मैटेयो पेलिकॉन रैंकिंग सीरीज़ के साथ ओलंपिक साल की शुरुआत करेंगे बजरंग पुनिया

65 किग्रा फ्रीस्टाइल कुश्ती में डिफेंडिंग चैंपियन बजरंग पुनिया एक साल के लंबे अंतराल के बाद प्रतिस्पर्धी कुश्ती में जीत के साथ वापसी करना चाहेंगे।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारतीय दिग्गज पहलवान बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) अपने ओलंपिक वर्ष की शुरुआत मार्च में मैटेयो पेलिकॉन रैंकिंग सीरीज (Matteo Pellicone Ranking Series) के साथ करेंगे।

इस पहलवान ने खेल मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा, "मैं मार्च में रोम रैंकिंग सीरीज में अपनी वापसी की योजना बना रहा हूं और कजाकिस्तान में होने वाले एशियन चैंपियनशिप में भाग लूंगा।" 

26 वर्षीय पहलवान अपने निजी कोच इमज़ारिओस बेंटिनिडिस (Emzarios Bentinidis) की देखरेख में पिछले महीने से अमेरिका के मिशिगन में क्लिफ कीन रेसलिंग क्लब में ट्रेनिंग कर रहे हैं। मंगलवार को खेल मंत्रालय के बयान के अनुसार उनकी ट्रेनिंग को एक महीने और बढ़ाया जा सकता है।

बजरंग पुनिया ने पिछले महीने व्यक्तिगत विश्व कप में भाग नहीं लिया था। उन्हें आखिरी बार संयुक्त राज्य अमेरिका में आमंत्रण मीट में देखा गया था।

उस मीट में ओलंपिक कोटा विजेता ने दो बार के विश्व चैंपियनशिप पदक विजेता जेम्स ग्रीन को हराकर टेक्सास के ऑस्टिन में आयोजित हुए आठ पुरुषों वालो फ्लोरेसलिंग का खिताब जीता था। हालांकि अमेरिका के ओलंपिक पदक के उम्मीदवार ज़ेन रदरफोर्ड (Zain Retherford) ने एक अन्य मुकाबले में बजरंग पुनिया को हरा दिया था।

इन मिले-जुले परिणामों के बावजूद, 65 किग्रा फ्रीस्टाइल श्रेणी में दुनिया के नंबर 2 पहलवान यूएसए में चल रही अपनी ट्रेनिंग से खुश हैं।

बजरंग पुनिया ने कहा, '' यहां साथ में अभ्यास करने वाले पहलवानों की क्वालिटी बहुत अच्छी है। भारत में मैं मुझे 74 किग्रा और 79 किग्रा वर्ग के पहलवानों के साथ ट्रेनिंग करनी पड़ रही थी, लेकिन यहां मुझे अपने भारवर्ग के साथ प्रशिक्षण लेने का मौका मिल रहा है।”

“यहां सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं, एक जिम है, इसके अलावा मुझे बहुत अच्छे साथी मिल रहे हैं। यहां ट्रेनिंग करने वाले कॉलेज के लड़के भी अच्छे हैं। मुझे अपने स्तर पर सुधार करने के लिए हर उस चीज मिल रही है, जो मुझे चाहिए।"

भारतीय पहलवान 65 किलोग्राम फ़्रीस्टाइल डिवीज़न में गत चैंपियन के रूप में मैटियो पेलिकॉन रैंकिंग सीरीज में भाग लेंगे। 

पिछले साल एशियन चैंपियनशिप के बाद से कोई प्रतिस्पर्धा नहीं हुई है, ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि बजरंग पुनिया किस तरह से इस महत्वपूर्ण सत्र की शुरूआत करते हैं, क्योंकि इसी साल उन्हें टोक्यो ओलंपिक में मुक़ाबला करने के लिए टोक्यो के मैट पर उतरना है। 

उम्मीद जताई जा रही है कि इस महीने के अंत में होने वाली सीनियर नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप के लिए पहलवान देश लौटेंगे। उस दौरान अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के पहले चरण के लिए भारतीय टीम के चयन प्रक्रिया के लिए ट्रायल भी आयोजित होंगे।