ATP 125 पारमा चैलेंजर में सुमित नागल ने बढ़ाए सफलता के कदम

भारतीय टेनिस स्टार सुमित नागल पहुंचे प्री-क्वार्टरफाइनल में और वहीं प्रजनेश गुणेश्वरन का सफ़र हुआ समाप्त।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

इटली में चल रहे ATP 125 चैलेंजर टूर्नामेंट (ATP Parma Challenger) में भारतीय टेनिस स्टार सुमित नागल (Sumit Nagal) ने सोमवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए गियुलियो ज़ेपीरी (Giulio Zeppieri) को 6-4, 6-4 से मात दी।

ATP में नागल को भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ रेंक (127) प्राप्त है। इतना ही नहीं नागल 7 सालों में ग्रैंड स्लैम का कोई मैच जीतने वाले पहले भारतीय टेनिस खिलाड़ी भी हैं। हालांकि फ्रेंच ओपन के एकल वर्ग के मुख्य ड्रॉ में वह जगह बनाने में नाकामयाब रहे और तो और बिएला चैलेंजर में भी वह पहले ही राउंड में बाहर हो गए थे।

असल खिलाड़ी वही है जो हार के बाद भी जीत का जज़्बा न छोड़े और नागल ने भी पारमा चैलेंजर में शानदार वापसी की। मुकाबले के पहली गेम में ही नागल ने आक्रामक रैवैया अपनाया और 4 ब्रेक पॉइंट हासिल कर ज़ेपीरी को बैक फुट पर रखा और 1-0 की बढ़त अपने नाम की।

खेल आगे बढ़ा और 5वें गेम में नागल ने ज़ेपीरी की सर्विस एक बार फिर तोड़ी और अपने श्रेष्ठ होने का प्रमाण पेश किया। इस भारतीय टेनिस खिलाड़ी का जोश मानों देखते ही बन रहा था। अब सुमित नागल 4-1 से आगे थे लेकिन अगले ही गेम में वह अपनी सर्विस गंवा बैठे।

इसके बाद नागल ने इस सेट में और कोई ग़लती नहीं की और पहला सेट 6-4 से अपने नाम किया और अब उनके प्रतिद्वंदी को कुछ अलग करने की ज़रूरत थी। अब बारी थी दूसरे सेट की और भारतीय नागल ने पहले ही गेम में एक बार फिर गियुलियो ज़ेपीरी की सर्विस ब्रेक कर उन पर तीखा वार किया। इस सेट का भी नतीजा वही निकला और सुमित नागल ने 6-4 से जीत हासिल की।

अब नागल का सामना तीसरी वरीयता हासिल लास्लो जेयर (Laslo Dere) से मंगलवार को होगा।

प्रजनेश गुणेश्वरन हुए बाहर

ATP 125 पारमा चैलेंजर में दूसरे भारतीय टेनिस खिलाड़ीप्रजनेश गुणेश्वरन (Prajnesh Gunneswaran) को राउंड ऑफ़ 32 में पाओलो लोरेंज (Paolo Lorenzi) के हाथों 6-7, 2-6 से शिकस्त मिली।

दोनों ही खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन और पाओलो लोरेंजी अपनी अपनी सर्विस अच्छी कर रहे थे।दोनों ही खिलाड़ियों ने एक दूसरे को सर्विस तोड़ने के कई मौके दिए लेकिन दोनों ही इस मौके को भुनाने में नाकामयाब रहे।

गुणेश्वरन ने लोरेंजी पर पहले सेट के 9वें गेम पर वार किया और 5-4 से बढ़त अपने पाले में कर ली। हालांकि इसके बाद भारतीय खिलाड़ी ने अपनी सर्विस गंवा दी और मैच फिर टाई ब्रेकर में चला गया और यहाँ प्रजनेश को हार मिली।

दूसरे सेट में मानों भारतीय गुणेश्वरन ने अपनी लय पूरी तरह से खो दी और पहले तीन गेमों में 2 बार अपनी सर्विस भी गंवा बैठे। 132वीं रैंक पर काबिज़ भारतीय टेनिस खिलाड़ी अपने प्रतिद्वंदी के किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे पाए।

इसके बाद 7वें गेम में एक बार फिर प्रतिद्वंदी ने गुणेश्वरन की सर्विस तोड़कर उन पर हमला बोला और देखते ही देखते मुकाबले भी अपने नाम कर लिय।

ग़ौरतलब है कि भारतीय टेनिस स्टार प्रजनेश गुणेश्वरन का पारमा चैलेंजर अभी ख़त्म नहीं हुआ है और वह मंगलवार को कामिल मजक्रज़क (Kamil Majchrzak) के साथ टीम बनाकर (युगल) अपने कारवां को आगे बढ़ाएंगे।