भारतीय महिला हॉकी टीम का अर्जेंटीना में जीत हासिल करने का इंतज़ार है बरकरार

भारत को अर्जेंटीना B के खिलाफ लगातार दूसरी हार का सामना करना पड़ा, इससे पहले उन्होंने जूनियर्स के खिलाफ दो मैच ड्रॉ किया था। भारत का अगला मुकाबला अर्जेंटीना की सीनियर टीम से है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

रविवार को ब्यूनस आयर्स में अर्जेंटीना B (Argentina B) के खिलाफ 3-2 से हार झेलने के बाद अर्जेंटीना दौरे पर भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian women’s hockey team) की जीत का इंतज़ार और बढ़ गया।

भारत ने अब तक अर्जेंटीना जूनियर टीम के खिलाफ दो ड्रॉ खेला है, लेकिन अर्जेंटीना B टीम के खिलाफ उन्हें अपने दोनों मैचों में हार झेलनी पड़ी है

भारत के मुख्य कोच शोर्ड मरिन (Sjoerd Marijne) ने कहा, "तीसरे और चौथे मैच में अर्जेंटीना अनुभवी टीम के साथ खेली, जिसने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया 'ए' के ​​खिलाफ जीत दर्ज की थी और ये हमारे खिलाड़ियों के लिए अपने आप को आंकने का सही मंच था।"

इस मैच में भारतीय टीम ने गोल के साथ शुरुआत की। पेनल्टी स्ट्रोक को बदलने में नाकाम रहने के बाद आगे बढ़ते हुए एक शुरुआती अवसर बनाया और युवा फारवर्ड सलीमा टेटे (Salima Tete) ने छठे मिनट में भारत को बढ़त दिला दी।

कोच मरिन ने कहा, 'मैच में हमने बहुत अच्छी शुरुआत की थी, हालांकि हम पेनल्टी स्ट्रोक से गोल नहीं कर सके, फिर भी हमने तालमेल के साथ खेला। पहले क्वार्टर में हम नियंत्रण में थे और अर्जेंटीना पर दबाव बनाए रखा था।”

हालांकि, दूसरे क्वार्टर में बाज़ी पलट गई और अर्जेंटीना B ने गेम पर अपना नियंत्रण बना लिया।

सोल पगेला ने 25वें, कॉन्सटैंज़ा सेरंडोलो ने 38वें और अगस्टिना गोर्ज़ाल्नी से 39वें मिनट में गोल कर मेजबानों को ड्राइवर सीट पर ला दिया।

मरिन ने कहा, “मेरा मानना ​​है कि इनमें से दो गोल को रोका जा सकता था। हमने तीसरे क्वार्टर में उनको सर्कल में घुसने के बहुत कम मौके दिए, लेकिन उन्होंने पांच प्रयासों में से दो को गोल में कन्वर्ट कर दिया।

गुरजीत कौर (Gurjit Kaur) ने 42वें मिनट में भारत के लिए एक गोल कर के अंतर को कम करने की कोशिश जरूर की, लेकिन वो मैच ड्रॉ कराने में असफल रहीं।

"मुझे लगता है कि हम पेनल्टीज को गोल में बदलने में थोड़ा सा जल्दी कर रहे थे। हमें आने वाले मैचों में अर्जेंटीना से जीतने के लिए बेहतर प्रदर्शन करना होगा।”

कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण लागू किए गए लॉकडाउन के बाद भारतीय टीम लगभग एक साल के लंबे अंतराल के बाद प्रतिस्पर्धी मुक़ाबले में लौटी है, और अब तक के चार मैच रानी रामपाल (Rani Rampal) एंड कंपनी के लिए लय में वापस आने के लिए एक अच्छा मंच रहा है।

हालांकि, भारतीय महिला टीम को दौरे के बचे चार मैचों में अपने खेल को बेहतर करने की आवश्यकता होगी। आगे के सभी चारों मैच अर्जेंटीना की सीनियर महिला टीम के खिलाफ होंगे।

उन्होंने कहा, 'आने वाले चार मैचों में हम दुनिया की नंबर 2 टीम के खिलाफ क्या कर सकते हैं, ये देखने के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम उतारेंगे। इन चार मैचों से अच्छी सीख मिली है और मैं देखना चाहता हूं कि हमारी मुख्य टीम उनके खिलाफ कैसा प्रदर्शन करती है।”

27 जनवरी को अर्जेंटीना की सीनियर टीम के खिलाफ भारत का पहला मैच होगा।

प्रमुख तस्वीर: हॉकी इंडिया