ऑस्ट्रेलियन ओपन के मेन ड्रॉ में पहुंचने पर प्रजनेश गुणेश्वरन का ध्यान

प्रजनेश गुणेश्वरन अब पूरी तरह से फिट हैं और ऑस्ट्रेलियन ओपन के क्वालिफ़ायर्स में अच्छा प्रदर्शन कर लगातार तीसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने के लिए पूरी तरह तैयार है।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारतीय टेनिस खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन (Prajnesh Gunneswaran) को अब तक ग्रैंडस्लैम में किस्मत का साथ ज्यादा नहीं मिला है। साल 2019 में अपने पहले ग्रैंडस्लैम के दौरान प्रजनेश ने पहले राउंड में हारने से पहले अमेरिका के फ्रांसेस टियाफो (Frances Tiafoe) को कड़ा टक्कर दी।

प्रजनेश ने इसके बाद 2019 फ्रेंच ओपन (French Open), विंबलडन ओपन (Wimbledon Open)  और यूएस ओपन (US Open) में हिस्सा लिया, लेकिन भारतीय खिलाड़ी को हर टूर्नामेंट के पहले ही राउंड में हार का सामना करना पड़ा। इन सभी टूर्नामेंट में वह किसी ना किसी चोट से जूझ रहे थे लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया।

इस खिलाड़ी ने साल 2020 ऑस्ट्रेलियन ओपन में भी हिस्सा लिया लेकिन कलाई की चोट ने इस बार भी प्रजनेश को काफी परेशान किया, कलाई का उपयोग करना इस खिलाड़ी की सबसे बड़ी ताकत थी और वह इसी का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे। इसी वजह से उन्हें पहले राउंड में अपना सफर खत्म करना पड़ा।

साल 2020 में मिले बड़े ब्रेक से प्रजनेश गुणेश्वरन को चोट से उबरने में काफी मदद मिली लेकिन अभी भी उन्हें अपनी मैच फिटनेस हासिल करनी है। इसका मतलब है कि सीजन की शुरुआत होते ही वह नहीं खेल पाएंगे।

हालांकि एटीपी रैंकिंग में भारत के सबसे आगे वाले खिलाड़ी (128 रैंकिंग) प्रजनेश इस बात से ज्यादा निराश नहीं है, और साल 2020 के सीजन के खत्म होने से पहले वह दो एटीपी चैलेंजर इवेंट (ATP Challenger events) के फाइनल में पहुंचे थे।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में प्रजनेश ने बताया कि “अपनी सबसे बड़ी ताकत सर्व के बिना और अच्छी फिटनेस ना होने के बावजूद मैंने जो हासिल किया है, उससे मैं खुश हूं।” 

भारतीय खिलाड़ी ने ऑफ सीजन में अपना समय अटंलाटा, अमेरिका में बिताया और अपनी सर्व पर काम किया। इसके अलावा उन्होंने अपने कोच सौरभ पाटिल के साथ सही स्थान पर लैडं करने और राइट पॉवर और स्पिन पर भी ध्यान दिया।

अब लगातार तीसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा लेने के मकसद से प्रजनेश 10 जनवरी से दोहा में होने वाले क्वालिफ़ायर्स में खेलेंगे, इसी के साथ वह अपनी पूरी फिटनेस हासिल करने की कोशिश करेंगे।

प्रजनेश ने बताया कि “मैं लगातार अपनी फिटनेस पर काम कर रहा हूं, शायद गर्मियों तक मैं अपनी वो फिटनेस हासिल कर लूंगा, जो मैं करना चाहता हूं। मैं फिलहाल अच्छा महसूस कर रहा हूं और रोजाना अपनी फिटनेस पर काम कर रहा हूं।”

ऑस्ट्रेलियन ओपन क्वालिफ़ायर्स में प्रजनेश के अलावा सुमित नागल (Sumit Nagal) भी हिस्सा ले रहे हैं और दोनों ही खिलाड़ी इस बार क्वालिफ़ायर्स में अच्छा प्रदर्शन ऑस्ट्रेलियन ओपन के पहले राउंड से आगे बढ़ना चाहेंगे।