युकी भांबरी की साल 2021 की शुरुआत में प्रो सर्किट में वापसी पर है नज़र

भारत के पूर्व नंबर एक टेनिस खिलाड़ी अक्टूबर 2018 से एक्शन से दूर हैं और वह इस साल वापसी करने की सोच रहे थे, लेकिन उन्हें अपने चोट से उबरने में उम्मीद से ज्यादा समय लग गया।

युकी भांबरी अगले साल जनवरी में कोर्ट पर सफल वापसी का लक्ष्य रख रहे हैं। एक बार एटीपी सर्किट में सर्वोच्च रैंक हासिल कर चुके 28 वर्षीय भांबरी 2018 में हुए एंटवर्प ओपन से प्रोफेशनल सर्किट से बाहर हैं। इस टूर्नामेंट में उनके दाहिने घुटने में चोट आई थी।

टेनिस दिग्गज राफेल नडाल (Rafael Nadal) के डॉक्टर द्वारा बताई गई एक समस्या के बाद युकी भांबरी ने चोट से उबरने की प्रक्रिया को शुरू किया और उन्होंने इस साल फ्रेंच ओपन से वापसी की योजना बनाई थी।

हालांकि, चोट से उबरने में लम्बा समय लगने और कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी संकट ने उनकी योजनाओं को और आगे धकेल दिया।

A combination of delayed rehabilitation and the COVID-19 crisis have pushed Yuki Bhambri's return 
A combination of delayed rehabilitation and the COVID-19 crisis have pushed Yuki Bhambri's return A combination of delayed rehabilitation and the COVID-19 crisis have pushed Yuki Bhambri's return 

भांबरी ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “मैं मार्च के पहले सप्ताह और आखिरी सप्ताह में मैच खेलने के लिए 100 फीसदी तैयार नहीं था। मुझे अभी भी कुछ दर्द है और यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि मेरे घुटने 100 फीसदी सही हों।”

उन्होंने आगे कहा, “मैंने तब से काफी प्रगति की है, लेकिन जब आप वापसी करते हैं, तो आपको वर्ष में लगभग 20-25 सप्ताह खेलना होता है। इसलिए, मैं संभवत: साल 2021 की जनवरी में वापस करने का लक्ष्य रखूंगा।”

युकी भांबरी अप्रैल 2018 में एकल रैंकिंग में अपने करियर के सबसे उच्च स्तर (83वें स्थान) पर पहुंचे थे। इसके साथ ही जब वह एक्शन से बाहर हुए तो एटीपी टूर में 100 वें स्थान पर काबिज़ थे।

वह अपनी ‘संरक्षित रैंकिंग’ का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं। इसका मतलब यह है कि जब एक खिलाड़ी घायल हो जाता है तो वह भविष्य में खेले जाने वाले टूर्नामेंट में उसी रैंकिंग के साथ शुरुआत करता है। ऐसे में उनकी नज़र ग्रैंड स्लैम में प्रवेश करने पर होगी।

उन्होंने कहा, “मुझे इसका इस्तेमाल करने के लिए 12 टूर्नामेंट मिले हैं, इसलिए मैं कुछ बड़े इवेंट्स में हिस्सा लेने से नहीं चूकना चाहुंगा। लेकिन शुरू के मैचों में मुझे लय हासिल करने के लिए चैलेंजर्स खेलकर शुरुआत करनी होगी।”

भले ही भांबरी अगले महीने यूएस ओपन के मुख्य ड्रॉ में खेलने के लिए पात्र होंगे, लेकिन वह किसी विदेशी देश की यात्रा करने का जोखिम नहीं उठाना चाहते हैं।

युकी भांबरी ने पहले ही अपनी महत्वाकांक्षाओं को स्पष्ट कर दिया है। वह 2024 पेरिस ओलंपिक में हिस्सा लेने का लक्ष्य रख रहे हैं, लेकिन वह अगले साल टोक्यो ओलंपिक में युगल भारतीय टेनिस टीम में हिस्सा लेने की उम्मीद रख रहे हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!