विनेश फ़ोगाट का COVID-19 टेस्ट आया पॉज़िटिव, राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से भी रहेंगी दूर

दिग्गज पहलवान विनेश फ़ोगाट हरियाणा में अपने घर पर ख़ुद को सेल्फ़-आइसोलेट किया है, जिन्हें शनिवार को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से नवाज़ा जाना था

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

रियो 2016 की ओलंपियन विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) ने शुक्रवार को खुलासा किया कि उन्होंने नोवल कोरोना वायरस का टेस्ट कराया था, जिसमें उनका रिजल्ट पॉज़िटिव आया है।

26 वर्षीय फोगाट ने पीटीआई को बताया, "मेरा COVID -19 का रिजल्ट पॉज़िटिव आया है। सोनीपत में जब पुरस्कार समारोह के लिए ड्रेस रिहर्सल किया जा रहा था, तब मेरा सैंपल लिया गया था।"

उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा, "भगवान की कृपा से मैं जल्द ही ठीक हो जाउंगी।"

विनेश फ़ोगाट भारतीय बैडमिंटन डबल्स स्टार सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी (Satwiksairaj Rankireddy) के बाद वायरस की चपेट में आने वाली दूसरी जानी मानी हस्ती हैं।

भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने पहले खुलासा किया था कि तीन एथलीटों ने अपना नाम बताए बिना COVID -19 के लिए टेस्ट कराया था, जिसमें उनका रिजल्ट पॉज़िटिव आया है।

कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता विनेश फोगाट, अब हरियाणा के सोनीपत में घर पर खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रखेंगी, जहां वो अपने कोच ओम प्रकाश के साथ ट्रेनिंग कर रही थीं।

भारतीय पहलवान को देश के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

विनेश फ़ोगाट शनिवार को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर एक अनूठे वर्चुअल समारोह में भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से पुरस्कार प्राप्त करने वाली थीं। हालांकि, वो अब इस आयोजन को मिस करेंगी।

स्वास्थ्य चिंताओं के मद्देनज़र फोगाट ने कुश्ती के राष्ट्रीय शिविर से भी जाने से मना कर दिया था, जो कि लखनऊ में होने वाला था।

ओलंपिक में पदक की बड़ी उम्मीद

विनेश फोगाट ने रियो 2016 में समर ओलंपिक की शुरुआत की थी, लेकिन सुन यानन (Sun Yanan) के खिलाफ क्वार्टर फाइनल बाउट में दाहिने घुटने के मुड़ने की वजह से उन्हें मैच को छोड़ना पड़ा था।

हालांकि भारतीय पहलवान उस निराशा से लौट आई और बाद में 2019 में अपना पहला विश्व चैम्पियनशिप पदक जीता, कजाकिस्तान में खेले गए नूर-सुल्तान में कांस्य पदक जीता और टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा स्थान बुक किया।

टोक्यो ओलंपिक के लिए विनेश फोगाट को फिर से पदक की फेवरेट एथलीटों की दौड़ में देखा जा रहा है। जिसमें रियो 2016 की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक (Sakshi Malik) भी शामिल हैं।

भारतीय पहलवान ने साल की शुरुआत अच्छी तरह से की थी, रोम, इटली में सीजन-ओपनिंग मैट्टे पेल्कोन मेमोरियल में स्वर्ण पदक जीता और इसके बाद नई दिल्ली में घर पर एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य जीता