriram Balaji) ने बुधवार को क्वार्टर फाइनल में आंद्रे गोरानसन (Andre Goransson) और गोंकालो ओलिवेरा (Goncalo Oliveira) को 6-4, 6-1 से हराकर अपना शानदार चेक ओपन अभियान जारी रखा है।

प्रोस्तेजोव में खेले गए प्री-क्वार्टर के मुकाबले में भारतीय जोड़ी ने एलेक्स बोल्ट (Alex Bolt) और मार्क पोलमैन्स (Marc Polmans) की ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी को एक सेट में पिछड़ने के बाद हराया था। हालाँकि, उनका क्वार्टर फाइनल मैच सीधे सेटों में खत्म हुआ।

भारतीय पुरुषों की युगल जोड़ी दिविज शरण और श्रीराम बालाजी ने चेक ओपन के क्वार्टर में जीत हासिल की।

दिविज शरण और श्रीराम बालाजी ने पहले तीन मैचों में दो बार गोरानसन-ओलिवेरा की सर्विस तोड़कर मजबूत शुरुआत की और मैच में 3-0 की बढ़त हासिल की।

हालाँकि, स्वीडिश-पुर्तगाली जोड़ी ने चौथे गेम में भारतीयों को पीछे छोड़ते हुए बाजी मार ली।

दोनों जोड़ियों ने पांचवे और आठवें गेम में एक बार फिर एक-दूसरे की सर्विस तोड़ी, लेकिन शरण और श्रीराम की जोड़ी पहला सेट 6-4 से जीतने में कामयाब रही।

दिविज शरण और श्रीराम बालाजी ने चेक गणराज्य चैलेंजर के सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए दूसरे सेट में तीसरे, पांचवें और सातवें गेम में स्वीडिश-पुर्तगाली जोड़ी की सर्विस तोड़ी।

दिविज शरण और श्रीराम बालाजी अगले दौर में टॉमिस्लाव ब्रकिस-ल्युका मार्गरोली (Tomislav Brkić-Luca Margaroli) और डेविड पोलजैक-डालीबोर स्वेवसीना (David Poljak-Dalibor Svrcina) के बीच होने वाले क्वार्टर फाइनल मुकाबले के विजेता का सामना करेंगे।

अंकिता रैना ने भी अगले दौर में बनाई जगह

इस बीच शीर्ष स्थान पर काबिज भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना (Ankita Raina) और उनकी युगल जोड़ीदार सुजान लामेंस (Suzan Lamens) बुधवार को वॉक-ओवर मिलने के बाद प्राग में 25,000 डॉलर के आईटीएफ टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई।

अंकिता रैना प्राग में महिला एकल में भी प्रतिस्पर्धा कर रही हैं, जहां उन्हें दूसरी वरीयता दी गई है। मंगलवार को जापान के क्योका ओकामुरा (Kyoka Okamura) को 7-5, 6-4 से हराने के बाद वो प्रतिस्पर्धी टेनिस में वापसी के बाद अपनी पहली जीत हासिल करने में सफल रहीं।