एशियन ओलंपिक रेसलिंग क्वालिफायर्स एक बार फिर हुआ स्थगित

रवि कुमार दहिया, बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया और विनेश फोगाट सहित चार भारतीय पहलवान पहले ही टोक्यो 2020 के लिए कोटा स्थान हासिल कर चुके हैं।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

भारतीय पहलवान जो अभी तक 2020 ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर सके हैं, उन्हें अब मार्च के बाद तक  अपनी जगह पक्की करने के लिए एशियन ओलंपिक रेसलिंग क्वालिफायर्स (Asian Olympic wrestling qualifiers) इवेंट का इंतज़ार करना होगा। इन टूर्नामेंट को चीन में उत्पन्न हुए कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते किर्गिस्तान के बिश्केक में स्थानांतरित कर दिया गया। इस इवेंट का आयोजन 27 से 29 मार्च के बीच किया जाना सुनिश्चित हुआ, लेकिन अब एक बार फिर से इसे टाल दिया गया है। अब संभवतः रेसलिंग क्वालिफायर्स का आयोजन मार्च के बाद ही हो सकेगा।

भारतीय पहलवान और अधिक कोटा हासिल करने की कर रहे उम्मीद

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (Wrestling Federation of Indi) ने क्वालिफायर के लिए 14 सदस्यीय दल की घोषण की है। 18 ओलंपिक कुश्ती श्रेणियों में से चार में पहले ही कोटा स्थान हासिल किए जा चुके हैं। रवि दहिया (Ravi Dahiya) (57 किग्रा), बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) (65 किग्रा), दीपक पूनिया (Deepak Punia) (86 किग्रा) और विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) (53 किग्रा) वह चार भारतीय पहलवान हैं, जो 2020 ओलंपिक के लिए कोटा हासिल कर चुके हैं।

नई दिल्ली में एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक विजेता सोनम मलिक (Sonam Malik) और जितेन्द्र कुमार (Jitender Kumar) के साथ सुनील कुमार(Sunil Kumar) और दिव्या काकरन (Divya Kakran) भी मजबूत भारतीय दावेदार हैं, जो टोक्यो 2020 के लिए टिकट हासिल करने की उम्मीद कर रहे हैं। हालांकि, कोरोनोवायरस की वजह से 2020 ओलंपिक के लिए कुश्ती क्वालिफायर के आयोजन में दूसरी बार समस्या खड़ी हुई है। ऐसे में अब इस इवेंट के आयोजन स्थल और तारीख पर अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है।

किर्गिस्तान सरकार द्वारा अगली सूचना तक देश में सभी खेल आयोजनों को स्थगित करने के निर्देश के बाद कुश्ती क्वालीफायर को दूसरी बार भी टाल दिया गया है। किर्गिस्तान सरकार ने एक ऑपरेशनल मीटिंग में यह निर्णय लिया और स्टेट एजेंसी फॉर यूथ, फिजिकल कल्चर एंड स्पोर्ट्स ऑफ किर्गिस्तान को इसका पालन के निर्देश दिए।

भारतीय कुश्ती में दिव्या काकरान के उज्ज्वल भविष्य की उम्मीद। फोटो: UWW

उन्होंने कहा, "राज्य एजेंसी कनाट अमानकुलोव के निदेशक की अगुवाई वाली एक ऑपरेशनल मीटिंग में किर्गिस्तान में कई प्रमुख अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों को तय तारीखों से टालकर बाद में आयोजित करने का निर्णय लिया गया।” भारत का मजबूत दल टोक्यो 2020 में अपनी जगह पक्की करने के लिए तैयार है, सभी पहलवान अब तक हासिल किए जा चुके 4 कोटा से अधिक पर अपना दावा करने की कोशिश करेंगे।

क्वालिफायर्स में जहां बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट नेतृत्व करते हुए नज़र आएंगे तो वहीं दीपक पूनिया और दिव्या काकरान जैसे युवा भी 2020 ओलंपिक के लिए कोटा हासिल करने की कोशिश करेंगे। ये पहलवान भारत का भविष्य हैं, जो अपने उम्दा प्रदर्शन के लिए उत्सुक होंगे।

भारतीय कुश्ती दल:

फ्रीस्टाइल: जितेन्द्र (74 किग्रा), सत्यव्रत कादियान (97 किग्रा), सुमित (125 किग्रा)

ग्रीको-रोमन: ज्ञानेंद्र (60 किग्रा), आशु (67 किग्रा), साजन (77 किग्रा), सुनील कुमार (87 किग्रा), हरदीप (97 किग्रा), नवीन (130 किग्रा)

महिला कुश्ती: निर्मला देवी (50 किग्रा), अंशु (57 किग्रा), सोनम मलिक (62 किग्रा), दिव्या काकरान (68 किग्रा), किरण (76 किग्रा)