सोमदेव ने सुमित नागल और गुणेश्वरन को बताया टेनिस का भविष्य

सुमित नागल वर्तमान में एटीपी रैंकिंग में 127वें स्थान पर और प्रजनेश गुणेश्वरन 132वें स्थान पर काबिज़ हैं।

पूर्व भारतीय नंबर-1 एकल टेनिस खिलाड़ी सोमदेव देववर्मन (Somdev Devvarman) का मानना है कि तेज़ी से उभरते हुए खिलाड़ी सुमित नागल (Sumit Nagal) आने वाले वर्षों में भारतीय टेनिस का भविष्य होंगे।

22 वर्षीय इस खिलाड़ी का 2019 सीज़न काफी शानदार रहा, जहां उन्होंने पहले दौर में यूएस ओपन में एक सेट से टेनिस के दिग्गज रोजर फेडरर को प्रभावित किया और फिर ब्यूनस आयर्स चैलेंजर जीता।

हालांकि, हरियाणा का यह होनहार बालक अभी भी शीर्ष 100 में पहुंचने के लिए प्रयास कर रहा है, लेकिन महेश भूपति के ‘मिशन 2018’ की पहल के नतीज़े के रूप में वह अब भारतीय एकल टेनिस की सबसे बड़ी उम्मीदों में से एक हैं।

इसके अलावा प्रो सर्किट में उनके बेहतरीन प्रदर्शन और उन्हें आगे बढ़ते हुए देखकर सोमदेव देववर्मन कहते हैं कि आने वाले दिनों में सुमित नागल के चर्चे पूरे शहर में होंगे।

सोमदेव देववर्मन ने कहा, "भारत में अभी सबसे अधिक होनहार खिलाड़ी सुमित नागल हैं। वह 22 साल के हैं और पिछले साल उन्होंने यूएस ओपन में रोजर के खिलाफ एक सेट जीता था। भारत में टेनिस की चर्चा पिछले कुछ समय से सुमित के इर्द-गिर्द ही घूमती नज़र आ रही है।

गुणेश्वरन के भी हो रहे चर्चे

सुमित नागल जहां 423 अंकों के साथ एटीपी रैंकिंग में 127वें स्थान पर हैं, वहीं उनके हमवतन प्रजनेश गुणेश्वरन 405 अंकों के साथ 132वें स्थान पर हैं।

चेन्नई का यह एथलीट 2019 में अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ एटीपी रैंकिंग में पहुंच गए थे। उन्होंने टॉप 100 में  पहुंचते हुए 75वीं रैंक हासिल की। इसके लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई ओपन में लगातार दो बार प्रदर्शन करने के साथ ही सभी चार ग्रैंड स्लैम में भी हिस्सा लिया।

इसलिए सोमदेव देववर्मन का मानना है कि दो बार के एटीपी चैलेंजर एकल खिताब और एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता दूसरे एकल शीर्ष खिलाड़ी हैं, जो भारत की उम्मीद बन सकते हैं।

पूर्व एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता ने कहा, “प्रजनेश काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और बीते कुछ वर्षों में एकल वर्ग में उनके भी चर्चे हो रहे हैं।"

View this post on Instagram

Thank you Australia 🇦🇺

A post shared by Dominic Thiem (@domithiem) on

खेल के सबसे बड़े मंच पर प्रतिभाएं

जब सोमदेव देववर्मन को अंतरराष्ट्रीय सर्किट पर होनहार प्रतिभाओं को चुनने के लिए कहा गया तो उनके लिए खिलाड़ियों को चुनना काफी मुश्किल हो गया।

डोमिनिक थिएम (Dominic Thiem), अलेक्जेंडर ज्वेरेव (Alexander Zverev), निक किर्गियोस (Nick Kyrgios) और अन्य एथलीटों जैसे कि रोजर फेडरर (Roger Federer), राफेल नडाल (Rafael Nadal) और नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) सोमदेव देववर्मन की पसंद को प्रभावित करते हैं।

35 वर्षीय ने कहा, “वैश्विक स्तर पर टेनिस के लिए उत्साह बहुत अधिक है। अभी दानिल मेदवेदेव (Daniil Medvedev) और स्टेफानोस त्सितिपास (Stefanos Tsitsipas) जैसे खिलाड़ी आ रहे हैं, जो दिखा रहे हैं कि अगली पीढ़ी वास्तव में बहुत बेहतर कर रही है।”

हालांकि, कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप ने पिछले कुछ महीनों से एथलीटों को उनके घरों तक ही सीमित कर दिया है। ऐसे में संन्यास ले चुके देववर्मन ने अपनी छत पर ही एक जिम बना लिया है।

देववर्मन ने अंत में कहा, "मैं भाग्यशाली हूं कि मेरे घर पर एक छत है और इसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है। इसलिए सभी जिम के उपकरण छत पर ही लगा दिए हैं। हमारे पास फिटनेस के लिए आपकी जरूरत की हर चीज़ मौजूद मिलेगी।”

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!