अर्जेंटीना दौरे पर भारतीय महिला हॉकी टीम को मिली पहली हार

युवा फारवर्ड सलिमा तेते ने 54वें मिनट में गोल करते हुए स्कोर बराबर कर दिया था, भारत की ओर से मैच का ये एकमात्र गोल था।

लेखक सैयद हुसैन ·

अर्जेंटीना दौरे पर गई भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian women’s hockey team) ने इससे पहले दो मैचों में दो ड्रॉ खेला था, लेकिन शुक्रवार को ब्यूनस आयर्स में टीम इंडिया को पहली बार 1-2 से हार का सामना करना पड़ा।

इस मैच में पहला गोल 11वें मिनट में अर्जेंटीना बी की सोल पागेला (Sol Pagella) ने किया था, इसके बाद 54वें मिनट में भारत की ओर से सलिमा टेटे (Salima Tete) ने गोल करते हुए स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया था। लेकिन मैच के आख़िरी मिनटों में (57वें मिनट) मेज़बान टीम की ओर से अगुस्टिना गोर्ज़ेलानी (Agustina Gorzelany) ने गोल करते हुए अर्जेंटीना बी को निर्णायक बढ़त दिला दी।

मैच के बाद टीम इंडिया के प्रमुख कोच शोर्ड मरिन (Sjoerd Marijne) ने हॉकी इंडिया से कहा, “आज हम अर्जेंटीना की एक मज़बूत टीम से खेल रहे थे जिसमें कई सीनियर खिलाड़ी भी शामिल थीं। ये हमारे लिए अभ्यास के नज़रिए से एक बेहतरीन मैच थ, क्योंकि अगले हफ़्ते सीनियर टीम के ख़िलाफ़ खेलना है।“

पिछले दोनों मैचों की ही तरह इस मैच में भी मेज़बान टीम ने अपना नियंत्रण बनाए रखा और लगातार भारतीय रक्षापंक्ति पर दबाव बनाए रखा।

अर्जेंटीना बी को मैच का पहला पेनल्टी कॉर्नर छठे मिनट में ही मिल गया था लेकिन भारतीय गोलकीपर रजनी एतिमार्पू (Rajani Etimarpu) ने इस ख़तरे को ख़त्म कर दिया।

अर्जेंटीना B के खिलाफ स्कोर करने के बाद मनाती हुई सलीमा टेटे। फोटो साभार: हॉकी इंडिया

अर्जेंटीना का आक्रामण लगातार भारतीय रक्षापंक्ति पर दबाव बनाए हुए था जिसका नतीजा ये हुआ कि अगले कुछ मिनट में ही सोल पागेला ने मेज़बान टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी थी।

हालांकि इसके बाद भी भारतीय टीम ने हिम्मत नहीं हारी और लगातार अर्जेंटीना बी के हमलों का जाबांज़ी से जवाब दिया।

इसके बाद भारत को एक शॉर्ट कॉर्नर भी मिला था लेकिन ड्रैग फ़्लिकर गुरजीत कौर (Gurjit Kaur) इसे गोल में तब्दील करने से चूक गईं।

चौथा क्वार्टर बेहद रोमांचक रहा जहां 54वें मिनट में सलिमा टेटे ने गोल करते हुए स्कोर बराबर किया तो 57वें मिनट में अगुस्टिना गोर्ज़ेलानी ने मेज़बान टीम के लिए एक और गोल करते हुए सलिमा की मेहनत पर पानी फेर दिया।

शोर्ड मरिन ने कहा, “हम इस मैच में अपने कुछ युवा खिलाड़ियों को मौक़ा दे रहे थे और मुझे ख़ुशी है कि वे अर्जेंटीना जैसी मज़बूत टीम के ख़िलाफ़ खेल रही हैं। हम आने वाले मैचों में आख़िरी लम्हों में इस तरह गोल ज़ाया नहीं कर सकते।“

रविवार को एक बार फिर भारतीय महिला हॉकी टीम का सामना अर्जेंटीना बी टीम के ख़िलाफ़ होगा।