बजरंग पुनिया और संगीता फ़ोगाट के घरों में जल्द ही बजेगी शादी की शहनाइयाँ

ओलंपिक खेलों के स्थगित किए जाने के चलते बजरंग पुनिया और संगीता फोगाट टोक्यो ओलंपिक पर अपना ध्यान केंद्रित करने से पहले शादी करने की सोच रहे हैं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारतीय कुश्ती के सूरमा बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) और संगीता फोगाट (Sangeeta Phogat) इस साल के अंत तक शादी करने की उम्मीद कर रहे हैं। ग़ौरतलब है कि दोनों ने पिछले साल सगाई की थी और टोक्यो ओलंपिक के बाद शादी करने की योजना बनाई थी।

लेकिन कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के चलते टोक्यो 2020 को एक साल के लिए स्थगित कर दिया गया, ऐसे में अब वे ओलंपिक खेलों पर अपना ध्यान केंद्रित करने से पहले शादी की तारीख को तय करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

संगीता फोगाट ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया,

"तारीख नवंबर या दिसंबर की होगी, क्योंकि हमारे परिवार में ज्यादातर शादियां (बहनों की शादियां) जैसे कि गीता, बबीता और विनेश की शादी भी नवंबर-दिसंबर में ही हुई है।”

अगले साल ओलंपिक के लिए लक्ष्य बना रही गीता फोगाट ने भी साथी पहलवान पवन कुमार से शादी की। बबीता फोगाट ने पहलवान विवेक सुहाग से, जबकि विनेश फोगाट ने पूर्व राष्ट्रीय चैंपियन सोमवीर राठी के साथ शादी की है।

संगीता फोगाट और बजरंग पुनिया की पहली मुलाकात कुछ साल पहले हरियाणा के सोनीपत में एक राष्ट्रीय कुश्ती शिविर में हुई थी। हालांकि दोनों को इस नतीजे तक पहुंचने में काफी समय लगा, लेकिन संगीता ने स्वीकार किया कि यह एक सहज और अच्छा साथ रहा है।

संगीता ने रेसलिंग टीवी को दिए एक साक्षात्कार में अपने शुरुआती दिनों के बारे में बताते हुए कहा, “(मेरी बहनें) गीता और बबीता बजरंग को पहले से जानती थीं। मैं उनसे SAI सेंटर में मिली, जहां वे प्रशिक्षण लेते थे। हमने बात करना शुरू किया और एक-दूसरे के साथ को पसंद करने लगे। हम एक-दूसरे के लिए महसूस करने लगे, यह आपसी समझ थी। मेरे माता-पिता भी उन्हें पसंद करते थे क्योंकि वह एक अच्छे व्यक्तित्व वाले पहलवान थे। तब घर के बुजुर्गों ने मुलाकात की और फैसला किया कि हमें शादी करनी चाहिए।”

एक ओर जहां बजरंग टोक्यो 2020 में अपना ओलंपिक डेब्यू करने की तैयारी में लगे हुए हैं, वहीं दूसरी ओर संगीता एक एंटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट (ACL) की चोट से उबरने की कोशिश कर रही हैं, जिसकी वजह से वह 2019 सत्र से काफी लम्बे समय तक बाहर रही हैं।

हालांकि, चोट की गंभीरता को देखते हुए ओलंपिक का सपना दूर नज़र आ रहा था लेकिन खेलों के स्थगित किए जाने के बाद अब सबसे युवा फोगाट भी अगले साल क्वालिफिकेशन शुरू होने पर भारतीय दल में शामिल होने की उम्मीद करेंगी।

राष्ट्रीय चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता संगीता ने कहा,

“अगर ओलंपिक खेलों को इस साल आयोजित किया जाता तो मैं वापसी नहीं कर सकती थी। लेकिन अब मैं 62 किलोग्राम में वापसी करूंगी।”

अपनी बड़ी बहन गीता फोगाट के साथ रहीं 22 वर्षीय संगीता लंबे समय बाद मैट पर लौट आई हैं। वह अगले साल होने वाले एशियाई ओलंपिक क्वालिफाइंग स्पर्धा से पहले नेशनल ट्रायल में हिस्सा लेंगी।