लिएंडर पेस ने बनाई दुबई टेनिस चैंपियनशिप के क्वार्टर फ़ाइनल में जगह

भारतीय दिग्गज टेनिस स्टार लिएंडर पेस ने अपने जोड़ीदार मैथ्यू एब्डेन के साथ सीधे सेटों में दर्ज की जीत, प्रजनेश गुणेश्वरन को पहले दौर में ही मिली हार।

मंगलवार को भारतीय टेनिस के सबसे अनुभवी सितारे लिएंडर पेस (Leander Paes) और उनके जोड़ीदार मैथ्यू एब्डेन (Mathew Ebden) ने दूसरी वरीयता प्राप्त क्रोशियाई-स्लोवेकियाई जोड़ी इवान डोडिग (Ivan Dodig) और फ़िलिप पोलासेक (Filip Polasek) को दुबई टेनिस चैंपियनशिप के पुरुष युगल मुक़ाबले के राउंड ऑफ़ 16 में शिकस्त दी।

लिएंडर पेस और मैथ्यू एब्डेन ने पहले सेट में अपने प्रतिद्वंदियों का बराबरी के साथ मुक़ाबला किया, दोनों ही टीमों ने तीसरे और चौथे गेम में अपनी अपनी सर्विस गंवाई। हालांकि इसके बाद भारतीय दिग्गज और उनके ऑस्ट्रेलियाई जोड़ीदार ने 9वें गेम में एक बार फिर सामने वाली टीम की सर्विस तोड़ते हुए बढ़त बनाई और अपनी सर्विस वाला 10वां गेम जीतते हुए 6-4 से पहला सेट जीत लिया।

दूसरे सेट में एक बार फिर कमाल का मुक़ाबला देखने को मिला और दोनों ही टीमों ने अपनी अपनी सर्विस बरक़रार रखते हुए सेट को टाई-ब्रेकर में ले जाने की उम्मीद जगा दी थी। लेकिन सातवें गेम में पेस-एब्डेन की जोड़ी ने डोडिग-पोलासेक की सर्विस तोड़ते हुए बढ़त अपने नाम कर ली थी।

इसके बाद भारतीय-ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी ने डोडिग और पोलासेक को हैरान करते हुए अगली सर्विस वाला गेम भी जीता और फिर उसके बाद एक बार फिर डोडिग-पोलासेक की सर्विस तोड़ते हुए इसे मैच का आख़िरी गेम बना दिया और 6-3 से दूसरा सेट भी जीत लिया। इस तरह से लिएंडर पेस और मैथ्यू एब्डेन ने सीधे सेटों में जीत के साथ क्वार्टर फ़ाइनल में प्रवेश कर लिया।

जहां पेस और एब्डेन का सामना फ़िनलैंड के हेनरी कॉन्टिनेन (Henry Kontinen) और जर्मनी के जैन लेनार्ड स्ट्रफ़ (Jan-Lennard Struff) की जोड़ी के ख़िलाफ़ होगा। ये वही जोड़ी है जिसने क्वालिफ़ायर्स में रोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) और पाब्लो कैरेनो बस्टा (Pablo Carreno Busta)को हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया था।

2020 में लिएंडर पेस का फ़ॉर्म रहा है शानदार 
2020 में लिएंडर पेस का फ़ॉर्म रहा है शानदार 2020 में लिएंडर पेस का फ़ॉर्म रहा है शानदार 

प्रजनेश गुणेश्वरन हारकर बाहर

भारत के सर्वोच्च रैंकिंग वाले टेनिस खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन (Prajnesh Gunneswaran) ने वाइल्ड कार्ड के ज़रिए यहां तक पहुंचने का फ़ायदा नहीं उठा पाए, उन्हें पहले दौर (राउंड ऑफ़ 32) के पुरुष एकल मुक़ाबले में ऑस्ट्रिया के डेनिस नोवाक (Dennis Novak) के हाथों 4-6, 3-6 से हार का सामना करना पड़ा।

पहले सेट में प्रजनेश ने कुछ उम्मीदें ज़रूर जगाईं थीं जब तीसरे गेम में उन्होंने अपना पहला ब्रेक प्वाइंट जीत लिया था, लेकिन अगले ही गेम में ऑस्ट्रियाई खिलाड़ी ने उनकी सर्विस तोड़ते हुए हिसाब बराबर कर लिया था। इसके बाद 10वें गेम तक प्रजनेश ने अपनी सर्विस नहीं गंवाई थी, पर यहां उन्हें अपनी सर्विस वाले गेम में हार के साथ पहला सेट गंवाना पड़ा।

दूसरे सेट की भी कहानी कमोबेश पहले सेट की ही तरह रही, यहां पहले प्रजनेश ने अपनी सर्विस गंवाई और फिर अगले ही यानी पांचवें गेम में डेनिस नोवाक की सर्विस भी तोड़ दी।

हालांकि, 30 वर्षीय इस भारतीय खिलाड़ी का संघर्ष ज़्यादा देर नहीं चला और आठवें गेम में एक बार फिर उन्हें अपनी सर्विस ज़ाया करनी पड़ी। जिसने डेनिस को मैच के लिए सर्विस का मौक़ा दिया और आसानी के साथ उन्होंने गेम जीतते हुए अगले दौर में प्रवेश कर गए, जबकि प्रजनेश का सफ़र थम गया।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!