एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में सुनील कुमार ने जीता स्वर्ण पदक

27 सालों में पहली बार किसी भारतीय पहलवान ने ग्रेको-रोमन कैटेगिरी में एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है

लेखक सैयद हुसैन ·

ग्रेको-रोमन भारतीय पहलवान सुनील कुमार (Sunil Kumar) ने मंगलवार से शुरू हुए एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप 2020 (Asian Wrestling Championships 2020) के पहले ही दिन भारत का 27 सालों से चला आ रहा सूखा ख़त्म कर दिया। उन्होंने 87 किग्रा वर्ग में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

नई दिल्ली के केडी जाधव स्टेडियम में खेली जा रही इस प्रतियोगिता का लुत्फ़ उठाने कम लेकिन उत्साहित भीड़ मौजूद थी। जहां भारतीय गैपलर ने पूरी तरह दंगल में अपना दबदबा क़ायम रखते हुए किर्गिस्तान के अज़ात सालिदिनोव (Azat Salidinov) को शिकस्त दी। ग्रेको-रोमन में एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप स्वर्ण जीतने वाले वह सिर्फ़ तीसरे और 1993 के बाद पहले भारतीय पहलवान बन गए, 27 साल पहले पप्पू यादव (Pappu Yadav)ने एशिया मीट में इस कैटेगिरी में स्वर्ण पदक हासिल किया था।

सुनील कुमार की आक्रामकता ही उनका मज़बूत पहलू

सुनील कुमार ने ख़िताबी मुक़ाबले से पहले शुरुआती दौर में कुछ आसान और एकतरफ़ा जीत अपने नाम की थी, उन्होंने शुरुआत काफ़ी आक्रामक की थी।

भारतीय पहलवान सुनील कुमार एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप 2020 में जीत के बाद जश्न मनाते हुए। तस्वीर साभार: UWW मीडिया

ख़िताबी मुक़ाबले में भी सुनील ने सालिदिनोव पर आक्रमण जारी रखा था, जहां पैसिविटी के लिए किर्गिस्तानी पहलवान को रेफ़री ने जुर्माना लगाया था। इसका फ़ायदा उठाते हुए सुनील ने सालिदिनोव को कुछ ही पल बद अपने कंधे से उठाकर नीचे फेंकते हुए दो अंक और बटोर लिए थे।

हालांकि दूसरे राउंड में किर्गिस्तानी पहलवान ने कुछ अच्छे दांव के साथ सुनील का सामना किया, लेकिन भारतीय पहलवान के आक्रामक रवैये में कोई बदलाव नहीं आया था। कुछ देर तक तो सालिदिनोव ने सुनील को परेशान ज़रूर किया लेकिन एक बार फिर सुनील ने किर्गिस्तानी पहलाव को आउट ऑफ़ बाउंड करते हुए दो और अंक अपने नाम किए और यहां से मैच और स्वर्ण पदक सुनील ने अपनी मुट्ठी में कर लिया था।

अर्जुन हालाकुरी ने भी भारत की झोली में दिलाए पदक

एक तरफ़ जहां सुनील कुमार लाजवाब रंग में थे तो वहीं अर्जुन हालाकुरी  (Arjun Halakurki)भी 55 किग्रा ग्रेको-रोमन कैटेगिरी के सेमीफ़ाइनल तक पहुंच गए थे। हालांकि उन्हें ईरान के पऊआ मोहम्मद (Pouya Mohammad) के हाथों सेमीफ़ाइनल में हार का सामना करना पड़ा।

लेकिन इसके बाद कांस्य पदक के मुक़ाबले में भारतीय पहलवान ने निराश नहीं किया और दक्षिण कोरिया के दोंगयोक वॉन (Donghyeok Won) को 7-4 से हराते हुए भारत की झोली में एक और पदक दिला दिया था।

साजन ने किया निराश

दिन की शुरुआत में पदक के एक बड़े दावेदार भारत के साजन (Sajan)ने निराश किया, उन्हें राउंड ऑफ़ 16 में हार का सामना करना पड़ा।

2019 के U-23 एशियन चैंपियन रेनट लियाज़ुलु (Renat Iliazuulu)के सामने भारतीय पहलवान को 77 किग्रो ग्रेको-रोमन में 6-9 से हार मिली।

तो वहीं सचिन राणा (Sachin Rana) भी पदक अपने नाम नहीं कर पाए और उनका सफ़र 63 किग्रा ग्रेको-रोमन के क्वार्टर फ़ाइनल में थम गया।

इससे पहले इस भारतीय पहलवान ने अपना पहला मुक़ाबला धमाकेदार अंदाज़ में जीता था, जहां उन्होंने किर्गिस्तान के एलमुरत तासमुरादोव (Elmurat Tasmuradov)को 8-0 से पटखनी दी। लेकिन इसके बाद वह कज़ाख़स्तान के यर्नर फ़िदाख़मेतोव (Yernur Fidakhmetov) के हाथों 3-6 से हार गए।

कहां देख सकते हैं एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप ?

सभी इवेंट के फ़ाइनल मुक़ाबलों का सीधा प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स फ़र्स्ट पर देखा जा सकता है, इसके अलावा प्रतियोगिता का प्रसारण हॉटस्टार और www.wrestlingtv.in पर भी उपलब्ध है।