टोक्यो ओलंपिक के लिए ‘मानसिक और शारीरिक’ तौर पर तैयार हैं लिएंडर पेस

टेनिस लीजेंड को लगता है कि उसके पास अगले साल टोक्यो ओलंपिक में शीर्ष सम्मान के लिए प्रतिस्पर्धा करने के लिए बहुत कुछ है और वह इतिहास में भारत का नाम दर्ज करवाना चाहते हैं।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

टेनिस सुपरस्टार लिएंडर पेस (Leander Paes) इस साल टोक्यो ओलंपिक के साथ अपने लंबे खेल के करियर में एक और यादगार पल दर्ज करवाना चाहते हैं।

पेस ने वर्ष की शुरुआत में ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग लिया, बेंगलुरु और पुणे में टूर्नामेंट खेले, फिर भारत में आखिरी बार खेलकर डेविस कप (Davis Cup) में हिस्सा लिया। अब वह अपने दूसरे ओलंपिक पदक को जीतने के मकसद से टोक्यो ओलंपिक में उतरेंगे।

हालांकि, कोविड-19 महामारी ने 'वन लास्ट रॉअर' को एक ब्रेक के लिए मजबूर कर दिया, जैसा कि पेस ने पहले ही साफ कर दिया था कि यह उनके करियर का आखिरी सीजन है। इसके बाद पेस ने अपनी प्लान को थो़ड़े समय के लिए साइड में रख दिया, यहां से ये बहस भी छिड़ गई कि अब इस खिलाड़ी के ओलंपिक खेलने के सपना का क्या होगा और क्या एक साल बाद वह हिस्सा ले पाएंगे।

लिएंडर पेस ने हालांकि उस चर्चा को खत्म कर दिया है, उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि “इस लंबे ब्रेक के बाद, मुझे खुशी महसूस हो रही है। मेरे मन में कोई संदेह नहीं है कि शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से, मैं टोक्यो के लिए तैयार हूं।"

पेस ने कहा कि "मेरे लिए, यह सुनिश्चित करना बहुत महत्वपूर्ण है कि भारत का नाम इतिहास की किताबों में रहे और इसीलिए मैंने कई वर्षों तक अपना करियर जारी रखा है।"

टेनिस के इस दिग्गज ने लगातार सात ओलंपिक खेलों में हिस्सा लिया है, बार्सिलोना 1992 में शुरुआत करने के बाद उन्होंने अटलांटा 1996 में कांस्य पदक अपने नाम किया और साल 2016 रियो ओलंपिक में भी अपने देश का प्रतिनिधित्व किया।

यह टेनिस में किसी भी खिलाड़ी द्वारा ओलंपिक में हिस्सा लेने की सबसे अधिक संख्या है और पेस इस गिनती को 8 तक ले जाने के लिए पूरी तरह मोटिवेटेड हैं।

भारतीय दिग्गज ने बताया कि “मैं बहुत मेहनत कर रहा हूँ यह केवल भागीदारी के बारे में नहीं है, अगर मैं ओलंपिक में जा रहा हूं, तो मैं जीतने जाऊंगा और न सिर्फ नंबर बनाने के लिए मैं हिस्सा ले रहा हूं।"

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता ने बार-बार साबित किया है कि उन्होंने उम्र के साथ अपने किसी भी कौशल और प्रेरणा को नहीं खोया है, अभी भी कुछ संदेह हैं जो सवाल करते हैं कि क्या उनका शरीर अगले साल 48 साल की उम्र में टोक्यो ओलंपिक के लिए फिट है।

"आयु केवल एक संख्या है," उन्होंने दोहराया। उन्होंने कहा, 'टेनिस बॉल से किसी इंसान की उम्र का पता नहीं चलता। यह शक्ति और स्पिन को समझता है। जो हम कोर्ट में करते हैं, वही मैटर करता है।

लिएंडर पेस ने इस साल मार्च से अभी तक कोई भी कार्यक्रम नहीं खेला है और संभवतः 2021 में ऑस्ट्रेलियन ओपन के साथ प्रतियोगिता में वापसी करेंगे।