भारत की बड़ी उम्मीद मीराबाई और जेरेमी ने टोक्यो ओलंपिक में स्थान किया पक्का 

IWF टोक्यो 2020 रैंकिंग के हवाले से भारतीय वेटलिफ्टर मीराबाई चानू 3,869.8038 अंकों के साथ चौथे स्थान पर काबिज़ हैं।

वेटलिफ्टिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (WFI) के प्रेसिडेंट सहदेव यादव (Sahdev Yadav) ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि भारतीय वेटलिफ्टर मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) और जेरेमी लालरिनुंगा (Jeremy Lalrinnunga) ने टोक्यो गेम्स में जगह बना ली है।

मीराबाई की बात करें तो वह 49 किग्रा में चौथी रैंक पर काबिज़ हैं और वहीं जेरेमी 67 किग्रा में 22वें स्थान पर मौजूद हैं। ओलंपिक क्वालिफिकेशन की प्रक्रिया के हिसाब से हर भारवर्ग में एक देश से एक ही खिलाड़ी आगे जा सकता है। IWF रैंकिंग के टॉप 8 लिफ्टरों के अलावा संयुक्त राज्य अमेरिका, एशिया, अफ्रीका, यूरोप और ओशिनिया के सर्वश्रेष्ठ 5 खिलाड़ी भी करेंगे क्वालिफाई। ऐसे में सहदेव यादव को मीराबाई चानू और जेरेमी लालरिनुंगा पर अच्छे प्रदर्शन का भरोसा है।

इंडिया टुडे से बात करते हुए WFI प्रेसिडेंट ने बताया कि, “क्वालिफिकेशन प्रक्रिया के हिसाब से यह दोनों भारतीय खिलाड़ी बहुत आगे हैं। जेरेमी फिलहाल एशिया के टॉप लिफ्टर हैं और जो खिलाड़ी उनके बाद की रैंकिंग पर हैं। उनमें और जेरेमी में फासला बहुत लंबा है। अगर उनका प्रतिद्वंदी वर्ल्ड रिकॉर्ड भी स्थापित कर देता है तो भी उनकी रैंकिंग को पछाड़ पाना मुश्किल होगा।

कैसे वेटलिफ्टरों ने किया क्वालिफाई

ओलंपिक में स्थान पक्का करने के लिए लिफ्टरों को एक ही इवेंट में 6 महीने तक प्रदर्शन करना होता है और यह 3 समय 3 अलग-अलग भागों में विभाजित होता है। टोक्यो 2020 की क्वालिफिकेशन

का समय 1 नवंबर 2018 से 30 अप्रैल 2020 है। इस दौरान हर लिफ्टर जापान जाने के लिए उत्सुक होगा और वह अपने खेल को बढ़ाने में लगा होगा। आपको बता दें कि क्वालिफिकेशन को मद्देनज़र रखते हुए एक लिफ्टर को कम से कम 6 इवेंट में भागलेना होगा जिसमें एक गोल्ड और एक सिल्वर स्तर की प्रतियोगिता का होना अनिवार्य है।

View this post on Instagram

Practice makes perfect! #trainhard

A post shared by Saikhom Mirabai Chanu (@mirabai_chanu) on

मीराबाई चानू के लिए अगर कोई चिंता का विषय है तो वह है उनका चोटिल होना। चोट की वजह से उन्होंने 2018 वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी हिस्सा नहीं लिया था।

हालांकि इस मणिपुरी लिफ्टर ने 5 प्रतियोगिताओं के ज़रिए 3,869.8038 क्वालिफाइंग अंक अपनी झोली में डाला लिए हैं। वही दूसरी तरफ जेरेमी लालरिनुंगा ने 6 प्रतियोगिताओं के बल पर 3,119.8558 अंक अपने खाते में कर लिए हैं।

क्या होगा आगे?

बहुत सी प्रतियोगिताओं में भाग न लेने के बावजूद भी मीराबाई चानू ने टोक्यो गेम्स के लिए क्वालिफाई कर लिया है। इस बारे में बात करते हुए सहदेव यादव ने आगे कहा कि, “हम मीराबाई को अभ्यास के तौर पर प्रतियोगिताओं में भेजेंगे।” इन दो खिलाड़ियों के अलावा सहदेव यादव को दोऔर लिफ्टरों पर भी विश्वास है।

उन्होंने आगे कहा, “हम और भी भारतियों के क्वालिफिकेशन को लेकर उत्सुक हैं। एक नाम है राखी हलदर (Rakhi Halder) जिन्होंने नेशनल चैंपियनशिप (National Championship) में उम्दा प्रदर्शन दिखाया था और साथ ही अजय सिंह (Ajay Singh) से भी हमे काफी उम्मीदें हैं। जब स्थिति सुधर जाएगी तब इन दोनों खिलाड़ियों के पास क्वालिफाई करने के लिए बहुत समय होगा।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!