अंकिता रैना ऑस्ट्रेलियन ओपन के मुख्य ड्रॉ में जगह बनाने से चूक गईं 

भारतीय टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना ने अपने पहले ग्रैंड स्लैम में प्रवेश करने के लिए खूब जद्दोजहद की लेकिन ओल्गा डैनिलोविच के खिलाफ हुए मुकाबले में उन्हें हार का सामना करन पड़ा।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भारतीय टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना (Ankita Raina) को अपना पहला ग्रैंड स्लैम खेलने के लिए ज़रा इंतज़ार करना होगा क्योंकि ऑस्ट्रेलियन ओपन 2021 क्वालिफायर्स के फाइनल राउंड में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

180वीं रैंक पर काबिज़ रैना को ओल्गा डैनिलोविच (Olga Danilovic) ने 6-2. 3-6, 6-1 से हराया। ग़ौरतलब है कि अंकिता रैना ने मंगलवार को अपने से बड़ी रैंक की खिलाड़ी कैटरीना ज़वात्स्का (Katarina Zavatska) को मात दी थी। उस मुकाबले में भी भारतीय टेनिस खिलाड़ी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उनके प्रतिद्वंदी ने पहली तीन गमों में उनकी सर्व भी ब्रेक की थी।

चौथी गेम में डैनिलोविच की सर्व ब्रेक कर रैना ने पलटवार किया जिसके बाद मुकाबले को अपने हक में करना उनके लिए आसान हो गया था। हालांकि इसके बाद 7वीं गेम में रैना को भी अपनी सर्विस गंवानी पड़ी और इसके बाद उनके हाथ से पहला सेट भी निकल गया।

दूसरे सेट में रैना ने कमाल का प्रदर्शन दिखाया और तीसरे ब्रेक पॉइंट को अपने हित में करते हुए सेट भी अपने नाम किया और मुकाबले में जीवित रहीं।

एक दिन पहले ही भारतीय टेनिस स्टार अंकिता रैना ने तीन सेटों का मुकाबला खेला था और ज़ाहिर सी बात है कि ऐसे में कोई भी खिलाड़ी थकान महसूस करता है और उसमें उर्जा की कमी आ जाती है। पहली चार गेमों में रैना ने अपनी सर्विस को दो बार ब्रेक करवाया जिस वजह से डैनिलोविच ने 5-0 की बढ़त हासिल कर ली थी।

छठी गेम में मानों लग रहा था कि रैना को फिर से सर्विस का नुकसान होगा लेकिन इस बार उन्होंने खुद को संभाला और ब्रेक पॉइंट जीतते हुए स्कोर को 5-1 किया। हालांकि इससे कोई फर्क नहीं पड़ा डैनिलोविच ने आगे चलकर ऑस्ट्रेलियन ओपन के वुमेंस सिंगल्स के मुख्य ड्रॉ में अपनी जगह बना ली है जो कि उनके करियर का पहला ग्रैंड स्लैम होगा।

अंकिता रैना की हार का मतलब है कि वाइल्डकार्ड द्वारा प्रतियोगिता में आए सुमित नागल (Sumit Nagal) अब इकलौते भारतीय खिलाड़ी बचे हैं।