युकी भांबरी फिर से टेनिस खेलने के लिए हो चुके हैं तैयार: कोच 

पूर्व शीर्ष क्रम के भारतीय टेनिस खिलाड़ी को इस साल क्ले-कोर्ट स्विंग के आसपास टेनिस प्रतिस्पर्धा में वापसी करने की उम्मीद थी।

भारतीय टेनिस खिलाड़ी युकी भांबरी (Yuki Bhambri) 2018 में एटीपी टूर पर बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन उनके घुटने में लगी चोट ने उन्हें सीजन के आधे सफर से ही टेनिस कोर्ट से दूर रहने पर मजबूर किया। चोट जल्द ही और गहरी हो सकती थी, जिसकी वजह से उन्हें लगभग 18 महीने के लिए कोर्ट से बाहर रहना पड़ा।

एक सर्जरी और बाद में एक लंबे रिहेबिलिटेशन दौर से गुजरने के बाद देश के पूर्व नंबर वन टेनिस खिलाड़ी इस साल क्ले-कोर्ट स्विंग के आसपास प्रतिस्पर्धा टेनिस में वापसी करने की उम्मीद कर रहे थे। लेकिन कोरोना वायरस महामारी ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

हालांकि वहीं उनके कोच स्टीफन कून का मानना है कि युकी भांबरी को इस चुनौती का सामना नहीं करना पड़ेगा। “युकी अभी तक पूरी तरह से फॉर्म में नहीं लौटे हैं। उनका अभी भी अपना लय हासिल करना बाकी है, ”उन्होंने इंस्टाग्राम चैट पर और स्पोर्टस्टार के हवाले से ये बात कही।

27 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी 2018 में इंडियन वेल्स और मियामी में एटीपी स्पर्धाओं में शानदार जीत हासिल करने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज थे।

उस साल उन्हें चार ग्रैंड स्लैम के लिए मुख्य ड्रॉ में जगह बनाते हुए और एटीपी रैंकिंग में शीर्ष 100 में प्रवेश करते हुए देखा गया। लेकिन यूएस ओपन के तुरंत बाद भारतीय टेनिस खिलाड़ी का सीज़न चोट के कारण प्रभावित हो गया।

चोट ने दिया युकी भांबरी को बड़ा झटका

जहां यह चोट युकी भांबरी के लिए एक बड़ा झटका था, तो वहीं उन्हें सबसे ज्यादा निराशा तब मिली जब एंजेल रुइज-कोटरो से इलाज कराने के लिए उन्हें इंतजार करना पड़ा, ये वहीं डॉक्टर हैं जिन्होंने लंबे समय तक राफेल नडाल (Rafael Nadal) का इलाज किया है, जिनसे भांबरी को सही इलाज मिला। उनके कोच का मानना है कि इसकी वजह से उन्हें चोट से जल्दी उभरने में सफलता मिली।

“युकी जानते हैं कि कैसे जीत हासिल करनी है। उनका गेंद पर नियंत्रण और जिस तरह से वो गेंद को खेलते हैं वो खास है। चीजों को ठीक करने के लिए उन्हें सही फीजियो और डॉक्टर नहीं मिले। वो सर्बिटन (एटीपी चैलेंजर में) में घायल हो गए।

View this post on Instagram

Miss this

A post shared by Yuki Bhambri (@yukibhambri) on

कई शीर्ष -100 खिलाड़ियों को ट्रेन करने वाले थाईलैंड के कून ने कहा कि, “उन्होंने एक पैर से क्वींस खेला। विंबलडन में चोट के बावजूद, वो थॉमस फेबियन से एक सेट जीतने में कामयाब रहे।“

कुछ समय से पूर्व विश्व नंबर 83 खिलाड़ी कोर्ट से दूर हैं, कून को पता है कि युकी भांबरी चोट से पूरी तरह उबरकर कोर्ट पर वापसी के लिए बेक़रार हैं।

उन्होंने कहा कि, "जब महामारी के बाद टेनिस फिर से शुरू होगा, तो युकी भांबरी तैयार हो जाएंगे।"

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!