जीत के साथ अंकिता रैना डबल्स में करियर की सबसे ऊंची रैंकिंग पर पहुंचीं

रैना ने दुबई में अपनी पार्टनर गोर्गोड्ज के साथ एक आईटीएफ महिला डबल्स टूर्नामेंट जीता, जिससे वो डबल्स रैंकिंग में 117वें स्थान पर पहुंच गईं, जो अब तक का उनका उच्चतम रैंक है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारतीय टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना (Ankita Raina) शनिवार को दुबई में एक आईटीएफ महिला टूर्नामेंट में खिताबी जीत के बाद महिला टेनिस संघ (डब्ल्यूटीए) की डबल्स रैंकिंग में 117वें स्थान पर पहुंच गईं।

रैना और उनकी साथी एकातेरिन गोर्गोड्ज़ (Ekaterine Gorgodze) ने महिला डबल्स के फाइनल में काजा जुवान (Kaja Juvan) और बोलसोवा ज़ादोइनोव (Bolsova Zadoinov) की स्लोवेनिया-स्पेनिश जोड़ी को एक घंटे और 19 मिनट तक चले मुक़ाबले में 6-4, 3-6, 10-6 से हराया।

आईटीएफ संयुक्त अरब अमीरात 01ए (ITF United Arab Emirates 01A) खिताब ने अंकिता रैना को WTA रैंकिंग में 136वें स्थान से 117वें स्थान पर पहुंचा दिया, जो अगले सप्ताह जारी होगी।

रैना के करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग 119 थी, जो उन्होंने इस वर्ष मार्च में हासिल की थी।

पहले सेट में, रैना और गोर्गोड्ज़ ने पांचवें गेम में महत्वपूर्ण बढ़त हासिल की और शुरुआती सेट को अपने नाम करने के लिए उन्हें सिर्फ अपने गेम को बरकरार रखने की जरूरत थी।

हालांकि, इंडो-जॉर्जियाई जोड़ी दो बार दूसरे सेट में हार गई और केवल एक बार अपने विरोधियों की सर्विस तोड़ने में सफल रही। मुक़ाबला  सुपर टाई-ब्रेकर में पहुंचा।

सुपर टाई ब्रेकर में ज़ोरदार मुक़ाबला देखने को मिली, जहां कोई भी टीम लगातार अंक नहीं जीत पा रही थी।

हालांकि रैना और गोर्गोडेज़ की सर्विस को दो बार उनके प्रतिद्वंद्वी ने तोड़ा, लेकिन फिर वापसी करते हुए 10 अंकों के साथ खिताब जीत लिया।

लेकिन दुबई में आईटीएफ टूर्नामेंट में अंकिता रैना के लिए सब कुछ अच्छा नहीं रहा। वो राउंड ऑफ 32 में पाँचवीं वरीयता प्राप्त चेक रिपब्लिक की कतेरीना सिनाकोवा (Katerina Siniakova) से तीन सेट तक चले मुक़ाबले में हारकर सिंगल्स से बाहर हो गईं।

रैना ने पहला सेट 6-1 से जीता, लेकिन बाकी के दो सेटों में वो 6-2, 6-2 से हार गईं।

हालांकि, भारतीय टेनिस खिलाड़ी का डबल्स में शानदार खेल टोक्यो ओलंपिक के लिए अच्छा संकेत हैं, जहां रैना महिला डबल्स में दिग्गज खिलाड़ी सानिया मिर्जा (Sania Mirza) के साथ जोड़ी बना सकती हैं।

अगर वो टोक्यो के लिए भारतीय टेनिस टीम में जगह बनाती है तो ये रैना की पहली ओलंपिक उपस्थिति होगी।