सुमित नागल को उम्मीद, ऑस्ट्रेलियन ओपन में टॉप-10 खिलाड़ियों से हो सकती हैं भिड़ंत 

अपने पिछले दोनों ग्रैंडस्लैम में वर्ल्ड नंबर 3 खिलाड़ी के खिलाफ खेलने के बाद सुमित नागल का कहना है कि उन्होंने रोजर फेडरर और डोमिनिक थीम के खिलाफ खेलकर बहुत कुछ सीखाा है।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल (Sumit Nagal) को अहसास है कि अगले हफ्ते से शुरू हो रहे ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open) में उन्हें टॉप टेनिस खिलाड़ियों के खिलाफ खेलना पड़ सकता है।

साल 2019 में जब उन्होंने अपने पहले ग्रैंडस्लैम यूएस ओपन में हिस्सा लिया था, तो उनका रोजर फेडरर (Roger Federer) के खिलाफ मुकाबले ने हर तरफ सुर्खियां बटोरी थी। उस समय भारतीय खिलाड़ी ने इस महान खिलाड़ी को पहले राउंड में शिकस्त देकर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।

वहीं पिछले साल उन्होंने ग्रैंडस्लैम के दूसरे दौर में जगह बनाई और पिछले सात साल में किसी ग्रैंडस्लैम के मुख्य ड्रॉ में जीत हासिल करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी थे। दूसरे राउंड में उनका मुकाबला दुनिया के नंबर 3 खिलाड़ी डोमिनिक थीम (Dominic Thiem) से हुआ।  

ऑस्ट्रेलियन ओपन की शुरुआत 8 फरवरी से होने जा रही है और यह सुमित नागल का तीसरा ग्रैंडस्लैम है। लेकिन इस बार भी भारतीय खिलाड़ी को लग रहा है कि उनका मुकाबला बड़े खिलाड़ियों के साथ हो सकता है।

दुनिया के नंबर 139 रैंकिंग के खिलाड़ी सुमित नागल ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में बताया कि "मैं कल रात अपने कोच साशा नेन्सल साथ इस बारे में बात कर रहा था और मुझे लग रहा है कि मैं शीर्ष -10 के खिलाफ खेलूंगा। ऐसा मुझे लग रहा है, देखते हैं आगे क्या होता है।"

सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों से सीख

हालांकि सुमित नागल को रोजर फेडरर और डोमिनिक थीम के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था लेकिन 23 साल के इस खिलाड़ी ने इस मौके का फायदा भी उठाया।

नागल ने कहा कि “बड़े खिलाड़ियो के खिलाफ खेलते हुए बहुत से खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करते हैं लेकिन मेरे लिए यह एक सीखने का मौका होता है इसलिए इस बार भी मुझे टॉप-10 खिलाडि़यों के खिलाफ खेलना पड़ा तो मुझे कोई परेशानी नहीं है।“

इसके अलावा उन्होंने कहा “मैच के दौरान फेडरर क्या कर रहे हैं, वैसा करना बहुत मुश्किल है लेकिन मैं उससे क्या सीखता हूं, वह बहुत जरूरी है। मैं एक गलती को दो बार ना करूं, ये मेरे लिए अच्छी बात होगी। जिस तरह से थीम खेलते हैं, मैं उसी तरह से खेलना चाहता हूं। मैं उनकी तरह सॉलिड बैकहैंड, अच्छी सर्विस, अच्छा फॉरहैंड का इस्तेमाल करना चाहता हूं, मैं उन्हें बहुत कॉपी करता हूं।"

नागल ने कहा “थीएम यह सुनिश्चित करते है कि वह जो करें, वह ठीक हो। वह कोर्ट पर बहुत अनुशासित है। वह अभ्यास मैच हो या मुख्य मैच में बुरा व्यवहार नहीं दिखाते हैं।”

हालांकि, सुमित नागल के लिए ऑस्ट्रेलियन ओपन का सफर इतना आसान नहीं होगा। वह सोमवार को मरे रिवर ओपन एटीपी 250 के शुरुआती दौर में लिथुआनिया के रिकार्डस बेरानकिस से हार गए। तीन महीने बद कोर्ट पर उतरने के बाद वह सीधे सेटों में हार गए।

नागल ने आगे कहा कि “मैं अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं, मेरा मकसद यही है कि हर मैच के साथ मैं बेहतर हो सकूं। मैं अपने अनुभव का इस्तेमाल करूंगा और अच्छी टेनिस खेलना चाहूंगा। मुझे अभी बहुत मेहनत की जरुरत है।”