सीनियर नेशनल मीट में सोनम मलिक ने साक्षी मलिक को दी शिकस्त

19 साल की हरियाणा की सोनम मलिक ने जबरदस्त वापसी करते हुए अपने बहुचर्चित प्रतिद्वंदी को हराया।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारत की उभरती हुई रेसलिंग प्रतिभा सोनम मलिक (Sonam Malik) ने शनिवार को सीनियर वुमेंस नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक (Sakshi Malik) को 7-5 से हरा दिया।

62 किग्रा भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करते हुए, हरियाणा के 19 वर्षीय सोनम मलिक ने आगरा के होली लाइट सीनियर 

सेकेंडरी स्कूल में एक तेज-तर्रार बाउट में अपनी सीनियर खिलाड़ी के खिलाफ शानदार वापसी करते हुए दिखाया कि उनमें कितना दम है।

पहले सोनम मलिक से दो बार हार झेलने वाली साक्षी मलिक रेलवे का प्रतिनिधित्व कर रही थी। शुरुआती बाउट में उन्होंने अच्छी शुरुआत की और डबल लेग अटैक से टेकडाउन लिया, जिसकी वजह से वह 4 अंक हासिल करने में सफल रही।

साक्षी के इस मूव से सोनम काफी आश्चर्यचकित हुई लेकिन उन्होंने अपना संयम बनाए रखा और आगे बाउट में अंक हासिल करना शुरू कर दिया।

लीड कट शॉर्ट के साथ, साक्षी मलिक अपनी श्रेष्ठता का दावा करने के लिए बेताब दिखीं और वह डिफेंसिव मोड में चल रही सोनम पर लगातार आक्रामक रूख अपना रही थी।

ऐसे ही एक प्रयास में सोनम मलिक ने अपने सीनियर प्रो की चाल को पलटते हुए मैच के पहले टेकडाउन को 5-4 की बढ़त के साथ तोड़ दिया।

ब्रेक के बाद भी साक्षी मलिक ऑल आउट अटैकिंग अप्रोच के साथ खेल रही थी लेकिन इस बार सोनम भी पूरी तरह तैयार थी और वह अपने विरोधी को कोई मूव लगाने का कोई मौका नहीं दे रही थी।

समय बीतने के साथ ही ओलंपिक मेडलिस्ट दबाव में आती रही और उन्होंने अपने पैरों का गलत इस्तेमाल किया, जिसकी वजह से सोनम मलिक को एक और टेकडाउन का मौका मिल गया। जिसकी वजह से वह तीसरी बार साक्षी मलिक को हराने में कामयाब रही।

सोनम मलिक मार्च में सीजन-ओपनिंग मैटेलो पेलिकॉन रैंकिंग सीरीज़ (Matteo Pellicone Ranking Series) में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए पूरी तरह से निश्चित हैं और एक महीने बाद एशियाई ओलंपिक क्वालिफायर (Asian Olympic qualifiers) के लिए टीम बनाने के लिए भी  फेवरेट हैं।